BREAKING NEWS

शिवसेना-राकांपा-कांग्रेस सरकार कार्यकाल पूरा करेगी : पवार ◾शीतकालीन सत्र के लिए सरकार के एजेंडा में नागरिकता विधेयक ◾कश्मीर में आतंकियों एवं शहरी नक्सलियों के खिलाफ प्रभावी एवं निर्णायक कार्रवाई करे सीआरपीएफ : शाह ◾पाकिस्तान अगर भारत से अच्छे संबंध चाहता है तो वांछित भारतीय अपराधियों को सौंपे : जयशंकर ◾बाबरी मस्जिद के पास रहने वाले परिवार ने खोलीं अयोध्या विवाद की परतें ◾दिल्ली -NCR में प्रदूषण पर बैठक से सांसद गंभीर और शीर्ष अधिकारी गैरहाजिर रहे ◾दिल्ली की जिला अदालतों में वकीलों की हड़ताल खत्म ◾CJI गोगोई ने सेवानिवृत्त होने से पहले अयोध्या पर फैसले के साथ इतिहास के पन्नों में नाम दर्ज कराया ◾प्रधानमंत्री ने प्रदूषण की ‘आपात स्थिति’ पर मुख्यमंत्रियों के साथ कितनी बैठकें कीं?: कांग्रेस ◾दिल्ली में प्रदूषण से निपटने के लिए सभी एजेंसियों को साथ मिलकर काम करना होगा : जावड़ेकर ◾प्रदूषण पर संसदीय समिति की बैठक में नहीं आने पर गंभीर की सफाई◾महाराष्ट्र : चन्द्रकांत पाटिल बोले- भाजपा के पास 119 विधायकों का समर्थन, जल्दी ही सरकार बनाएंगे◾TOP 20 NEWS 15 NOV : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾प्रियंका गांधी बोली- भाजपा सरकार भी डींगें हांकने के लिए डाटा छिपाने में लगी है◾प्रदूषण को लेकर SC ने 4 राज्यों के चीफ सेक्रेटरी को किया तलब, कहा- ऑड-ईवन स्थायी समाधान नहीं◾INX मीडिया : दिल्ली हाई कोर्ट ने खारिज की चिदंबरम की जमानत याचिका ◾राहुल बोले- 'मोदीनॉमिक्स' ने इतना नुकसान कर दिया कि सरकार को अपनी रिपोर्ट छिपानी पड़ रही है◾शरद पवार बोले-शिवसेना, NCP और कांग्रेस की सरकार 5 साल का कार्यकाल पूरा करेगी◾ऑड-ईवन योजना की अवधि बढ़ाए जाने पर सोमवार को होगा फैसला : केजरीवाल◾NCP नेता नवाब मलिक बोले- शिवसेना को किया गया अपमानित, निश्चित रूप से CM उनका ही होगा◾

व्यापार

7.20 प्रतिशत रह सकती है जीडीपी वृद्धि दर

मुंबई : वित्तीय सेवाएं देने वाली कंपनी गोल्डमैन सैक्स ने शुक्रवार को अनुमान व्यक्त किया कि देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर 2019-20 में 7.20 प्रतिशत रह सकती है। कंपनी ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि कच्चा तेल की नरम कीमतें, राजनीतिक स्थिरता और बुनियादी संरचना की दिक्कतों के दूर होने से जीडीपी की वृद्धि को समर्थन मिल सकता है। 

हालांकि उसने कहा कि गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों की दिक्कतों के कारण वृद्धि पर नरम होने का जोखिम है। पिछले वित्त वर्ष की आखिरी तिमाही में देश की आर्थिक वृद्धि दर पांच साल के निचले स्तर 5.80 प्रतिशत पर आ गयी। इसके कारण पिछले वित्त वर्ष में जीडीपी की वृद्धि दर 6.80 प्रतिशत तक सीमित हो गयी। गोल्डमैन की यह रिपोर्ट रिजर्व बैंक की दूसरी द्वैमासिक मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक के निष्कर्षों की घोषणा के एक दिन बाद आयी है। 

रिजर्व बैंक ने बृहस्पतिवार को लगातार तीसरी बार रेपो दर में 0.25 प्रतिशत की कटौती की है। रिजर्व बैंक ने 2019-20 के लिये जीडीपी वृद्धि दर का पूर्वानुमान 7.20 प्रतिशत से घटाकर सात प्रतिशत कर दिया है। गोल्डमैन ने कहा कि आर्थिक वृद्धि दर में तेजी का कारण वित्त वर्ष 2019-20 में कच्चा तेल की कीमतें नरम रहने के हमारे अनुमान, चुनाव के बाद नयी सरकार और मंत्रिमंडल के गठन से भरोसे में तेजी तथा बुनियादी संरचना क्षेत्र में दिक्कतों का आसान होना है। गोल्डमैन सैक्स ने यह अनुमान भी व्यक्त किया कि रिजर्व बैंक जुलाई-सितंबर में एक बार फिर से रेपो दर में 0.25 प्रतिशत की कटौती कर सकता है।