BREAKING NEWS

ईरान में कोरोना संकट के बीच फंसे 275 भारतीयो को दिल्ली लाया गया ◾कोरोना वायरस से अमेरिका में संक्रमितों की संख्या 121,000 के पार हुई, अबतक 2000 अधिक से लोगों की मौत ◾कोरोना संकट : देश में कोरोना संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 1000 के पार, मौत का आंकड़ा पहुंचा 24◾कोरोना महामारी के बीच प्रधानमंत्री मोदी आज करेंगे मन की बात◾कोरोना : लॉकडाउन को देखते हुए अमित शाह ने स्थिति की समीक्षा की◾इटली में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, मरने वालों की संख्या बढ़कर 10,000 के पार, 92,472 लोग इससे संक्रमित◾स्पेन में कोरोना वायरस महामारी से पिछले 24 घंटों में 832 लोगों की मौत , 5,600 से इससे संक्रमित◾Covid -19 प्रकोप के मद्देनजर ITBP प्रमुख ने जवानों को सभी तरह के कार्य के लिए तैयार रहने को कहा◾विशेषज्ञों ने उम्मीद जताई - महामारी आगामी कुछ समय में अपने चरम पर पहुंच जाएगी◾कोविड-19 : राष्ट्रीय योजना के तहत 22 लाख से अधिक सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा कर्मियों को मिलेगा 50 लाख रुपये का बीमा कवर◾कोविड-19 से लड़ने के लिए टाटा ट्रस्ट और टाटा संस देंगे 1,500 करोड़ रुपये◾लॉकडाउन : दिल्ली बॉर्डर पर हजारों लोग उमड़े, कर रहे बस-वाहनों का इंतजार◾देश में कोविड-19 संक्रमण के मरीजों की संख्या 918 हुई, अब तक 19 लोगों की मौत ◾कोरोना से निपटने के लिए PM मोदी ने देशवासियों से की प्रधानमंत्री राहत कोष में दान करने की अपील◾कोरोना के डर से पलायन न करें, दिल्ली सरकार की तैयारी पूरी : CM केजरीवाल◾Coronavirus : केंद्रीय राहत कोष में सभी BJP सांसद और विधायक एक माह का वेतन देंगे◾लोगों को बसों से भेजने के कदम को CM नीतीश ने बताया गलत, कहा- लॉकडाउन पूरी तरह असफल हो जाएगा◾गृह मंत्रालय का बड़ा ऐलान - लॉकडाउन के दौरान राज्य आपदा राहत कोष से मजदूरों को मिलेगी मदद◾वुहान से भारत लौटे कश्मीरी छात्र ने की PM मोदी से बात, साझा किया अनुभव◾लॉकडाउन को लेकर कपिल सिब्बल ने अमित शाह पर कसा तंज, कहा - चुप हैं गृहमंत्री◾

कोरोना पर प्रियंका चोपड़ा ने WHO से पूछे 16 अहम सवाल, हवा से फैलने, दोबारा होने तक के मिले जवाब

पूरा विश्व इस समय कोरोना वायरस के खिलाफ कठिन लड़ाई लड़ रहा है और हॉलीवुड से लेकर बॉलीवुड तक तमाम सेलिब्रिटीज भी लोगों को सुरक्षित रहने और सावधानी बरतने की अपील कर रहे है। बॉलीवुड एक्ट्रेस प्रियंका चोपड़ा भी इस जागरूकता अभियान में शामिल है और उन्होंने हाल ही में अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर बताया था कि वो जल्द वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) के डायरेक्टर जनरल डॉ. ट्रेडोस से इस विषय पर बात करेंगी। 

बीते मंगलवार प्रियंका चोपड़ा ने डॉ. टेड्रोस, कोविड 19 के लिए काम करने वाली टेक्निकल लीड मारिया वान केरखोव और ग्लोबल सिटीजन के सीईओ ह्यूग इवांस के साथ लाइव चैट पर बातचीत की।  इस चैट में उन्होंने कोरोना वायरस को लेकर 16 ऐसे सवाल पूछे जो लोगों की सुरक्षा के लिए बेहद जरूरी है। आईये जानते है प्रियंका को इन सवालों के क्या जवाब मिले। इस दौरान प्रियंका के पति निक जोनस भी उनके साथ थे। 

प्रियंका के पति निक ने पहला सवाल पूछा : मैं टाइप 1 डाइबिटीज़ का मरीज हूं और इन्हे अस्थमा की दिक्कत है। हमें डर था कि हम इस वायरस चपेट में जल्दी आएंगे और इसका असर क्या रहेगा? जिन लोगों को इम्युनिटी प्रॉब्लम है, उन्हें क्या अतिरिक्त सावधानियां बरतनी चाहिए ?

जवाब : डायबिटीज़, हार्ट डिज़ीज, सांसों से जुड़ी पुरानी दिक्कतें औऱ जिनकी उम्र 60 साल से अधिक है, ऐसे लोगों को ज्यादा से ज्यादा अपने घरों पर रहना चाहिए। जितना संभव हो इस बीमारी से दूर रहे। युवा लोग भी इससे संक्रमित हो रहे है , इससे हर किसी को खतरा है। छींक आने पर अपने हाथ (elbow) सं मुंह ढकें, अपना चेहरा न छूएं, अपने हाथ 20 सेकंड तक साफ करें, अन्य लोगों से दूरी बनाये रखें और कोई भी लक्षण दिखे तो घर से बाहर न निकलें। 

सवाल 2 -क्या पूरी दुनिया इसे लेकर एकजुट है?

जवाब: इसे लेकर हमने पॉलिटिकल कमिटमेंट चाही, स्ट्रॉन्ग पॉलिटिकल लीडरशिप, पूरे सरकार के साथ सोसायटी का अप्रोच चाहिए और कई देशों ने इसे पूरा किया है। यह बेहद जरूरी है, क्योंकि समस्या केवल किसी एक सेक्टर का नहीं बल्कि पूरी सोसायटी की है।

सवाल 3: इस समय हमें सबसे ज्यादा किन बातों का ध्यान रखना चाहिए जिससे खुद को और अपनी फैमिली को सुरक्षित रखा जा सके ?

जवाब: सबसे बेहतर उपाय फिजिकल डिस्टेंसिंग है। स्कूल , कॉलेज जैसी कई और सार्वजनिक जगहों को बंद करके सरकार ने कई ऐसे कदम उठाए हैं, जिससे भीड़ इकट्ठा होने पर बैन लगाया जा सका है। 

सवाल 4: भारत में अभी-अभी 21 दिनों के लॉकडाउन की घोषणा की गई है। कई देशों  की सरकारें इसे बेहद गंभीरता से ले रही है पर क्या आपको लग रहा है कि पूरी दुनिया की सरकारें पर्याप्त कदम उठा रही है ?

जवाब: फिजिकल डिस्टेंसिंग और अन्य कदम उठाने बेहद आवश्यक हैं। जिन्हें लेकर शक है, उन लोगों का टेस्ट भी होना चाहिए और उनके कॉन्टैक्ट्स में हों उनका भी और इस तरह के मामलों में उन सभी को आइसोलेट रखने की जरूरत है।

सवाल 5: आपने कहा कि हमें टेस्ट कराना चाहिए, लेकिन बहुत सारे ऐसे देश हैं जहां टेस्ट की पर्याप्त सुविधाएं नहीं हैं, उन्हें क्या करना चाहिए?

जवाब: देशों की जिम्मेदारी है कि उनके पास पर्याप्त संसाधन हो , इसके पीछे वित्तीय समस्या नहीं होनी चाहिए। लो इनकम और मिडल इनकम वाले जो देश संसाधन नहीं जुटा  पा रहे है , उन्हें अंतरराष्ट्रीय मदद देनी होगी।

सवाल 6: जिन देशों में अब तक ज्यादा मामले सामने नहीं आये है क्या वो टेस्ट नहीं कर पा रहे है , क्या ऐसा हो सकता है ?

जवाब: चीन में 11000 से ज्यादा मामले आए और तब तक बाकी दुनिया में केवल 83 मामले थे। जांच, कॉन्टैक्ट्स, पहचानना और फिर आइसोलेट करना ,  शुरुआत से इस पर काबू पाना जरूरी है। इन सब के लिए जागरूकता होना जरूरी है। 

सवाल 7: हमें एक नागरिक, एक देश होने के नाते अभी क्या करने की आवश्यकता है ?

जवाब: फिजिकल डिस्टेंसिंग, सोशल डिस्टेंसिंग और आइसोलेशन ये ही प्राथमिकता होनी चाहिए । हमें इसे लेकर आक्रामक रवैया रखना चाहिए।

सवाल 8: कोरोना की वजह से लोग अगर सेल्फ क्वॉरंटीन होंगे तो देशों कीआर्थिक स्थिति को खतरा होगा , इस बारे में क्या कहेंगे ?

जवाब: यह टेम्प्ररी है। लोग घबराये हुए हैं और यह नॉर्मल है। लेकिन लोग एकजुटता दिखा रहे हैं और पॉजिटिव सोच के साथ इस डर से बाहर आने की तरफ विचार कर रहे हैं।

सवाल 9: क्या वायरस हवा से फैल सकता है?

जवाब: यह वायरस एयर बॉर्न नहीं। आपके छींकने या थूकने से ये वायरस फैलता है।

सवाल 10: इस वायरस से ठीक होने के बाद भी क्या यह दोबारा हो सकता है?

 जवाब: अभी हमारे पास इस वायरस की पूरी तस्वीर नहीं। लेकिन 4 लाख लोगों में से 1 लाख रिकवर हुए हैं। हम मानकर चलते हैं कि जो इससे संक्रमित हैं , वो अपना इम्यून बेहतर करके ठीक हो रहे है । यह जानना कठिन है कि आपकी इम्यूनिटी कितनी स्ट्रॉन्ग है और कब तक बरकरार रहेगा।

सवाल 11: Covid 19 गर्मी में नहीं फैल सकता, यदि हमारा घर गर्म हो तो क्या बैक्टीरिया मर सकता है?

जवाब: यह वायरस है, बैक्टीरिया नहीं।  अलग-अलग टेम्प्रेचर में वायरस फैल सकता है। जहां एक तरफ चीन में ठंड होने पर ये फैला है , वहीं अफ्रीका व सिंगापुर के गर्म मौसम में भी यह फैला है।

सवाल 12: इससे लॉन्ग टर्म में लड़ने के लिए वैक्सीन सबसे जरूरी है। WHO की तरफ से इसके लिए क्या प्रयास किया जा रहा है और क्या गरीब देशों को भी यह मिल पाएगा?

जवाब: हमारे करीब 400 साइंटिस्ट इसपर लगातार काम कर रहे हैं, जिसमें कुछ वैक्सीन कैंडिडेंट्स भी हैं। अभी अगले 12 महीने तक वैक्सीन तैयार होने के बारे में नहीं सोचा जा सकता। कोरोना के सही वैक्सीन की तलाश में एक साल से लेकर 18 महीने भी लग सकते हैं।

सवाल 13:  COVID 19 से संक्रमित व्यक्ति को फीवर न हो क्या ऐसा भी हो सकता है ?

जवाब: ऐसा हो सकता है, लेकिन ऐसा इसके चांस बेहद कम है। फीवर, ड्राई कफ और सांस लेने में तकलीफ होना कोविड 19 के मुख्य लक्षण है। कुछ लोगों में मसल्स पेन और सिर दर्द जैसी शिकायत भी पायी गयी है । काफी कम लोगों को नाक बहने की दिक्कत आती है। चीन में 90% लोगों की जांच में पाया गया कि उन्हें फीवर था।

सवाल 14: को-इन्फेक्शन का मतलब क्या है?

जवाब:  एक ही समय में कई तरह के इन्फेक्शन से जूझना को-इन्फेक्शन कहलाता है ।

सवाल 15: क्या हाथ धोना सैनिटाइज करने से ज्यादा असरदार है?

जवाब: आप जो कर सकते हैं वह कर लीजिये , अल्कोहॉल बेस्ड rub हो तो उसी से अपने हाथ क्लीन कर लें।

सवाल 16: कई ऐसे लो इनकम वाले देश है , जहां साबुन और पानी की किल्लत है , उनके लिए क्या उपाय किये जा सकते है ?

जवाब: इस महामारी से लड़ने के लिए हम सभी को मिलकर एकजुट होकर काम करना होगा। लोग काफी क्रिएटिव होते हैं और इस मामले में भी काफी इनोवेटिव रास्ता निकाल रहे हैं। हमने देखा है कि इस महामारी और ऐसे बाकी मौकों पर लोग रास्ता निकाल ही लेते हैं। अपने हाथ साफ रखने के लिए लोग वॉटर जग और बेसिन से सहारे रास्ता निकाल रहे है। 

ये 14 बॉलीवुड फ़िल्में और वेबसीरीज आपको 21 दिन के लॉकडाउन पीरियड में दे सकती है फुल-ऑन एंटरटेनमेंट