BREAKING NEWS

उपचुनाव LIVE : 18 राज्यों की 51 विधानसभा और 2 लोकसभा सीटों पर वोटिंग जारी, UP में 9 बजे तक हुआ 8.43 प्रतिशत मतदान ◾हरियाणा विधानसभा चुनाव LIVE: साइकिल पर सवार होकर वोट डालने पहुंचे खट्टर, जीत का किया दावा ◾महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव LIVE: फडणवीस समेत कई नामी फिल्मी सितारों ने डाला वोट◾संघ प्रमुख मोहन भागवत बोले- बीते 90 वर्षों से हमें निशाना बनाया जा रहा है ◾हरियाणा में मुकाबला सिर्फ BJP और कांग्रेस के बीच : भूपिंदर सिंह हुड्डा◾केजरीवाल ने BJP पर साधा निशाना - बिजली सब्सिडी खत्म कर देगी भाजपा◾पोस्ट पेमेंट बैंक ने चुनौतियों को अवसर में बदला : PM मोदी ◾प्याज के मुद्दे पर भाजपा का केजरीवाल पर हमला, मुख्यमंत्री आवास का होगा घेराव◾सीमा पार तीन आतंकी शिविर ध्वस्त किये गए, 6-10 पाक सैनिक ढेर : सेना प्रमुख ◾PoK में भारतीय सेना की बड़ी कार्रवाई : सेना ने LoC पार जैश, हिजबुल के 35 आतंकी मार गिराए◾30 अक्टूबर को जामिया के दीक्षांत समारोह में राष्ट्रपति कोविंद होंगे मुख्य अतिथि◾महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए कल होगा मतदान, BJP लगातार दूसरे कार्यकाल की कोशिश में ◾वैश्विक आर्थिक जोखिमों के कारण बहुपक्षीय सहयोग को मजबूत करने की जरूरत : सीतारमण ◾मनमोहन सिंह करतारपुर गलियारे के औपचारिक उद्घाटन में नहीं होंगे शामिल : सूत्र◾TOP 20 NEWS 20 October : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾भारत की तरफ से गोलीबारी में हमारे 4 जवान शहीद, हमने भारतीय सेना के 9 सैनिकों को मार गिराया : PAK◾कमलेश तिवारी हत्याकांड: योगी से मिले परिजन, पत्नी बोली- CM ने हर संभव कार्रवाई का दिया आश्‍वासन◾भारतीय सेना ने PoK में तबाह किए आतंकी कैंप, 5 पाकिस्तानी सैनिक ढेर◾अभिजीत बनर्जी को लेकर BJP पर राहुल ने साधा निशाना, कहा- ये बड़े लोग नफरत से अंधे हो गए है◾अभिजीत बनर्जी के नोबेल पुरस्कार को राजनीतिक चश्मे से न देखा जाए : मायावती◾

व्यापार

रविशंकर प्रसाद ने इलेक्ट्रॉनिक्स और मोबाइल कंपनियों से भारत से विनिर्माण और निर्यात बढ़ाने का किया आवाहन

सरकार ने सोमवार को इलेक्ट्रॉनिक्स और मोबाइल उद्योग के प्रमुखों से भारत में निवेश बढ़ाने के साथ विनिर्माण में तेजी लाने का आह्वान किया। साथ ही सरकार ने जोर देकर कहा कि वैश्विक स्तर पर उठा-पटक के बावजूद देश की अर्थव्यवस्था के बुनियादी कारक मजबूत हैं। 

एप्पल, डेल, ओप्पो और सैमसंग जैसी प्रमुख इलेक्ट्रॉनिक्स और मोबाइल कंपनियों के मुख्य कार्यपालक अधिकारियों (सीईओ) और प्रमुखों को संबोधित करते हुए सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भारत को विनिर्माण के लिहाज से वैश्विक केंद्र बनाने की पुरजोर वकालत की और देश के प्रति अधिक प्रतिबद्धता जताने का आग्रह किया। 

उन्होंने कंपनियों से न केवल मोबाइल और वाहन इलेक्ट्रॉनिक्स क्षेत्र में बल्कि रणनीतिक, रक्षा और चिकित्सा इलेक्ट्रानिक्स और रोबोटिक्स के क्षेत्र में भी निवेश बढ़ाने को कहा। प्रसाद ने कहा, "वैश्विक स्तर पर उठा-पटक के बावजूद भारतीय अर्थव्यवस्था की बुनियाद मजबूत है, चाहे प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) हो या विदेशी मुद्रा भंडार... सभी चीजें हमारी अर्थव्यवस्था की मजबूती को अभिव्यक्त करती हैं।"

मंत्री ने सरकार के वृद्धि और निवेश को बढ़ावा देने वाली नीतियों का जिक्र किया। उन्होंने भारतीय बाजार में मजबूती, प्रतिभावान कार्यबल और डिजिटल प्रारूप का उल्लेख करते हुए कहा कि देश की इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण और निर्यात को लेकर आकांक्षा अतिशयोक्तिपूर्ण नहीं है। भारत ने 2025 में 400 अरब डॉलर (करीब 28.43 लाख करोड़ रुपये) के इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण परिवेश का लक्ष्य रखा है और विनिर्माण गतिविधियों को गति देने के लिये नई नीति को अधिसूचित किया है। 

प्रसाद ने कहा कि 5जी वृद्धि का नया केंद्र है। उन्होंने कहा कि सरकार देश को 5जी ज्ञान आधारित अर्थव्यवस्था, पेटेंट सृजन और शोध तथा विकास गतिविधियों के मामले में एक बड़े केंद्र के रूप में उभरते हुए देखने को लेकर गंभीर है। 

मंत्री ने कहा, "भारत को रणनीतिक इलेक्ट्रॉनिक्स के रूप में एक प्रमुख देश के रूप में उभरना है। भारत सौर, वाहन और उपभोकता इलेक्ट्रॉनिक्स के लिये एक बड़ा बाजार है। मैं आपसे सुनना चाहूंगा कि इसे किस प्रकार आगे बढ़ाया जा सकता है। भारत में चिकित्सा इलेक्ट्रॉनिक्स के लिये भी काफी संभावना है।"

उन्होंने उद्योग को सरकार की तरफ से हर संभव सहायता का आश्वासन दिया। उन्होंने अपने मंत्रालय को कार्यबल के रूप में एक संस्थागत व्यवस्था स्थापित करने का निर्देश दिया। यह कार्यबल उद्योग से नियमित तौर पर बातचीत करेगा और उनके सुझावों को लेगा तथा उनकी चिंताओं को दूर करेगा। 

यह बैठक ऐसे समय हुई है जब भारत इलेक्ट्रॉनिक्स के लिये स्वयं को अंतरराष्ट्रीय केंद्र के रूप में स्थापित करने का प्रयास कर रहा है और अमेरिका तथा चीन के बीच व्यापार युद्ध के कारण जो स्थिति बनी है, उस अवसर का लाभ उठाना चाह रहा है। 

बंद कमरे में हुई बैठक में मोबाइल हैंडसेट, उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स, रणनीतिक इलेक्ट्रॉनिक्स, चिकित्सा उपकरणों, इलेक्ट्रॉनिक्स विनिर्माण सेवाएं, कल-पुर्जे, दूरसंचार और एलईडी लाइटिंग समेत अन्य क्षेत्रों के प्रतिनिधि शामिल हुए। बैठक में एप्पल, सैमसंग, शियोमी, विवो, ओप्पो, क्वालकॉम, डेल, एचपी, सिसको, फाक्सकॉन, नोकिया, एलजी, पैनासोनिक, इंटेल जेसी कंपनियों के शामिल हुईं।