BREAKING NEWS

कोरोना के बढ़ते केसों से घबराएं नहीं, महामारी से चार कदम आगे है आपकी सरकार : CM केजरीवाल◾मोदी सरकार 2.0 की पहली वर्षगांठ पर कांग्रेस ने कसा तंज, ‘बेबस लोग, बेरहम सरकार’ का दिया नारा ◾मोदी जी की इच्छा शक्ति की वजह से सरकार ने साहसिक लड़ाई लड़ी एवं समय पर निर्णय लिये : नड्डा ◾कोविड-19 पर पीएम मोदी का आह्वान - 'लड़ाई लंबी है लेकिन हम विजय पथ पर चल पड़े हैं'◾दिल्ली में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले को लेकर कांग्रेस, भाजपा के निशाने पर केजरीवाल सरकार◾राम मंदिर , सीएए, तीन तलाक, धारा 370 जैसे मुद्दों का हल दूसरे कार्यकाल की प्रमुख उपलब्धियां : PM मोदी ◾बीस लाख करोड़ रूपये का आर्थिक पैकेज ‘आत्मनिर्भर भारत’ की दिशा में बड़ा कदम : PM मोदी◾Coronavirus : दुनियाभर में वैश्विक महामारी का खौफ जारी, संक्रमितों की संख्या 60 लाख के करीब ◾कश्मीर के कुलगाम में सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में दो आतंकवादी मारे गए◾कोविड-19 : देश में अब तक 5000 के करीब लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 1 लाख 73 हजार के पार ◾मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल का एक वर्ष पूरे होने पर अमित शाह, नड्डा सहित कई नेताओं ने दी बधाई◾PM मोदी का देश की जनता के नाम पत्र, कहा- कोई संकट भारत का भविष्य निर्धारित नहीं कर सकता ◾लद्दाख के उपराज्यपाल आर के माथुर ने गृहमंत्री से की मुलाकात, कोरोना के हालात की स्थिति से कराया अवगत◾महाराष्ट्र : 24 घंटे में कोरोना से 116 लोगों की मौत, 2,682 नए मामले ◾दिल्ली-एनसीआर में महसूस किए गए भूकंप के झटके, रिक्टर स्केल पर तीव्रता 4.6 मापी गई, हरियाणा का रोहतक रहा भूकंप का केंद्र◾मशहूर ज्योतिषाचार्य बेजन दारुवाला का 90 वर्ष की उम्र में निधन, कोरोना लक्षणों के बाद चल रहा था इलाज◾जीडीपी का 3.1 फीसदी पर लुढ़कना भाजपा सरकार के आर्थिक प्रबंधन की बड़ी नाकामी : पी चिदंबरम ◾कोरोना प्रभावित टॉप 10 देशों की लिस्ट में नौवें स्थान पर पहुंचा भारत, मरने वालों की संख्या चीन से ज्यादा हुई ◾पश्चिम बंगाल में 1 जून से खुलेंगे सभी धार्मिक स्थल, 8 जून से सभी संस्थाओं के कर्मचारी लौटेंगे काम पर◾छत्तीसगढ़ के पूर्व CM अजीत जोगी का 74 साल की उम्र में निधन◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

नगरीय सहकारी बैंक प्रबंधकीय परिषद बनाएं : आरबीआई

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने सहकारी बैंकों पर नियमों का शिकंजा कसते हुए बड़े नगरीय सहकारी बैंकों (यूसीबी) को अपने यहां प्रबंधकीय परिषद (बीओएम) बनाने के निर्देश दिए हैं जिनमें विशेषज्ञ होंगे और वे बैंक के कार्यव्यवहार पर निगाह रखेंगे। आरबीआई ने मंगलवार को इस बारे में दिशानिर्देश जारी किया। 

पंजाब एंड महाराष्ट्र कोआपरेटिव बैंक में हाल के घोटाले के बाद केंद्रीय बैंक ने सहकारी बैंकों की नियम व्यवस्था को कसना शुरू किया है। इसी सिलसिले में यह निर्णय लिया गया है। यह 100 करोड़ रुपये से अधिक की जमा वाले यूसीबी पर लागू होगा। रिजर्व बैंक ने कहा है कि चूंकि यूसीबी बैंक आम लोगों से जमा राशि स्वीकार करते हैं लिहाजा यह जरूरी है कि उनके लिए एक अलग व्यवस्था बनायी जाए ताकि जमाकर्ताओं के हित को सुरक्षित रखा जा सके। 

दिशानिर्देश में कहा गया है कि ‘‘100 करोड़ रुपये या उससे अधिक की जमा राशि रखने वाले बैंकों में निदेशक मंडल (बीओडी) के साथ साथ एक प्रबंधकीय परिषद (बीओएम) भी होगी। बीओडी ही बीओएम का गठन करेगा। बैंकों को इसके लिए अधिकतम एक वर्ष का समय दिया गया है। 

बीओएम में बैंक के मुख्य कार्यपालक को छोड़ कर पांच से 12 की संख्या में सदस्य हो सकते हैं। इसमें मुख्य कार्यपालक को मताधिकार नहीं होगा। यह निकाय बैंक के बैंकिंग संबंधी कार्यव्यवहार पर निगाह रखेगा। रिजर्व बैंक को यदि ऐसा लगता है कि मुख्य कार्यपालक या बीओएम के किसी सदस्य के काम से बैंक या जमाकर्ताओं का हित प्रभावित हो सकता है या वह बोर्ड की सदस्यता की शर्तों पर वह खरा नहीं उतरता तो उसे उसे हटाने का रिजर्व बैंक को अधिकार होगा।