BREAKING NEWS

चरणजीत चन्नी होंगे पंजाब के नए मुख्यमंत्री, रंधावा ने हाईकमान के फैसले का किया स्वागत◾महबूबा मुफ्ती ने भाजपा पर साधा निशाना, कहा- वोट लेने के लिए पाकिस्तान का करती है इस्तेमाल ◾आतंकियों की नापाक साजिश होगी नाकाम, ड्रोन के लिए काल बनेगी ‘पंप एक्शन गन’! सरकार ने सुरक्षा बलों को दिए निर्देश◾TMC में शामिल होने के बाद बाबुल सुप्रियो ने रखी दिल की बात, बोले- जिंदगी ने मेरे लिए नया रास्ता खोल दिया है ◾सिद्धू पर लगे एंटीनेशनल के आरोपों पर BJP का सवाल, सोनिया और राहुल चुप क्यों हैं?◾सुखजिंदर रंधावा हो सकते पंजाब के नए मुख्यमंत्री, अरुणा चौधरी और भारत भूषण बनेंगे डिप्टी सीएम◾इस्तीफा देने से पहले सोनिया को अमरिंदर ने लिखी थी चिट्ठी, हालिया घटनाक्रमों पर पीड़ा व्यक्त की◾सिद्धू के सलाहकार का अमरिंदर पर वार, कहा-मुझे मुंह खोलने के लिए मजबूर न करें◾पंजाब : मुख्यमंत्री पद की रेस में नाम होने पर बोले रंधावा-कभी नहीं रही पद की लालसा◾प्रियंका गांधी का योगी पर हमला, बोलीं- जनता से जुड़े वादों को पूरा करने में असफल क्यों रही सरकार ◾पंजाब कांग्रेस की रार पर बोली BJP-अमरिंदर की बढ़ती लोकप्रियता के डर से लिया गया उनका इस्तीफा◾कैप्टन के भाजपा में शामिल होने के कयास पर बोले नेता, अमरिंदर जताएंगे इच्छा, तो पार्टी कर सकती है विचार◾कौन संभालेगा पंजाब CM का पद? कांग्रेस MLA ने कहा-अगले 2-3 घंटे में नए मुख्यमंत्री के नाम का होगा फैसला◾पंजाब में हो सकती है बगावत? गहलोत बोले-उम्मीद है कि कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने वाला कदम नहीं उठाएंगे कैप्टन ◾CM योगी ने साढ़े चार साल का कार्यकाल पूरा होने पर गिनाईं अपनी सरकार की उपलब्धियां◾राहुल ने ट्वीट किया कोरोना टीकाकरण का ग्राफ, लिखा-'इवेंट खत्म'◾अंबिका सोनी ने पंजाब CM की कमान संभालने से किया इनकार, टली कांग्रेस विधायक दल की बैठक◾अफगानिस्तान में आगे बुनियादी ढांचा निवेश को जारी रखने के बारे में पीएम मोदी करेंगे निर्णय : नितिन गडकरी◾Today's Corona Update : देश में पिछले 24 घंटे में संक्रमण के 30,773 नए मामलों की पुष्टि, 309 लोगों की हुई मौत◾पंजाब के बाद अब राजस्थान और छत्तीसगढ़ पर टिकी निगाहें, क्या होगा उलटफेर?◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

एचडीएफसी की याचिका खारिज

नई दिल्ली : राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) ने बृहस्पतिवार को आरएचसी होल्डिंग के खिलाफ दिवाला प्रक्रिया शुरू करने की एचडीएफसी लि. की याचिका को खारिज कर दिया। आरएचसी होल्डिंग, सिंह बंधुओं मालविंदर मोहन सिंह और शिविंदर मोहन सिंह की प्रवर्तित गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी (एनबीएफसी) है।

एनसीएलटी के अध्यक्ष न्यायमूर्ति एम एम कुमार की अगुवाई वाली दो सदस्यीय प्रधान पीठ ने एचडीएफसी लि. की याचिका को खारिज कर दिया। एचडीएफसी लि. ने 41 करोड़ रुपये की वसूली के लिये न्यायाधिकरण में याचिका दायर की थी। आरएचसी होल्डिंग ने इस मामले में अपनी दलील में कहा कि वह एक गैर-बैंकिंग वित्तीय कंपनी है इसलिये उसे दिवाला एवं शोधन अक्षमता संहिता (आईबीसी) के तहत नहीं लाया जा सकता।

इससे पहले इस मामले में जापान की दवा कंपनी दाइची सान्क्यो ने आरएचसी होल्डिंग के खिलाफ दिवाला कार्रवाई को रोकने के लिए एनसीएलटी में अपील की थी। दाइची सान्क्यो ने कहा था कि उसके पास आरएचसी होल्डिंग से पैसे की वसूली के लिए अदालती आदेश है। दिल्ली उच्च न्यायालय पहले ही आरएचसी होल्डिंग की संपत्तियों की बिक्री को लेकर यथास्थिति कायम रखने का निर्देश दे चुका है।

सिंगापुर में एक न्यायाधिकरण ने दाइची सान्क्यो के पक्ष में फैसला देते हुए कहा था कि सिंह बंधुओं ने अपने शेयरों की बिक्री करते समय यह जानकारी छिपाई थी कि भारतीय कंपनी रैनबैक्सी अमेरिकी खाद्य एवं दवा प्रशासन तथा न्यायिक विभाग की जांच के घेरे में है। उच्च न्यायालय ने 31 जनवरी को अंतरराष्ट्रीय न्यायाधिकरण के फैसले को उचित ठहराते हुए दाइची के पक्ष में आदेश पारित किया। इससे सिंह बंधुओं के खिलाफ 2016 के न्यायाधिकरण के आदेश को लागू करने का रास्ता खुला गया।

सिंह बंधुओं ने 2008 में रैनबैक्सी में अपने शेयर दाइची को 9,576.1 करोड़ रुपये में बेचे थे। बाद में सन फार्मास्युटिकल्स लि. ने रैनबैक्सी का दाइची से अधिग्रहण किया। न्यायालय ने हालांकि, कहा कि फैसला पांच अवयस्क लोग, जो कि रेनबैक्सी में शेयरधारक हैं, पर लागू नहीं होगा। उन्हें खुद से अथवा किसी एजेंट के जरिये धोखाधड़ी के लिये दोषी नहीं ठहराया जा सकता।