BREAKING NEWS

कोरोना संकट : देश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1000 के पार, मौत का आंकड़ा पहुंचा 24◾कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे मन की बात◾कोरोना : लॉकडाउन को देखते हुए अमित शाह ने स्थिति की समीक्षा की◾इटली में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 10,000 के पार, 92,472 लोग इससे संक्रमित◾स्पेन में कोरोना वायरस महामारी से पिछले 24 घंटों में 832 लोगों की मौत , 5,600 से इससे संक्रमित◾Covid -19 प्रकोप के मद्देनजर ITBP प्रमुख ने जवानों को सभी तरह के कार्य के लिए तैयार रहने को कहा◾विशेषज्ञों ने उम्मीद जताई - महामारी आगामी कुछ समय में अपने चरम पर पहुंच जाएगी◾कोविड-19 : राष्ट्रीय योजना के तहत 22 लाख से अधिक सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा कर्मियों को मिलेगा 50 लाख रुपये का बीमा कवर◾कोविड-19 से लड़ने के लिए टाटा ट्रस्ट और टाटा संस देंगे 1,500 करोड़ रुपये◾लॉकडाउन : दिल्ली बॉर्डर पर हजारों लोग उमड़े, कर रहे बस-वाहनों का इंतजार◾देश में कोविड-19 संक्रमण के मरीजों की संख्या 918 हुई, अब तक 19 लोगों की मौत ◾कोरोना से निपटने के लिए PM मोदी ने देशवासियों से की प्रधानमंत्री राहत कोष में दान करने की अपील◾कोरोना के डर से पलायन न करें, दिल्ली सरकार की तैयारी पूरी : CM केजरीवाल◾Coronavirus : केंद्रीय राहत कोष में सभी BJP सांसद और विधायक एक माह का वेतन देंगे◾लोगों को बसों से भेजने के कदम को CM नीतीश ने बताया गलत, कहा- लॉकडाउन पूरी तरह असफल हो जाएगा◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान - लॉकडाउन के दौरान राज्य आपदा राहत कोष से मजदूरों को मिलेगी मदद◾वुहान से भारत लौटे कश्मीरी छात्र ने की PM मोदी से बात, साझा किया अनुभव◾लॉकडाउन को लेकर कपिल सिब्बल ने अमित शाह पर कसा तंज, कहा - चुप हैं गृहमंत्री◾बेघर लोगों के लिए रैन बसेरों और स्कूलों में ठहरने का किया गया इंतजाम : मनीष सिसोदिया◾कोविड-19 : केरल में कोरोना वायरस से पहली मौत, देश में अबतक 20 लोगों की गई जान ◾

राजनीतिक दल ईवीएम मशीन को खेल का फुटबॉल न बनायें : अरोड़ा

पटना : 2019 के लोकसभा चुनाव में स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव कराने हेतु केन्द्रीय निर्वाचन आयोग ने कमर कस लिया है। इसके लिए दो दिवसीय अधिकारियों एवं राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों एवं प्रवत्र्तनअधिकारियों के बीच गहन समीक्षा बैठक भी की गयी। ये बातें केन्द्रीय मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने लेमनट्री होटल में प्रेसवार्ता में कही। उन्होंने कहा कि कई राजनीतिक दलों के नेता, जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिलाधिकारी एवं एसएसपी के साथ मैराथन बैठक में आये सुझावों को गंभीरता से देखते हुए राज्य में निष्पक्ष एवं स्वच्छ मतदाता अपने मताधिकार केन्द्रों पर सुरक्षित मतदान करने हेतु कृत-संकल्पित हैं। उन्होंने कहा कि मतदान केन्द्रों पर अपराधिक मामले पर त्वरित कार्रवाई करने के लिए जिलानिर्वाचन पदाधिकारी एवं एसएसपी के निगरानी में जिम्मेवारी सौंपी गयी है।

राज्य में आदर्श आचार संहिता लागू हो जाने के बाद कड़ाई से पालन किया जायेगा। उसमें बाधा पहुंचाने वालों पर आयोग सख्त से सख्त कार्रवाईकरेगी। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि केन्द्रीय निर्वाचन आयोग ने उम्मीदवारों के खर्चे पर निगरानी रख रही है। चुनाव में धन-बल एवं बाहुबल को देखते हुए हर हाल में रोक कर निष्पक्ष चुनाव करायी जायेगी। इसमें कोताहीबरतने वाले पदाधिकारियों को बख्शा नहीं जायेगा। उन्होंने कहा कि राज्य के मुख्य सचिव, डीजीपी एवं गृह सचिव से बिन्दुबार वार्ता हुई है, जिसे आयोग ने संज्ञान में लिय है और यह कहा गया है कि हर हाल में चुनाव से पहले तीन वर्ष से अधिक समय से जमे अधिकारियों का तबादला करने की सूची भेजा जाये। आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने वाले अधिकारियों की सूची भेजा जाये ताकि उनको चुनाव कार्य से अलग रखा जा सके।

चुनाव में कई दलों ने ईवीएम मशीन हटाकर बैलेट पेपर से चुनाव कराने का सुझाव दिया है। लेकिन भारत निर्वाचन आयोग का चुनावी इतिहास रहा है कि स्वच्छ एवं निष्पक्ष चुनाव कराने में सफल रहा है। पिछले पांच राज्यों के चुनाव में 1,76000 मतदान केन्द्र थे उसमें मात्र छह मतदान केन्द्रों पर शिकायतें मिली थी। हमारा प्रयास होगा कि इस लोकतंत्र के महापर्व में शून्य शिकायतें की ओर बढ़ेंगे। उन्होंने एक सवाल के जवाब में कहा कि आयोग फेंक न्यूज सोशल मीडिया पर गंभीरता से निगरानी रखी जायेगी।

ऐसे सख्श पर प्राथमिकी दर्ज कराकर सख्त से सख्त कार्रवाई की जायेगी। पूरे मतदान केन्द्रों पर ईवीएम में वीवी पैट की सुविधा दी गयी है। ईवीएम में वीवी पैट के माध्यम से मतदाता अपने चहेते पार्टियों को मतदान करते समय अपने उम्मीदवारों के चुनाव चिन्ह को देख सकेंगे। वीवी पैट उच्च लेवल के आईटी विज्ञानिकों द्वारातैयार किया गया है। राजनीतिक दलों से अपेक्षा है कि वे ईबीएम मशीन को एक फुटबॉल नहीं बना दे। उन्होंने कहा कि राजनीतिक दलों ने मांग पर कार्रवाई करते हुए कमजोर वर्ग के लोगो को सुरक्षा की पर्याप्त व्यवस्था पर ध्यान रखते हुए उनको मतदान सुनिश्चित करायी जायेगी। मोबाइल बूथ एवं सीसी टीवी कैमरा लगाये जाने का सुझाव आया है। इस पर भी विचार किया जायेगा।