BREAKING NEWS

झारखंड : भाजपा ने 15 उम्मीदवारों की तीसरी सूची जारी की ◾JNU में विवेकानंद की प्रतिमा के चबूतरे पर आपत्तिजनक संदेश◾राफेल की कीमत, ऑफसेट के भागीदारों के मुद्दों पर सरकार के निर्णय को न्यायालय ने सही करार दिया : सीतारमण ◾झारखंड चुनाव के पहले चरण के लिए कांग्रेस के 40 स्टार प्रचारकों की सूची जारी ◾आतंकवाद के कारण विश्व अर्थव्यवस्था को 1,000 अरब डॉलर का नुकसान : PM मोदी◾महाराष्ट्र गतिरोध : कांग्रेस, राकांपा और शिवसेना में बातचीत, सोनिया से मिल सकते हैं पवार ◾मोदी..शी की ब्राजील में बैठक के बाद भारत, चीन अगले दौर की सीमा वार्ता करने पर हुए सहमत ◾कुलभूषण जाधव मामले में पाकिस्तान ने भारत से किसी भी समझौते से किया इनकार ◾राफेल के फैसले से JPC की जांच का रास्ता खुला : राहुल गांधी ◾राफेल पर उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद देवेंद्र फड़णवीस बोले- राहुल गांधी को अब माफी मांगनी चाहिए ◾नोबेल विजेता कैलाश सत्यार्थी ने कहा- शुद्ध हवा सुनिश्चित करने के लिए प्रधानमंत्री को ठोस कदम उठाने चाहिए◾TOP 20 NEWS 14 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾RSS-भाजपा को सबरीमाला पर न्यायालय का फैसला मान लेना चाहिए : दिग्विजय सिंह ◾महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाए जाने को लेकर CM ममता ने राज्यपाल कोश्यारी पर साधा निशाना ◾प्रधानमंत्री की छवि बिगाड़ने के लिए कांग्रेस ने लगाए थे राफेल सौदे पर भ्रष्टाचार के आरोप : राजनाथ◾राफेल मामले में SC के फैसले को रविशंकर ने बताया सत्य की जीत, राहुल गांधी से की माफी की मांग ◾हरियाणा सरकार के मंत्रीमंडल का हुआ विस्तार, 6 कैबिनेट और 4 राज्यमंत्रियों ने ली शपथ◾अमेठी : अभद्रता का वीडियो वायरल होने के बाद DM पद से हटाए गए प्रशांत शर्मा◾कर्नाटक के अयोग्य घोषित विधायक बीजेपी में हुए शामिल, CM येदियुरप्पा ने किया स्वागत◾शिवसेना के सांसद संजय राउत ने BJP से कहा- हमें डराने या धमकाने की कोशिश न करें ◾

बिहार

पीएमसीएच में जूनियर डॉक्टरों की हड़ताल से स्वास्थ्य सेवाएं बाधित

बिहार के प्रतिष्ठित पटना मेडिकल कॉलेज अस्पताल (पीएमसीएच) में जूनियर डॉक्टरों की जारी हड़ताल के कारण स्वास्थ्य सेवाएं बाधित हैं। 

परास्नातक परीक्षा में फेल करने के विरोध में पीएमसीएच के जूनियर डॉक्टर हड़ताल पर चले गये। उनका आरोप है कि अस्पताल में मरीजों के हित का मुद्दा उठाने के कारण उन्हें दंडित किया गया है। हड़ताल के कारण पीएमसीएच के ओपीडी की सेवाएं पूरी तरह से ठप हैं। मरीजों को इलाज के लिए निजी अस्पतालों में जाना पड़ रहा है। 

वहीं, पीएमसीएच के शिक्षकों का कहना है कि जो विद्यार्थी गंभीरता से अध्ययन करेंगे वह उत्तीर्ण होंगे और जो पढ़ई पर ध्यान नहीं देंगे तो वह अवश्य फेल होंगे। 

इस बीच पीएमसीएच के अधीक्षक डॉ। राजीव रंजन प्रसाद ने बताया कि ओपीडी में प्रतिदिन लगभग 3000 मरीज आते हैं लेकिन हड़ताल के कारण यह संख्या घटकर 1280 रह गई है। उन्होंने बताया कि हड़ताल के कारण उत्पन्न स्थिति को संभालने के लिए बड़ संख्या में वरिष्ठ चिकित्सकों को ड्यूटी पर लगाये जाने के साथ ही उनके काम घंटे भी बढ़ये गये हैं। 

श्री प्रसाद ने बताया कि मरीजों के इलाज के लिए गैर चिकित्सीय विभाग के लोगों को ड्यूटी पर लगाया गया है। उन्होंने कहा कि मरीजों को किसी भी तरह की परेशानी से बचाने के लिए अस्पताल प्रबंधन सभी आवश्यक कदम उठा रहा है।