BREAKING NEWS

पद्म श्री से सम्मानित स्वर्ण मंदिर के पूर्व ‘हजूरी रागी’ की कोरोना वायरस के कारण मौत ◾मध्य प्रदेश में कोरोना के 12 नए पॉजिटिव केस आए सामने, संक्रमितों की संख्या हुई 98 ◾कोविड-19 के प्रकोप को देखते हुए PM मोदी आज राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ करेंगे चर्चा ◾Coronavirus : अमेरिका में कोविड -19 से छह सप्ताह के शिशु की हुई मौत◾कोविड-19 : संक्रमण मामलों में एक दिन में दर्ज की गई सर्वाधिक बढ़ोतरी, संक्रमितों की संख्या 1,834 और मृतकों की संख्या 41 हुई◾ट्रंप ने दी ईरान को चेतावनी, कहा- अमेरिकी सैनिकों पर हमला किया तो चुकानी पड़ेगी भारी कीमत ◾NIA करेगी काबुल गुरुद्वारे हमले की जांच, एजेंसी ने किया पहली बार विदेश में मामला दर्ज ◾आवश्यक सामानों की आपूर्ति में लगे वायुसेना के विमान के इंजन में लगी आग, पायलटों ने सुरक्षित उतारा◾राष्ट्रपति, उप-राष्ट्रपति सहित कई नेताओं ने दी देशवासियों को रामनवमी की बधाई◾Covid 19 के खिलाफ लड़ाई को कमजोर करने वालों पर भाजपा अध्यक्ष ने साधा निशाना◾खुफिया रिपोर्ट : मरकज से गायब 7 देशों की 5 महिलाओं सहित 160 विदेशी राजधानी दिल्ली में मिले◾तब्लीगी जमात से लौटे लोगों की सूचना न देने वालों पर मुकदमा दर्ज हो - CM योगी◾PM मोदी ने कोविड-19 से बचने के लिए आयुष मंत्रालय के नुस्खों को किया साझा, बोले- मैं सिर्फ गर्म पानी पीता हूं ◾दिल्ली में बीते 24 घंटे में कोरोना वायरस के 32 नये मामले आने से संक्रमितों की संख्या 152 पहुँची◾स्पेन : कोविड-19 से पिछले 24 घंटों में हुई 864 लोगों की मौत, मरने वाले लोगों की संख्या 9,000 के पार पहुंची ◾भारत-चीन मिलकर करेंगे वैश्विक चुनौतियों का सामना ◾कोविड-19 : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कोरोना से निपटने के लिए रक्षा मंत्रालय के उपायों की समीक्षा की◾मेरठ में कोरोना से संक्रमित 70 वर्षीय बुजुर्ग की मौत, अब तक 2 लोगों की गई जान◾पिछले 24 घंटे में कोरोना के 386 नये मामले आये सामने, निजामुद्दीन मरकज है प्रमुख वजह : स्वास्थ्य मंत्रालय◾Coronavirus : केजरीवाल सरकार का बड़ा ऐलान- कोरोना का इलाज करते किसी स्वास्थ्यकर्मी की जान गई तो देंगे 1 करोड़ रुपये◾

PPF और NSC जैसी छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरें घटा सकती हैं सरकार

सरकार आगामी तिमाही में छोटी बचत योजनाओं के लिए ब्याज दरों में कटौती करने पर विचार कर रही है। सूत्रों ने यह जानकारी दी। ऐसा माना जा रहा है कि इससे रिजर्व बैंक की मौद्रिक समीक्षा में नीतिगत दरों को घटाने का रास्ता साफ होगा।

सरकार ने मौजूदा तिमाही के दौरान बैंक जमा दरों में कमी के बावजूद सार्वजनिक भविष्य निधि (पीपीएफ) और राष्ट्रीय बचत पत्र (एनएससी) जैसी छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में कटौती नहीं की थी। बैंकरों की शिकायत रही है कि छोटी बचत योजनाओं पर अधिक ब्याज दर के चलते वे जमा दरों में कटौती नहीं कर पाते हैं और ऐसे में कर्ज भी सस्ता नहीं हो पाता है। 

इस समय एक साल की परिपक्वता वाली बैंकों की जमा दर और छोटी बचत दर के बीच लगभग एक प्रतिशत का अंतर है। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने इस सप्ताह की शुरुआत में कहा था कि मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) ब्याज दर में कटौती के बारे में निर्णय करेगी और कोरोना वायरस से उपजी चुनौतियों से निपटने के लिए सभी विकल्पों पर विचार किया जाएगा। 

छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों को तिमाही आधार पर संशोधित किया जाता है। सरकार ने 31 दिसंबर, 2019 को पीपीएफ और एनएससी जैसी छोटी बचत योजनाओं के लिए ब्याज दरों को चालू वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में 7.9 प्रतिशत पर अपरिवर्तित रखने का फैसला किया था।जबकि 113 महीनों की परिपक्व वाले किसान विकास पत्र की दर 7.6 प्रतिशत रखी गई थी।