BREAKING NEWS

मोदी सरकार द्वारा किसानों पर किए जा रहे अत्याचार के खिलाफ साथ मिलकर उठाएं आवाज : राहुल गांधी ◾देश में एक दिन की वृद्धि के बाद फिर घटे कोरोना के एक्टिव केस, संक्रमितों का आंकड़ा 59 लाख के पार ◾बॉलीवुड से जुड़े ड्रग केस की जांच के लिए तैयार NCB, दीपिका पादुकोण एजेंसी के सामने हुईं पेश ◾दुनियाभर में कोरोना केस 3 करोड़ 24 लाख के पार, 9 लाख 87 हजार से अधिक की मौत◾पाकिस्तान ने फिर अलापा कश्मीर राग, भारत ने दिया करारा जवाब ◾ अर्थशास्त्री मनमोहन सिंह के जन्मदिन पर जानिये उनसे जुड़ी ख़ास बातें ◾पूर्व पीएम मनमोहन सिंह के जन्मदिन पर बोले राहुल- उनके जैसे गंभीर प्रधानमंत्री की कमी महसूस कर रहा है देश ◾ अमेरिका में वैश्विक महामारी का प्रकोप जारी, कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 70 लाख के पार ◾ बिहार के 'रोबिनहुड' ने नीतीश की जमकर तारीफ की, NDA में हो सकते हैं शामिल ◾संयुक्त राष्ट्र महासभा में बोले पोप फ्रांसिस- कोरोना महामारी बदलाव के लिए अवसर है ◾आज का राशिफल (26 सितम्बर 2020)◾बिहार चुनाव में NDA को जीत का अनुमान : सर्वे ◾बिहार विधानसभा चुनाव में NDA ने सेट किया तीन चौथाई बहुमत का टारगेट◾UN में भाषण के दौरान पाक PM इमरान खान ने RSS और कश्मीर का मुद्दा उठाया, भारत ने किया बायकॉट◾CSK vs DC (IPL 2020) : दिल्ली कैपिटल्स ने चेन्नई सुपरकिंग्स को 44 रन से हराया◾UP में विधानसभा उपचुनाव के लिये राजनीतिक दलों ने कसी कमर◾नहीं थम रहा महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट, संक्रमितों का आंकड़ा 13 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 17,794 नए केस◾IPL-13: पृथ्वी शॉ का तूफानी अर्धशतक, दिल्ली ने चेन्नई के सामने रखा 176 रनों का लक्ष्य◾कोविड-19 : हर्षवर्धन ने बोले- देश की स्वास्थ्य सेवा से मृत्यु दर न्यूनतम और ठीक होने की दर अधिकतम रही◾राहुल गांधी ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- सरकार पर रत्ती भर भी भरोसा नहीं ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

जेपी इंफ्राटेक के दिवालियापन में जाने पर होम बायर्स को होगा सबसे अधिक नुकसान

दवालिया हो चुकी रियलटी कंपनी जेपी इंफ्राटेक के दिवालयापन में जाने पर सबसे अधिक नुकसान उसके 22,000 से अधिक घर खरीदारों को होगा क्योंकि वे असुरक्षित निवेशक हैं। रियल एस्टेट विशेषज्ञों का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट ने अपने एक महत्वपूर्ण निणर्य में कहा था कि किसी रियलटी परियोजना में आवास खरीदने वाले असुरक्षित निवेशक की श्रेणी में आते हैं। 

विशेषज्ञ ने कहा कि इसके मद्देनजर किसी भी कंपनी के घर खरीदार को दिवालियापन में जाने से बचने की कोशिश करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जेपी इंफ्राटेक के घर खरीदारों को अपने अपार्टमेंट की डिलीवरी प्राप्त करने और कंपनी को दिवालियापन में जाने से बचाने के लिए बोली लगाने वालों- एनबीसीसी और सुरक्षा रियलिटी दोनों के लिए ही मतदान करना चाहिए ताकि अंत में बैंकर किसी एक के पक्ष में मतदान कर इस कंपनी को दिवालियापन में जाने से बचा सकेंगे। 

रियलटी क्षेत्र के विश्लेषकों के अनुसार किसी रिजॉल्यूशन की संभावना तभी अधिक होगी जब खरीदार दोनों बोली लगाने वालों का चयन करें। किसी एक के पक्ष में मतदान करने से कंपनी के दिवालिया होने की संभावना बढ़ जाएगी। यदि खरीदार एक योजना के लिए मतदान करते हैं और बैंकर दूसरे के लिए मतदान करते हैं तो कॉर्पोरेट इन्सॉल्वेंसी रिजॉल्यूशन प्रोसेस निश्चित रूप से दिवालियापन के लिए जाएगा। 

मतदान प्रक्रिया सोमवार को पूरी हो जायेगी। मूल्यांकन मैट्रिक्स के अनुसार घर खरीदारों के पास, जेपी इंफ्राटेक के लेनदारों के पैनल में लगभग 58 प्रतिशत मतदान हिस्सेदारी है, जबकि शेष 42 प्रतिशत शेयर कुल 13 बैंकरों के पास है। किसी भी योजना की मंजूरी के लिए कम से कम 66 प्रतिशत मत की आवश्यकता है।