BREAKING NEWS

अफ्रीका में सामने आये कोरोना वायरस के नये स्वरूप को लेकर दुनियाभर में आशंकाएं◾तीन कृषि कानूनों के विरोध में आंदोलन का एक साल पूरा होने पर दिल्ली की सीमाओं पर हजारों किसान हुए एकत्र◾अचानक से राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की तबीयत बिगड़ी, दिल्ली के AIIMS में भर्ती◾संविधान के लिए समर्पित सरकार, विकास में भेद नहीं करती और ये हमने करके दिखाया: PM मोदी ◾संसद सत्र के पहले दिन कांग्रेस ने बुलाई विपक्षी नेताओं की बैठक, सरकार को घेरने की होगी तैयारी ◾ प्रयागराज हत्याकांडः कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने पीड़ित परिवार से की मुलाकात ◾केंद्रीय उड्डयन मंत्रालय का बड़ा इलान, देश में 15 दिसंबर से सभी अंतरराष्ट्रीय उड़ानें फिर से होगीं शुरू◾छह दिसंबर को भारत आयेंगे रूसी राष्ट्रपति पुतिन, पीएम मोदी के साथ करेंगे शिखर बैठक◾दिल्ली सरकार का सिख समुदाय को तोहफा, CM तीर्थयात्रा योजना में करतारपुर साहिब को किया शामिल ◾मध्य प्रदेश: मुरैना के नजदीक उधमपुर-दुर्ग एक्सप्रेस ट्रेन में लगी भयानक आग, चार कोच धू-धू कर जले◾दक्षिण अफ्रीका से निकले कोरोना के नए वैरियंट से दहशत में आयी दुनिया, कड़ी पाबंदियां लगनी शुरू ◾अखिलेश ने योगी की चुटकी ली, कहा-बाबा को लैपटॉप चलाना नहीं आता इसलिए टैबलेट दे रहे हैं ◾26/11 आतंकी हमले की बरसी पर बोले राहुल - शहीदों के बलिदान को जानो, साहस को पहचानो◾महाराष्ट्र में मार्च तक बनेगी BJP की सरकार! केंद्रीय मंत्री नारायण राणे के दावे से मचा बवाल ◾संविधान दिवस: कांग्रेस का मोदी सरकार पर प्रहार, कहा- आयोजन में नहीं किया शामिल, दर्शक बनना स्वीकार नहीं ◾पूर्व ACP का दावा - परमबीर सिंह के पास था आतंकी कसाब का फोन, पेश करने के बजाय किया नष्ट◾संविधान दिवस पर विपक्ष ने किया सेंट्रल हॉल कार्यक्रम का बहिष्कार, जानिए राजनितिक दलों ने क्या बताई वजह ◾जबरन वसूली मामला : जांच के सिलसिले में ठाणे पुलिस के समक्ष पेश हुए परमबीर सिंह ◾PM मोदी ने परिवारवाद पर कसा तंज, कहा- लोकतांत्रिक चरित्र खो चुकी पार्टियां नहीं कर सकती लोकतंत्र की रक्षा ◾बसपा प्रमुख मायावती ने केंद्र और राज्य सरकारों पर साधा निशाना, कहा कोई नहीं कर रहा है संविधान का पालन ◾

तेजस्वी यादव ने किया दावा, कहा- उपचुनावों में राजद की जीत होने पर बिहार में हो सकता है ‘खेला’

बिहार की राजनीति में अभी होने वाले उपचुनाव को लेकर जबरदस्त चर्चा है। बिहार में 2 विधानसभा सीटों पर 30 अक्टूबर को उपचुनाव होने हैं। राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के नेता तेजस्वी यादव ने मुंगेर जिले के तारापुर विधानसभा क्षेत्र में राजद उम्मीदवार के लिए प्रचार करते हुआ दावा किया कि बिहार में दो विधानसभा सीटों पर उपचुनावों में उनकी पार्टी की जीत के बाद राजनीतिक उथल-पुथल मच जाएगी।

अगर हम जीत हासिल करते हैं, तो आप कुछ महीनों के दौरान एक खेला देख पाएंगे : तेजस्वी

गौरतलब है कि प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी और जनता दल (यूनाइटेड) गठबंधन राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) कम बहुमत से सरकार चला रही है। चुनावी रैली में उन्होंने कहा, ‘‘अगर हम यहां (तारापुर) और कुशेश्वरस्थान में जीत हासिल करते हैं, तो आप कुछ महीनों के दौरान एक खेला देख पाएंगे।’’ वह परोक्ष रूप से पश्चिम बंगाल में कुछ महीने पहले हुए हाई वोल्टेज विधानसभा चुनाव से पहले ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस द्वारा गढे गए नारे से प्रभावित होते हुए यह बात (खेला) कही।

विपक्षी गठबंधन कड़ी टक्कर वाली सीटों में ‘‘हेरफेर’’ का आरोप लगाती रही है

राजद ने पिछले साल हुए बिहार विधानसभा चुनावों में 75 सीटें हासिल की थीं, जो भाजपा के मुकाबले एक अधिक थी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जदयू (50 से कम सीटें) की तुलना में काफी अधिक थी। बहरहाल 243 सदस्यों वाली विधानसभा में राजग जिसमें कुछ छोटे दल भी शामिल थे, को कम बहुमत मिला था। राजद के नेतृत्व वाला पांच पार्टी के महागठबंधन जिसमें कांग्रेस और वामपंथी शामिल थे, जादुई आंकडे से लगभग 10 सीटों से पीछे रह गयी थी जिसको लेकर विपक्षी गठबंधन कड़ी टक्कर वाली सीटों में ‘‘हेरफेर’’ का आरोप लगाती रही है।

मेवालाल चौधरी की मृत्यु के कारण तारापुर सीट पर उपचुनाव हो रहा है

पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी ने जदयू विधायक मेवालाल चौधरी की मौत के लिए नीतीश कुमार सरकार पर निशाना साधते हुए आरोप लगाया, ‘‘यह कहना गलत है कि कोरोना महामारी ने विधायक को मार डाला। उनकी मृत्यु के लिए एक विफल स्वास्थ्य प्रणाली जिम्मेदार है।’’ चौधरी की मृत्यु के कारण तारापुर सीट पर उपचुनाव हो रहा है।

इन दोनों सीटों पर 30 अक्टूबर को मतदान होना है

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मंत्रिमंडल में करीब दो साल तक उपमुख्यमंत्री रहे तेजस्वी ने यह भी आरोप लगाया कि कुशेश्वरस्थान की आरक्षित सीट से जदयू विधायक शशि भूषण हजारी की मृत्यु इसी तरह राज्य में खराब स्वास्थ्य सुविधाओं का परिणाम थी। उन्होंने पूछा, ‘‘हेपेटाइटिस जैसी सामान्य बीमारी के इलाज के लिए उन्हें दिल्ली क्यों ले जाया जाएगा।’’ हालांकि राजद जदयू की इन दोनों सीटों पर कब्जा करने के प्रति आश्वस्त दिख रही है, लेकिन उसे दोनों सीटों पर उम्मीदवार उतारने वाली कांग्रेस से चुनौती मिल रही है। विपक्षी महागठबंधन में शामिल इन दोनों सहयोगी दलों राजद और कांग्रेस के एक-दूसरे के वोट काटने की स्थिति में जदयू उम्मीदवार को फायदा हो सकता है। इन दोनों सीटों पर 30 अक्टूबर को मतदान होना है।