BREAKING NEWS

आज का राशिफल (13 मई 2021)◾जयशंकर ने कुवैत, सऊदी अरब के विदेश मंत्रियों से बात की◾भारत ने इजराइल-गाजा हिंसा में तत्काल कमी लाने की आवश्यकता पर बल दिया◾CM हेमंत ने 27 मई तक बढ़ाया झारखंड में लॉकडाउन, अगले आदेश तक राज्य में बस सेवा बंद◾अगले 3-4 दिनों में भारत के कई हिस्सों में बारिश और तूफान की संभावना◾विदेश से वैक्सीन मंगवाएगी राजस्थान सरकार, ग्लोबल टेंडर पर CM अशोक गहलोत ने लगाई मुहर◾धर्मगुरूओं की अपील , ईद में करें कोविड प्रोटोकाल का पालन◾इजराइल, हमास के बीच तेज हुई लड़ाई ने 2014 के गाजा युद्ध की दिलाई याद, सर्वोच्च कमांडर मारा गया ◾प्रधानमंत्री मोदी ने हाई लेवल बैठक में ऑक्सीजन, दवाओं की उपलब्धता, आपूर्ति की समीक्षा की◾महाराष्ट्र में सामने आये कोरोना के 46 हजार से अधिक नए मामले, 816 मरीजों ने तोडा दम ◾अगस्त तक हर महीने सीरम इंस्टीट्यूट का 10 करोड़ खुराकें, भारत बायोटेक का 7.8 खुराकें बनाने का वादा◾ममता और धनकड़ के बीच फिर ठनी, CM ने गवर्नर के हिंसा प्रभावित क्षेत्र के दौरे को बताया नियमों का उल्लंघन◾शुक्रवार को मनाया जायेगा ईद-उल-फितर का त्यौहार, बृहस्पतिवार को होगा आखिरी रोजा◾कोरोना के बी.1.617 वैरिएंट को भारतीय वैरिएंट कहने पर सरकार ने जताई आपत्ति, कहा- WHO ने ऐसा नहीं कहा◾राहुल गांधी का केंद्र पर तंज, कहा- संक्रमण की गंभीर स्थिति में जिनकी जवाबदेही है वो छिपे बैठे हैं◾विपक्षी नेताओं ने PM को लिखा पत्र: सभी स्रोतों से खरीदा जाए टीका, हर नागरिक का मुफ्त हो टीकाकरण ◾ममता का मोदी को पत्र, कहा- सरकार कोविड रोधी टीकों के विनिर्माण के लिए जमीन और मदद उपलब्ध कराने को तैयार◾दिल्ली में कोरोना के 13,287 नए मामले सामने आए, 300 लोगों की मौत, संक्रमण दर में गिरावट जारी◾उत्तर प्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना ने ली 329 लोगों की जान, 18125 नए मरीजों की पुष्टि◾अब भारत में बनेंगी लंबे समय तक चलने वाली बैटरी, 18 हजार करोड़ के PLI इंसेंटिव को मंजूरी◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

लालू परिवार के निशाने पर आए नीतीश, राबड़ी बोलीं- सत्ता आनी-जानी है लेकिन इतिहास तुम्हें कभी क्षमा नहीं करेगा

बिहार विधानसभा में मंगलवार को येन-केन-प्रकारेण विशेष सशस्त्र पुलिस विधेयक 2021 भले ही पास करा लिया गया हो, लेकिन सदन में अभूतपूर्व स्थिति को लेकर अब राजनीति गर्म हो गई है। विपक्ष लगातार सत्ता पक्ष पर निशाना साध रहा है, जबकि सत्ता पक्ष इन सब के लिए विपक्ष को दोषी बता रहा है।

बिहार विधानसभा के बजट सत्र में मंगलवार को सदन में विपक्ष की अनुपस्थिति में बिहार विशेष सशस्त्र पुलिस विधेयक 2021 भले ही पास करा लिया गया, लेकिन जिस तरह विधानसभा में लात-घूंसे चले उसकी सभी निंदा कर रहे हैं। राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद ने बुधवार को ट्वीट कर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का छोटा रिचार्ज बताया। ट्वीट में कहा गया, "संघ की गोद में खेलने वाला नीतीश संघ का प्यादा और छोटा रिचार्ज है।"

लालू प्रसाद के ट्विटर हैंडल से एक अन्य ट्वीट में लिखा गया, "बेशर्म कुकर्मी आदमी, आंख और कान खोल देख! महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ विपक्ष सवाल नहीं पूछेगा तो क्या तुम पूछोगे?" इधर, पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने भी आरोप लगाया है कि मंगलवार को विधानसभा में महिला विधायकों का चीरहरण किया गया।

राबडी देवी ने अपने ट्वीट कर कहा, "विधानसभा में महिला विधायकों का चीरहरण होता रहा। सरेआम उनकी साड़ी को खोला गया, ब्लाउज के अंदर हाथ डालकर खींचा गया, अवर्णीय तरीके से बदसलूकी की गयी और नंगई की पराकाष्ठा पार कर चुके नीतीश कुमार 'धृतराष्ट्र' बन कर देखते रहे। सत्ता आनी-जानी है लेकिन इतिहास तुम्हें कभी क्षमा नहीं करेगा।"

इधर, विधानसभा में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने भी बुधवार को नीतीश कुमार पर निशाना साधा। तेजस्वी ने ट्वीट कर कहा, "राजद विधायक को लोकतंत्र के मंदिर में सादे कपड़ों में मौजूद गुंडा सरकार के नरभक्षी शासकों के गुंडों ने इतना पीटा कि उन्हें स्ट्रेचर पर एम्बुलेंस में लेकर जाना पड़ा। वो कह रहे हैं कि जालिम नीतीश जी हत्या करवा देंगे। वैसे भी सीएम को हत्या करने-कराने का पुराना अनुभव है।"

तेजस्वी यहीं नहीं रूके। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा, "तेरी तानाशाही और तेरे अत्याचार का हिसाब करेगा। आंदोलन में बहा लहू का एक एक कतरा इंसाफ करेगा। युवाओं की जवानी बर्बाद करने वाले, वक्त तेरा भी गणित ठीक करेगा। बेरोजगारों पर लाठियां चलाने वाले निर्दयी, समय युवाओं का भी आएगा।"  इधर, सत्ता पक्ष विधानसभा में हुई घटना के लिए विपक्ष को जिम्मेदार बता रहा है।

पूर्व मुख्यमंत्री और हिंदुस्तानी अवाम मोर्चा के प्रमुख जीतन राम मांझी ने कहा कि कुछ आतंक परस्त लोग नहीं चाहते कि बिहार सुरक्षित रहे इसलिए सशस्त्र पुलिस विधेयक के विरोध की आड़ में सदन के अंदर स्पीकर को बंधक बना लिया गया, प्रदर्शन के नाम पर जनता को परेशान किया गया। उन्होंने कहा कि मंगलवार की घटना एक सोची समझी साजिश का परिणाम है जिसकी उच्चस्तरीय जांच होनी चाहिए। बता दें कि मंगलवार को बिहार विधानसभा में अभूतपूर्व स्थिति उत्पन्न हो गई थी, जब विपक्ष के विधायकों को सुरक्षाकर्मियों द्वारा बाहर निकाल दिया गया था।

बिहार विधानसभा में हुए हंगामे पर बोले राहुल-'RSS-BJP मय' हुए नीतीश