BREAKING NEWS

PM मोदी प्रयागराज में 26,526 दिव्यांगों, बुजुर्गों को बांटेंगे उपकरण◾ओडिशा : 28 फरवरी को अमित शाह करेंगे CAA के समर्थन में रैली को संबोधित◾SP आजम खान के बेटे अब्दुल्ला की विधानसभा सदस्यता खत्म◾AAP पार्टी ने पार्षद ताहिर हुसैन को किया सस्पेंड, दिल्ली हिंसा में मृतक संख्या 38 पहुंची◾दिल्ली हिंसा : अंकित शर्मा की पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में कई सनसनीखेज खुलासे, चाकू मारकर की गई थी हत्या◾दिल्ली हिंसा सोनिया समेत विपक्षी नेताओं के भड़काने का नतीजा : BJP ◾रॉ के पूर्व चीफ एएस दुलत ने फारूक अब्दुल्ला से की मुलाकात◾दिल्ली हिंसा : AAP पार्षद ताहिर हुसैन के घर को किया गया सील, SIT करेगी हिंसा की जांच◾दिल्ली HC में अरविंद केजरीवाल, सिसोदिया के निर्वाचन को दी गई चुनौती◾दिल्ली हिंसा की निष्पक्ष जांच हो, दोषियों को मिले कड़ी से कड़ी सजा -पासवान◾CAA पर पीछे हटने का सवाल नहीं : रविशंकर प्रसाद◾बंगाल नगर निकाय चुनाव 2020 : राज्य निर्वाचन आयुक्त मिले पश्चिम बंगाल के गवर्नर से◾दिल्ली हिंसा : आप पार्षद ताहिर हुसैन के घर से मिले पेट्रोल बम और एसिड, हिंसा भड़काने की थी पूरी तैयारी ◾TOP 20 NEWS 27 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾T20 महिला विश्व कप : भारत ने लगाई जीत की हैट्रिक, शान से पहुंची सेमीफाइनल में ◾पार्षद ताहिर हुसैन पर लगे आरोपों पर बोले केजरीवाल : आप का कोई कार्यकर्ता दोषी है तो दुगनी सजा दो ◾दिल्ली हिंसा में मारे गए लोगों के परिवार को 10-10 लाख का मुआवजा देगी केजरीवाल सरकार◾दिल्ली में हुई हिंसा का राजनीतिकरण कर रही है कांग्रेस और आम आदमी पार्टी : प्रकाश जावड़ेकर ◾दिल्ली हिंसा : केंद्र ने कोर्ट से कहा-सामान्य स्थिति होने तक न्यायिक हस्तक्षेप की जरूरत नहीं ◾ताहिर हुसैन को ना जनता माफ करेगी, ना कानून और ना भगवान : गौतम गंभीर ◾

मांझी ने जातिवार जनगणना के आंकड़े सार्वजनिक करने की मांग की

पटना : बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री एवं हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जीतन राम मांझी ने जातिवार जनगणना की रिपोर्ट सार्वजनिक करने और सभी श्रेणियों का कोटा आबादी में उनके अनुपात के अनुरूप बढ़ाने की शनिवार को मांग की। मांझी ने आरक्षण की सीमा बढ़ा कर 90 - 95 प्रतिशत करने की भी मांग की। उन्होंने पूछा कि जातिवार जनगणना के आंकड़े सार्वजनिक करने में क्या समस्या है।

उसे सार्वजनिक किया जाए। सामान्य श्रेणी के गरीबों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण को संसद द्वारा मंजूरी देने से जुड़े एक सवाल के जवाब में मांझी ने कहा, ‘‘मैं कोटा (सामान्य श्रेणी को 10 प्रतिशत) देने के फैसले के खिलाफ नहीं हूं। मेरा कहना है कि समुदायों (ओबीसी, ईबीसी, एससी और एसटी) को आरक्षण में उनका हिस्सा उनके अधिकार के तौर पर दिया जाए।’’

उन्होंने कहा कि आरक्षण को 50 प्रतिशत से आगे नहीं बढ़ाए जाने की सीमा के बहाने उन्हें (इन समुदायों को) उनके अधिकारों से वंचित कर दिया गया है...आबादी में 54 फीसदी की हिस्सेदारी रखने वाले ओबीसी (अन्य पिछड़ा वर्ग) को 27 प्रतिशत आरक्षण दिया जा रहा है, जबकि आबादी में अनुसूचित जाति (एससी) की 30 प्रतिशत हिस्सेदारी रहने के बावजूद उसे 15 प्रतिशत आरक्षण मिल रहा है।

मांझी ने कहा कि जब आप (केंद्र) ने आरक्षण की सीमा 50 प्रतिशत से बढा कर 60 प्रतिशत कर ही दिया है, फिर आप (केंद्र) को इसे बढ़ा कर 90 - 95 प्रतिशत करना चाहिए ताकि हर समुदाय को उसकी आबादी के अनुरूप आरक्षण का उचित लाभ मिल सके। आगामी लोकसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश में सपा - बसपा गठबंधन में कांग्रेस को शामिल नहीं किए जाने के बारे में टिप्पणी करने को कहे जाने पर उन्होंने कहा कि यदि वे (सपा- बसपा) उप्र में कांग्रेस की अनदेखी करते हैं तो उन्हें नुकसान का सामना करना पड़ेगा क्योंकि भाजपा इसका फायदा उठा सकती है।