BREAKING NEWS

दिल्ली के किसानों की फसल बर्बाद, मुआवजा देने के नाम पर CM का झूठ का खेल पंजाब तक चालू : दिल्ली कांग्रेस◾मुंबई : ACB ने तीसरी बार पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह को किया तलब, पिछले दो समन पर नहीं हुए थे पेश ◾ केंद्र सरकार ने देश के 407 में संक्रमण दर 10 फीसदी से ज्यादा होने पर कोविड प्रतिबंध 28 फरवरी तक बढ़या◾पंजाब में सिद्धू या चन्नी में से कौन होगा मुख्यमंत्री का फेस ?राहुल गांधी ने दिया यह जवाब...◾चौधरी चरण सिंह मेरे आदर्श, जाट समुदाय भाजपा से नाराज नहीं रह सकता : राजनाथ◾ दिल्ली में कोविड-19 के 4,291 नये मामले, 34 और लोगों की महामारी से मौत◾ विदेश मंत्री डॉ. एस जयशंकर COVID19 पॉजिटिव हुए, कांटेक्ट में आए लोगों को दी एहतियात बरतने की सलाह◾यूपी चुनाव : बीजेपी अध्यक्ष नड्डा कल शाहजहांपुर में करेंगे जन संपर्क अभियान, कार्यक्रम को करेंगे संबोधित ◾दिल्ली के बाद चंडीगढ़ में कोविड प्रतिबंधों में ढील, 10वीं से 12वीं तक के लिए स्कूल खोलने की अनुमति ◾भारत-मध्य एशिया शिखर सम्मेलन में पीएम मोदी ने की मेजबानी, अफगानिस्तान को लेकर कही यह बात ◾SP ने जारी की 56 प्रत्याशियों की लिस्ट, गैर यादव OBC नेताओं पर खास ध्यान, जानें किसे कहां से मिला टिकट ◾यूपी चुनाव : आजम खान ने सीतापुर की जेल से ही भरा नामांकन, SP ने रामपुर से ही दिया टिकट◾आखिरकार टाटा के पास पहुंचा 'महाराजा' का स्वामित्व, अब एयरलाइन में बड़े बदलाव करेगा समूह◾उत्तराखंड चुनाव: कांग्रेस-BJP में जारी है रूठों को मनाने की कवायद, जानें पार्टियों में क्या हुए बदलाव? ◾1971 में मुख्यमंत्री टी एन सिंह को गोरखपुर के लोगों ने हराया था, अब फिर से इतिहास दोहराएंगे : चंद्रशेखर ◾UP में शाह ने भरी हुंकार, विपक्ष पर हुए हमलावर, कहा- माफियाओं पर कार्रवाई से अखिलेश के होता दर्द ◾अब खुले बाजार में मिलेंगी Covishield और Covaxin, पर मेडिकल स्टोर से नहीं ले सकेंगे◾अंसारी के असहिष्णुता वाले बयान पर छिड़ा राजनीतिक बवाल, BJP-VHP ने की कड़ी निंदा, जानें क्या कहा ◾पंजाब चुनाव को लेकर बीजेपी ने कैंडिडेट्स की एक और लिस्ट की जारी , जानिए किसे कहां से मिला टिकट◾अरुणचल प्रदेश से लापता लड़के की हुई 'वतन वापसी', कानून मंत्री किरेन रिजिजू ने ट्वीट कर दी जानकारी ◾

स्टार्टअप कंपनियों को मिलेगी सुविधा

नई दिल्ली : वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय स्टार्टअप कंपनियों के लिए जीएसटी दाखिल करने, कर रिटर्न भरने समेत विभिन्न नियमों के अनुपालन में लगने वाले समय को कम करने की तैयारी में है। मंत्रालय ने स्टार्ट अप के हर महीने अनुपालन में लगने वाले समय को घटाकर मात्र एक घंटा करने का प्रस्ताव किया है। एक अधिकारी ने यह बात कही।नए उद्यमियों की नियामक आवश्यकताओं को पूरा करने में लगने वाले समय को कम से कम करने के उद्देश्य से यह कदम उठाया गया है।

इससे ये कंपनियां अपने मुख्य काम पर ज्यादा से ज्यादा समय दे सकेंगी और वृद्धि कर सकेंगी। यह प्रस्ताव उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्द्धन विभाग (डीपीआईआईटी) की ओर से तैयार किए गए ' स्टार्ट-अप इंडिया विजन -2024' नीति दस्तावेज का हिस्सा है। नवोदित उद्यमियों को बढ़ावा देने के लिए यह नीति बनाई गई है। अधिकारी ने कहा कि मौजूदा समय में, स्टार्टअप कंपनियों को हर महीने जीएसटी दाखिल करने, कर रिटर्न जमा करने और अन्य स्थानीय कानूनों जैसे ढेरों नियमों का अनुपालन करना होता है।

 

इनके अनुपालन में उनका काफी समय और पैसे खर्च होते हैं। अधिकारी ने कहा कि स्टार्टअप कंपनियों के लिए हर महीने इन चीजों के अनुपालन में लगने वाले समय को घटाकर एक घंटे करने की जरूरत है ताकि स्टार्टअप अपने काम पर ज्यादा से ज्यादा ध्यान दे सके। विजन दस्तावेज में स्टार्टअप कंपनियों को कारोबार-अनुपालन माहौल देने के लिए कुल 11 उपायों का सुझाव दिया गया है ताकि उनके नियामकीय बोझ को कम किया जा सके। 

इन सुझावों में वित्तीय प्रौद्योगिकी स्टार्टअप कंपनियों की मदद के लिए नवोन्मेष केंद्र या प्रयोगों के खातिर नियामकीय दायरा स्थापित करना; नवोदित उद्यमियों के उद्यम में निवेश के लिए कर राहत ; वैकल्पिक निवेश कोष प्रबंधन सेवाओं पर जीएसटी की दरों में कटौती समेत अन्य पहल शामिल हैं। इस दस्तावेज का लक्ष्य 2024 तक देश में 50,000 नई स्टार्टअप कंपनियां स्थापित करने की सुविधा देना और 20 लाख प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष रोजगार के अवसर सृजित करना है। 

तमिलनाडु की स्टार्टअप कंपनी माइक्रोजी एलएलपी की संस्थापक रचना दवे ने कहा, अनुपालन में लगने वाले समय को घटाकर एक घंटे करने का प्रस्ताव स्वागत योग्य कदम है। यह स्टार्टअप कंपनियों को मुख्य गतिविधियों पर ध्यान देने के लिए अधिक समय देगा। इसके अलावा देश में स्टार्टअप कंपनियों के लिए सहयोग तंत्र को और मजबूत करेगा।