BREAKING NEWS

दिल्ली बॉर्डर सील मामले में SC ने तीनों राज्यों को NCR में आवागमन के लिए कॉमन नीति बनाने के दिए निर्देश◾वर्चुअल समिट में PM मोदी ने ऑस्ट्रेलिया के साथ भारत के संबंधों को मजबूत करने के लिए जाहिर की प्रतिबद्धता ◾राहुल के साथ बातचीत में राजीव बजाज ने कहा- लॉकडाउन से देश की अर्थव्यवस्था तबाह हो गई◾केरल में हथिनी की हत्या पर केंद्र गंभीर, जावड़ेकर बोले-दोषी को दी जाएगी कड़ी सजा◾कांग्रेस को मिल सकता है झटका,पंजाब विधानसभा चुनाव से पहले AAP का दामन थाम सकते हैं सिद्धू ◾World Corona : दुनियाभर में करीब 4 लाख लोगों ने गंवाई जान, संक्रमितों का आंकड़ा 65 लाख के करीब ◾देश में कोरोना से संक्रमितों की संख्या 2 लाख 17 हजार के करीब, अब तक 6000 से अधिक लोगों की मौत◾प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और ऑस्ट्रेलिया के पीएम स्कॉट मॉरिसन आज वर्चुअल शिखर सम्मेलन में लेंगे हिस्सा◾US में वैश्विक महामारी का कहर जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 18 लाख के पार ◾लद्दाख सीमा पर कम हुआ तनाव, गलवान और चुसूल में दोनों देश की सेनाएं पीछे हटीं◾नोएडा में भूकंप के झटके हुए महसूस , रिक्टर स्केल पर तीव्रता 3.2 मापी गई◾दिल्ली में कोरोना ने तोड़े सारे रिकॉर्ड, बीते 24 घंटों में 1513 नए मामले आये सामने ◾कोविड-19: अब तक 40 लाख से अधिक नमूनों की जांच की गई , 48.31 फीसदी मरीज स्वस्थ ◾महाराष्ट्र में 24 घंटे में कोरोना से 122 लोगों की मौत, संक्रमितों की संख्या 74,860 हुई◾गृह मंत्रालय ने विदेशी कारोबारियों, स्वास्थ्यसेवा पेशेवरों और इंजीनियरों को भारत आने की अनुमति दी ◾केंद्रीय मंत्रिमंडल के फैसलों पर पीएम मोदी बोले - किसानों की आय में होगी वृद्धि, बंदिशें हुई खत्म◾गुजरात में फैक्टरी की भट्ठी में भीषण विस्फोट, पांच की मौत, 40 कर्मी झुलसे ◾मुंबई में चक्रवाती तूफान निसर्ग का कहर खत्म, कम हुई हवाओं की रफ्तार◾महाराष्ट्र के रायगढ़ में निसर्ग तूफान ने मचाई तबाही, कई जगह गिरे पेड़ और बिजली के खंभे ◾मोदी कैबिनेट ने किसानों के हित में लिया बड़ा फैसला, वन नेशन-वन मार्केट पर की चर्चा◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

दृष्टिपुंज के दुसरे वर्षगांठ पर कैटारेक्ट सर्जरी का लाइव सर्जिकल डेमोंशट्रेशन हुआ

पटना : स्टेट आफ द आर्ट सुपर स्पेशयलियटी आई हास्पीटल दृष्टिपुंज नेत्रालय के दूसरे वर्षगांठ पर  चिकित्सकों  के समक्ष फेमटोलेजर अस्सिटेंड कैटारेक्ट सर्जरी का लाइव सर्जिकल डेमोंशट्रेशन हुआ। इस अवसर पर निदेशक डा. सत्यप्रकाश तिवारी ने अति सूक्ष्म 27 गेज का  डेमोंशट्रेशन कर कहा कि  रोबोटिक या फेमटोसेकंड कैटरेक्ट सर्जरी मोतियाबिंद की सरल व  प्रभावी सर्जरी के लिए विकसित की गई है, जिसमें लेजर बीम का इस्तेमाल किया जाता है और इसके परिणाम बहुत अच्छे मिलते हैं। 

यह सर्जरी 100 फीसदी ब्लेडफ्री है। इसमें टांके नहीं लगाए जाते और यह लगभग दर्द रहित सर्जरी है। इस तकनीक से ब्लेड रहित कैटरेक्ट  व लेसिक सर्जरी दोनों संभव है।  ब्लेडलेस होने के कारण जख्म और इंफेक्शन के खतरे भी बेहद कम हो गए हैं। इस उपचार के आने से मोतियाबिंद के इलाज में क्रांतिकारी बदलाव आया है। इससे पहले डिस्कवरी 2019 का उद्घाटन करते हुए भवन निर्माण मंत्री डा. अशोक चौधरी ने कहा कि यहां उपलब्ध सुविधाएं प्रदेश के मरीजों के लिए काफी किफायती एवं उपयेागी साबित हो रही है, जिससे अब आंखों के इलाज के लिए प्रदेश के लोगों को बाहर जाने की मजबूरी नहीं रहेगी।  

निदेशक डा. निम्मी रानी ने बताया कि दृष्टिपुंज नेत्रालय में हाल में ही इंस्टाल की गई रोबोटिक प्रेसिजन फेमटोसेकंड केटारेक्ट सर्जरी मशीन के परिणाम बेहद अच्छे आ रहे है जिसका लाभ प्रदेश के मरीजों को पी्रमियम लेंस सहित इलाज में काफी सहूलियत मिल रही है।   उन्होंने कहा कि मोतियाबिंद के इलाज में यह  आधुनिकतम चिकित्सा है फेमटोसेकंड तकनीक नवीनतम व महत्वपूर्ण खोज है। 

इसके माध्यम से बिना सुई चुभाए या ब्लेड का इस्तेमाल किए बगैर ही सफलतापूर्वक मोतियाबिंद की सर्जरी की जा रही है। इस तकनीक से किसी भी तरह की गलती की संभावना बेहद कम हो गई है। यह मौजूदा सर्जिकल विकल्पों के मुकाबले उत्तम   है। निदेशक डा. रणधीर झा  ने कहा कि इस तकनीक में बहुत कम समय लगता है।  सर्जरी करते समय यह ऑखों का थ्री डायमेंशनल व्यू प्रदान करता है। सर्जरी के दौरान मरीज को परेशानी नहीं होती। यह तकनीक सर्जन को आसानी से मोतियाबिंद हटाने और अच्छे टिष्यू को बचाने में सहयोग करती है। 

डिस्कवरी 2019 में भाग लेने वाले प्रमुख चिकित्सकों में ख्याति प्राप्त नेत्र चिकित्सक   डा. बी.पी. कश्यप, डा. राजेश सिन्हा, डा. जी. भी. रामा कुमार, डा. अंकुर सिन्हा, एवं डा. भी. पी. एस. तोमर पैट्रन डॉ सुनील सिंह , डा. नागेन्द्र प्रसाद, डा. नवनीत कुमार, डा. नवीन कुमार झा, डा. सत्यजीत सिन्हा, डा. रंजना कुमार,  डा. सोनी सिन्हा एवं डा. पारिजात सौरभ उपस्थित थे।