BREAKING NEWS

आगामी दिल्ली विधानसभा चुनावों को एक और 'स्वतंत्रता संग्राम' मानें : केजरीवाल ◾अयोध्या मामला : मध्यस्थता समिति ने न्यायालय में सीलबंद लिफाफे में रिपोर्ट सौंपी ◾राहुल गांधी ने कहा- भूख सूचकांक में भारत का लुढ़कना मोदी सरकार की घोर विफलता◾श्यामा प्रसाद मुखर्जी के नाम से जानी जाएगी जम्मू-कश्मीर की चेनानी-नासरी सुरंग : नितिन गडकरी ◾वोट की खातिर लोकलुभावन वादों से बचें राजनीतिक दल : वेंकैया नायडू ◾गृह मंत्री अमित शाह बोले- 5 साल में घुसपैठियों को देश से बाहर करेंगे◾देवेन्द्र और नरेन्द्र महाराष्ट्र में विकास के दोहरा इंजन हैं : PM मोदी◾TOP 20 NEWS 16 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾अयोध्या विवाद मामले पर सुनवाई पूरी, SC ने फैसला रखा सुरक्षित ◾PM मोदी का कांग्रेस पर वार, बोले-परिवार भक्ति में ही राष्ट्र भक्ति आती है नजर ◾अर्थव्यवस्था को लेकर प्रियंका का केंद्र पर तंज, कहा-विश्व बैंक के बाद IMF ने भी दिखाया सरकार को आईना◾साक्षी महाराज बोले- 6 दिसंबर से शुरू होगा राम मंदिर का निर्माण◾महाराष्ट्र रैली में PM मोदी ने कहा-राष्ट्र निर्माण का आधार हैं सावरकर के संस्कार◾कपिल सिब्बल का PM पर तंज, बोले- मोदी जी, राजनीति पर कम और बच्चों पर ज्यादा ध्यान दीजिए◾आईएनएक्स मीडिया मामला: तिहाड़ जेल में पूछताछ के बाद ED ने पी चिदंबरम को किया गिरफ्तार◾अयोध्या विवाद : CJI गोगोई ने मामले की सुनवाई को आज शाम 5 बजे पूरी करने का दिया निर्देश◾होमगार्ड मामले में मायावती का यूपी सरकार पर वार, बेरोजगारी बढ़ाने का लगाया आरोप◾जम्मू-कश्मीर : अनंतनाग में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए 3 आतंकवादी◾होमगार्ड मामले पर प्रियंका का सवाल- योगी सरकार पर कौन सा फितूर है सवार ◾आईएनएक्स मीडिया: चिदंबरम से पूछताछ करने तिहाड़ पहुंची ED टीम, कार्ति और नलिनी भी मौजूद◾

व्यापार

भारी बिकवाली के दबाव में बाजार लुढ़के

मुंबई : घरेलू शेयर बाजार में इस सप्ताह बिकवाली का भारी दबाव बना रहा जिसके चलते प्रमुख शेयर संवेदी सूचकांकों में पिछले सप्ताह के मुकाबले तकरीबन दो फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। पिछले सप्ताह आम बजट 2019-20 पेश होने के बाद भारतीय शेयर बाजार में विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों की बिकवाली का दबाव बना रहा, जिससे सेंसेक्स इस कारोबारी सप्ताह फिसलकर 39,000 के मनोवैज्ञानिक स्तर से नीचे बंद हुआ और निफ्टी भी 11,550 के करीब रहा। 

इस कारोबारी सप्ताह के आखिरी सत्र में शुक्रवार को बंबई स्टॉक एक्सचेंज (बीएसई) के 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स पिछले सप्ताह की क्लोजिंग से 777.16 अंकों यानी 1.97 फीसदी लुढ़क कर 38,736.23 पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) के 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी भी पिछले सप्ताह के मुकाबले 258.65 अंकों यानी 2.19 फीसदी का गोता लगाते हुए 11,552.50 पर बंद हुआ। 

बीएसई मिड-कैप और स्मॉल-कैप सूचकांकों में भी भारी गिरावट रही। मिड-कैप सूचकांक 171.77 अंकों यानी 1.17 फीसदी नीचे आकर 14,553.88 पर बंद हुआ। बीएसई-स्मॉल कैप सूचकांक 365.25 अंकों यानी 2.58 फीसदी लुढ़क कर 13,776.58 पर बंद हुआ। बजट में अधिक दौलतमंद आयकर दाताओं पर सरचार्ज बढ़ाए जाने, बायबैक टैक्स लगाने और सूचीबद्ध कंपनियों में पब्लिक होल्डिंग बढ़ाने के प्रस्ताव से निवेशकों का मनोबल टूटा।

घरेलू शेयर बाजार में सप्ताह की शुरुआत मंदी के माहौल में हुई जब बिकवाली का दबाव होने के साथ-साथ विदेशी बाजार के संकेत भी उत्साहवर्धक नहीं रहे, जिससे प्रमुख संवेदी सूचकांकों में भारी गिरावट दर्ज की गई। सेंसेक्स सोमवार को 792.82 अंकों यानी 2.01 फीसदी लुढ़क कर 38,720.57 पर बंद हुआ। निफ्टी भी 352.55 अंकों यानी 2.14 फीसदी की गिरावट के साथ 11,558.60 पर बंद हुआ। 

अगले दिन मंगलवार को बाजार में काफी उतार-चढ़ाव रहा और सेंसेक्स महज 10.25 अंकों की बढ़त के साथ 38,730.82 पर बंद हुआ जबकि निफ्टी 2.70 अंक फिसलकर 11,555.90 पर रहा। कारोबारी सत्र के तीसरे दिन बुधवार को फिर अमेरिका-चीन व्यापारिक मदभेद को लेकर नई चिंता पैदा होने से बाजार पर दबाव दिखा जिससे सेंसेक्स पिछले सत्र से 173.78 अंकों यानी 0.45 फीसदी की गिरावट के साथ 38,557.04 पर बंद हुआ। निफ्टी भी 57 अंक फिसलकर 11,498.90 पर बंद हुआ।