BREAKING NEWS

निर्यात को लेकर अधिकारियों, मिशन प्रमुखों को संबोधित कर सकते हैं PM मोदी◾IND vs ENG (1st Test Match) : तेज गेंदबाजी चौकड़ी ने इंग्लैंड को किया 183 पर ढेर, भारत की सतर्क शुरुआत◾भारत के पहले स्वदेश निर्मित विमानवाहक पोत विक्रांत का समुद्र में परीक्षण शुरू◾15 अगस्त पर तिरंगा रैली निकालेंगे प्रदर्शनकारी किसान◾दक्षिण चीन सागर पर आचार संहिता संरा संधि के अनुरूप होनी चाहिए - जयशंकर◾दिल्ली सरकार दलित बच्ची की मौत की मजिस्ट्रेट जांच का आदेश देगी, राहुल के तस्वीर ट्वीट करने से छिड़ा विवाद◾श्रद्धालुओं के लिए 16 अगस्त से खुलेगा पुरी का जगन्नाथ मंदिर, जान लें क्या है निर्देश !◾ईरान के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति के शपथग्रहण में शामिल होंगे जयशंकर : विदेश मंत्रालय◾MP में बारिश का कहर, बाढ़ की चपेट में 1250 से अधिक गांव, 6,000 लोगों को बचाया गया◾बिहार सरकार ने अनलॉक 5 में स्कूलों,दुकाने और सिनेमा हॉल खोलने के आदेश दिए◾CM ममता बनर्जी ने बाढ़ की स्थिति पर PM मोदी को लिखा पत्र, डीवीसी ठहराया दोषी◾एनसीपीसीआर ने ट्विटर इंडिया को जारी किया नोटिस, राहुल गांधी के हैंडल के खिलाफ कार्रवाई की मांग◾जम्मू-कश्मीर में सेना ने तोड़ी आतंकवाद की कमर, 400 मुठभेड़ में मार गिराए 630 आतंकी: सरकार ◾प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन से उड़ी भाजपा की नींद, खुलकर कर रही सरकारी मशीनरी का दुरुपयोग : मायावती◾केंद्र का दावा- कोविड-19 से हुई मौतों को दर्ज करने में चूकने की संभावना नहीं, भारत में मजबूत व्यवस्था ◾उत्तर प्रदेश में अकेले विधानसभा चुनाव लड़ेगी बसपा : सतीश मिश्रा◾ओलंपिक: सेमीफाइनल में भारतीय महिला हॉकी टीम की हार से टूटा गोल्ड का सपना, ब्रॉन्ज के लिए लड़ेंगी◾'चाट-पापड़ी नहीं पसंद तो फिश करी ले सकते हैं', TMC सांसद ब्रायन पर केंद्रीय मंत्री नकवी का तंज◾दिल्ली दुष्कर्म : बच्ची के परिजनों की तस्वीर शेयर करने पर घिरे राहुल, BJP बोली-NCPCR जारी करे नोटिस◾रेसलर रवि दहिया ने रचा इतिहास, फाइनल में बनाई जगह, ओलंपिक में चौथा मेडल पक्का◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

लालू परिवार के निशाने पर आए नीतीश, राबड़ी बोलीं- सत्ता आनी-जानी है लेकिन इतिहास तुम्हें कभी क्षमा नहीं करेगा

बिहार विधानसभा में मंगलवार को येन-केन-प्रकारेण विशेष सशस्त्र पुलिस विधेयक 2021 भले ही पास करा लिया गया हो, लेकिन सदन में अभूतपूर्व स्थिति को लेकर अब राजनीति गर्म हो गई है। विपक्ष लगातार सत्ता पक्ष पर निशाना साध रहा है, जबकि सत्ता पक्ष इन सब के लिए विपक्ष को दोषी बता रहा है।

बिहार विधानसभा के बजट सत्र में मंगलवार को सदन में विपक्ष की अनुपस्थिति में बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस विधेयक 2021 भले ही पास करा लिया गया, लेकिन जिस तरह विधानसभा में लात-घूंसे चले उसकी सभी निंदा कर रहे हैं। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने बुधवार को ट्वीट कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का छोटा रिचार्ज बताया। ट्वीट में कहा गया, "संघ की गोद में खेलने वाला नीतीश संघ का प्यादा और छोटा रिचार्ज है।"

लालू प्रसाद के ट्विटर हैंडल से एक अन्य ट्वीट में लिखा गया, "बेशर्म कुकर्मी आदमी, आंख और कान खोल देख! महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ विपक्ष सवाल नहीं पूछेगा तो क्या तुम पूछोगे?" इधर, पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी आरोप लगाया है कि मंगलवार को विधानसभा में महिला विधायकों का चीरहरण किया गया।

राबडी देवी ने अपने ट्वीट कर कहा, "विधानसभा में महिला विधायकों का चीरहरण होता रहा। सरेआम उनकी साड़ी को खोला गया, ब्लाउज के अंदर हाथ डालकर खींचा गया, अवर्णीय तरीके से बदसलूकी की गयी और नंगई की पराकाष्ठा पार कर चुके नीतीश कुमार 'धृतराष्ट्र' बन कर देखते रहे। सत्ता आनी-जानी है लेकिन इतिहास तुम्हें कभी क्षमा नहीं करेगा।"

इधर, विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने भी बुधवार को नीतीश कुमार पर निशाना साधा। तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा, "राजद विधायक को लोकतंत्र के मंदिर में सादे कपड़ों में मौजूद गुंडा सरकार के नरभक्षी शासकों के गुंडों ने इतना पीटा कि उन्हें स्ट्रेचर पर एम्बुलेंस में लेकर जाना पड़ा। वो कह रहे हैं कि जालिम नीतीश जी हत्या करवा देंगे। वैसे भी सीएम को हत्या करने-कराने का पुराना अनुभव है।"

तेजस्वी यहीं नहीं रूके। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, "तेरी तानाशाही और तेरे अत्याचार का हिसाब करेगा। आंदोलन में बहा लहू का एक एक कतरा इंसाफ करेगा। युवाओं की जवानी बर्बाद करने वाले, वक्त तेरा भी गणित ठीक करेगा। बेरोजगारों पर लाठियां चलाने वाले निर्दयी, समय युवाओं का भी आएगा।"  इधर, सत्ता पक्ष विधानसभा में हुई घटना के लिए विपक्ष को जिम्मेदार बता रहा है।

पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के प्रमुख जीतन राम मांझी ने कहा कि कुछ आतंक परस्त लोग नहीं चाहते कि बिहार सुरक्षित रहे इसलिए सशस्त्र पुलिस विधेयक के विरोध की आड़ में सदन के अंदर स्पीकर को बंधक बना लिया गया, प्रदर्शन के नाम पर जनता को परेशान किया गया। उन्होंने कहा कि मंगलवार की घटना एक सोची समझी साजिश का परिणाम है जिसकी उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। बता दें कि मंगलवार को बिहार विधानसभा में अभूतपूर्व स्थिति उत्पन्न हो गई थी, जब विपक्ष के विधायकों को सुरक्षाकर्मियों द्वारा बाहर निकाल दिया गया था।

बिहार विधानसभा में हुए हंगामे पर बोले राहुल-'RSS-BJP मय' हुए नीतीश