BREAKING NEWS

दिल्ली में हुई हिंसा में मारे गए IB अफसर अंकित शर्मा के परिजनों ने शहीद का दर्जा देने की मांग◾CAA को लेकर अमित शाह का ममता और कांग्रेस पर करारा वार - 'अरे इतना झूठ क्यों बोलते हो'◾निर्भया मामला : फांसी के सजा को उम्रकैद में बदलने के लिए दोषी पवन ने दी याचिका ◾कांग्रेस के अलावा 6 अन्य विपक्षी ने भी राष्ट्रपति कोविंद को लिखा पत्र, दिल्ली हिंसा के आरोपियों पर दर्ज हो FIR◾दिल्ली हिंसा : मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 41, पीड़ितों से मिलने पहुंचे LG अनिल बैजल ◾रविशंकर प्रसाद का कांग्रेस पर वार, बोले- राजधर्म का उपदेश न दें सोनिया◾प्रधानमंत्री मोदी के आगमन से पहले छावनी में तब्दील हुआ प्रयागराज, जानिये 'विश्व रिकार्ड' बनाने का पूरा कार्यक्रम ◾ ताहिर हुसैन के कारखाने में पहुंची दिल्ली फोरेंसिक टीम, जुटाए हिंसा से जुड़े सबूत◾जानिये कौन है IB अफसर की हत्या के आरोपी ताहिर हुसैन, 20 साल पहले अमरोहा से मजदूरी करने आया था दिल्ली ◾एसएन श्रीवास्तव नियुक्त किये गए दिल्ली के नए पुलिस कमिश्नर, कल संभालेंगे पदभार ◾जुमे की नमाज़ के बाद जामिया में मार्च , दिल्ली पुलिस के लिए चुनौती भरा दिन◾CAA को लेकर आज भुवनेश्वर में अमित शाह करेंगे जनसभा को सम्बोधित ◾CAA हिंसा : उत्तर-पूर्वी दिल्ली में अब हालात सामान्य, जुम्मे के मद्देनजर सुरक्षा का पुख्ता इंतजाम कायम◾CAA को लेकर BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले - कांग्रेस जो नहीं कर सकी, PM मोदी ने कर दिखाया◾Coronavirus : चीन में 44 और लोगों के मौत की पुष्टि, दक्षिण कोरिया में 2,000 से अधिक लोग पाए गए संक्रमित ◾भारत ने तुर्की को उसके आंतरिक मामलों पर टिप्पणी करने से बचने की सलाह दी◾राष्ट्रपति कोविंद 28 फरवरी से 2 मार्च तक झारखंड और छत्तीसगढ़ के दौरे पर रहेंगे◾संजय राउत ने BJP पर साधा निशाना , कहा - दिल्ली हिंसा में जल रही थी तो केंद्र सरकार क्या कर रही थी ?◾PM मोदी 29 फरवरी को बुंदेलखंड एक्स्प्रेस-वे की रखेंगे नींव◾दिल्ली हिंसा : SIT ने शुरू की जांच, मीडिया और चश्मदीदों से मांगे 7 दिन में सबूत◾

NBFC को नकदी संकट से मिलेगी राहत

मुंबई : भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनियों (एनबीएफसी) को नकदी संकट के समय राहत दिलाने के लिये एक जाखिम प्रबंधन मसौदा जारी किया है। रिजर्व बैंक की योजना है कि बड़ी एनबीएफसी कंपनियां सरकारी बॉन्ड या जमा योजनाओं में निवेश करें ताकि नकदी संकट के समय एक माह के भुगतान के लिये उनके पास पर्याप्त पूंजी उपलब्ध हो। आरबीआई ने शुक्रवार को एनबीएफसी के लिए नकदी जोखिम प्रबंधन रूपरेखा का मसौदा जारी किया है। केंद्रीय बैंक की ओर से यह कदम ऐसे समय उठाया गया है कि जब कई बड़ी एनबीएफसी कंपनियां नकदी संकट से जूझ रही हैं। जिसके चलते उन्हें कोष जुटाने के लिये भारी मशक्कत करनी पड़ रही है। 

प्रस्ताव के मुताबिक 5,000 करोड़ रुपये और उससे अधिक परिसंपत्ति की जमा राशि स्वीकार करने वाले सभी एनबीएफसी और ऐसे वित्तीय संस्थान जो जमा स्वीकार नहीं करते हैं उन सभी के लिये एक तरलता कवरेज अनुपात (एलसीआर) व्यवस्था लागू की जायेगी। यह व्यवस्था चरणबद्ध तरीके से लागू होगी। एलसीआर व्यवस्था को चार साल की अवधि में आगे बढ़ाया जायेगा। 

वित्तीय कंपनियों में अप्रैल, 2020 से अप्रैल, 2024 के दौरान इसे क्रियान्वित किया जाएगा। एलसीआर दिशानिर्देशों के तहत, वित्तीय कंपनियों को यह सुनिश्चित करना होगा कि उनकी उधारी मोटे तौर पर उनके कर्ज की परिपक्वता से मेल खाती हो। मसौदे में कहा गया है कि एनबीएफसी को चरणबद्ध तरीके से अपनी पूंजी में 'उच्च गुणवत्ता की नकदी परिसंपत्तियों' का हिस्सा बरकरार रखना होगा।