BREAKING NEWS

अगर तीन दिन से ज्यादा किसी अधिकारी ने रोकी फाइल, तो होगी सख्त कार्रवाई : योगी◾कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त होने के बाद बोले नड्डा- कार्यकर्ता के तौर पर BJP को करुंगा मजबूत◾जम्मू-कश्मीर : अनंतनाग में आतंकवादियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ शुरू◾WORLD CUP 2019, WI VS BAN : साकिब के शतक से बांग्लादेश ने वेस्टइंडीज को सात विकेट से हराया ◾दिल्ली में बढ़ा हुआ ऑटो किराया मंगलवार से लागू होगा, अधिसूचना जारी ◾मिस्र के पूर्व राष्ट्रपति मुर्सी का अदालत में सुनवाई के दौरान निधन ◾ममता बनर्जी से मिलने के बाद बंगाल के चिकित्सकों ने हड़ताल खत्म की ◾जे पी नड्डा भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किये गये ◾पुलवामा में आतंकवादियों ने किया IED विस्फोट, 5 जवान घायल ◾कांग्रेस ने बिहार में दिमागी बुखार से बच्चों की मौत को लेकर सरकार पर निशाना साधा ◾Top 20 News - 17 June : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें ◾बैंकों ने जेट एयरवेज को फिर खड़ा करने की कोशिश छोड़ी, मामला दिवाला कार्रवाई के लिए भेजने का फैसला ◾लोकसभा में साध्वी प्रज्ञा के शपथ लेने के दौरान विपक्ष ने किया हंगामा ◾ममता बनर्जी और डॉक्टरों की बैठक को कवर करने के लिए 2 क्षेत्रीय न्यूज चैनलों को मिली अनुमति◾बिहार : बच्चों की मौत मामले में हर्षवर्धन और मंगल पांडेय के खिलाफ मामला दर्ज◾वायनाड से निर्वाचित हुए राहुल गांधी ने ली लोकसभा सदस्यता की शपथ◾सलमान को झूठा शपथपत्र पेश करने के केस में राहत, कोर्ट ने राज्य सरकार की अर्जी खारिज की◾भागवत ने ममता पर साधा निशाना, कहा-सत्ता के लिए छटपटाहट के कारण हो रही है हिंसा ◾लोकसभा में स्मृति ईरानी के शपथ लेने पर सोनिया गांधी समेत कई विपक्षी नेताओं ने किया अभिनंदन ◾डॉक्टरों और ममता बनर्जी के बीच प्रस्तावित बैठक को लेकर संशय◾

व्यापार

IL&FS घोटाला : डेलॉयट, बीएसआर पर प्रतिबंध की अपील

मुंबई : कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय ने आईएलएंडएफएस फाइनेंशियल सर्विसेज की आडिटर डेलायट हास्किंस एंड सेल्स तथा बीएसआर एसोसिएट्स पर पांच साल तक आडिट करने पर प्रतिबंध के आग्रह को लेकर राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) में नई अपील की है। 

साथ ही मंत्रालय ने संकट में फंसी कंपनी के लिए नए आडिटर की नियुक्ति का भी आग्रह किया है। आईएलएंडएफएस फाइनेंशियल सर्विसेज संकटग्रस्त आईएलएंडएफएस समूह की 348 अनुषंगियों में से एक है। समूह पर ऋणदाताओं का 95,000 करोड़ रुपये का बकाया है। पिछले साल सितंबर को समूह की कई अनुषंगियों ने डिफाल्ट किया जिससे उसका संकट शुरू हुआ। 

उसी साल एक अक्टूबर को सरकार ने कंपनी के बोर्ड को भंग कर उसका नियंत्रण अपने हाथ में ले लिया। मंत्रालय ने अपनी अपील वरिष्ठ अधिवक्ता संजय शोरे के माध्यम से दायर की हैं मंत्रालय ने डेलॉयट के उद्यन सेन और बीएसआर के कल्पेश मेहता तथा संपत गणेश को प्रतिवादी भी बनाया है क्योंकि कंपनी की आडिट रिपोर्ट पर इन्हीं लोगों के हस्ताक्षर हैं।