BREAKING NEWS

यूरोपीय संघ के उच्च प्रतिनिधि ने PM मोदी से भेंट की◾दिल्ली पुलिस आयुक्त को NSA के तहत मिला किसी को भी हिरासत में लेने का अधिकार◾न्यायालय से संपर्क करने से पहले राज्यपाल को सूचित करने की कोई जरूरत नहीं : येचुरी◾ममता ने एनपीआर,जनसंख्या पर केन्द्र की बैठक में नहीं लिया भाग◾सिंध में हिंदू समुदाय की लड़कियों के अपहरण को लेकर भारत ने पाक अधिकारी को किया तलब◾नड्डा का 20 जनवरी को निर्विरोध भाजपा अध्यक्ष चुना जाना तय◾हमें कश्मीर पर भारत के रुख को लेकर कोई शंका नहीं है : रूसी राजदूत◾IND vs AUS : भारत की दमदार वापसी, ऑस्ट्रेलिया को 36 रनों से हराया, सीरीज में बराबरी◾दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए 48 और नामांकन दाखिल◾राउत को इंदिरा गांधी के बारे में टिप्पणी नहीं करनी चाहिए थी : पवार◾कश्मीर में शहीद सलारिया का सैन्य सम्मान से अंतिम संस्कार, दो महीने की बेटी ने दी मुखाग्नि ◾बुलेट ट्रेन परियोजना के लिये भूमि अधिग्रहण की प्रक्रिया के खिलाफ याचिकाओं पर न्यायालय करेगा सुनवाई ◾चुनाव में ‘कांग्रेस वाली दिल्ली’ के नारे के साथ प्रचार में उतरी कांग्रेस◾यूपी सीएम योगी ने हिमस्खलन में कुशीनगर के शहीद जवान की मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त किया◾TOP 20 NEWS 17 January : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾निर्भया के गुनहगारों का नया डेथ वारंट जारी, 1 फरवरी को सुबह 6 बजे होगी फांसी◾दिल्ली चुनाव के लिए BJP ने जारी की 57 उम्मीदवारों की पहली सूची◾निर्भया केस : स्मृति ईरानी ने राष्ट्रपति का जताया आभार, केजरीवाल पर साधा निशाना◾CAA के विरोध प्रदर्शन में जामा मस्जिद पहुंचे चंद्रशेखर, समर्थकों के साथ मिलकर पढ़ी संविधान प्रस्तावना◾आरोपी की दया याचिका को पर राष्ट्रपति के फैसले का निर्भया के पिता ने किया स्वागत◾

शाहिद कपूर भड़के - संजू का किरदार 300 लड़कियों के साथ सोया तब कहां थे कबीर सिंह के क्रिटिक

शाहिद कपूर और कियारा आडवाणी स्टारर कबीर सिंह एक ऐसी फिल्म बनकर उभरी जो दर्शकों के दिलों को जीतने में कामयाब रही, लेकिन आलोचकों के लिए परेशानी का सबब थी। फिल्म की रिलीज़ को एक महीने से अधिक हो गया है और अभी भी फिल्म काफी चर्चाओं में है। 

एक तरफ जहाँ फैन सीस फिल्म को बार बार देख रहे है वहीं इस फिल्म को लेकर आलोचनाओं का दौर भी खत्म नहीं हो रहा है।  कबीर सिंह 2019 की सबसे बड़ी ब्लॉकबस्टर बनने में कामयाब पर क्रिटिक इसका पीछा नहीं छोड़ रहे है।

 अब ये नया आरोप लगाया जा रहा है कि फिल्म के मुख्य किरदार को जिस तरह प्रोत्साहित किया गया है वो समाज के लिए ठीक नहीं है। लीड किरदार टॉक्सिक मर्दानगी बताकर गलत चरित्र का प्रचारक बताया जा रहा है। 

हाल ही एक इंटरव्यू के दौरान शाहिद ने फिल्म की सफलता पर प्रसन्नता व्यक्त की और उनके रास्ते में आने वाली आलोचना के बारे में भी बताया। 38 वर्षीय अभिनेता ने कहा कि पिछले पांच हफ्तों में सफलता उनके लिए शानदार रही और अभी भी ये दौर जारी है। 

शाहिद कपूर का कहना है की वो डार्क किरदारों को निभाने से पीछे नहीं हटते और ना ही डरते है।  वो असल जिंदगी में कबीर या टॉमी सिंह जैसे किरदार नहीं बन सकते।  साथ ही, शाहिद ने यह समझाने की कोशिश की कि अब दर्शकों को तय करना है की वो क्या देखना चाहते है और क्या बनना चाहते है। 

शाहिद कपूर ने बार बार हो रही आलोचना का जिक्र करते हुए कहा “हाल के दिनों में ऐसी फ़िल्में आई हैं जिनमें ऐसे ही किरदार दिखाए गए थे, पर तब किसी ने नहीं टोका। फिल्म संजू का उदाहरण देकर शाहिद ने कहा संजू में एक सीन था, जिसमें वह व्यक्ति अपनी पत्नी के सामने बैठा था और कह रहा था कि वह 300 महिलाओं के साथ सोया है। मैं यह कहना नहीं चाहता कि मैंने संजू को एन्जॉय नहीं किया है। मैंने पूरी तरह से मैंने यह देखने के लिए देखा कि चरित्र का जीवन कैसा है।

आपको बता दें कमाई के मामले में कबीर सिंह इस साल की अब तक की सबसे बड़ी ब्लॉकबस्टर है। ये तमिल फिल्म अर्जुन रेड्डी की रीमेक है जिसमे विजय देवरकोंडा ने लीड रोल निभाया था। 

सद्गुरु के 'गोल्डन शावर' पर ट्विंकल खन्ना का 'गौमूत्र' वार, ट्विटर पर हिमा दास को लेकर छिड़ी जंग