BREAKING NEWS

राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ में पार्टी के सफाए से राहुल गांधी ज्यादा नाराज !◾अमेठी : सुरेंद्र सिंह के भाई ने बताया- राजनीतिक रंजिश में हुई हत्या◾शारदा घोटाला : सीबीआई ने जारी किया राजीव कुमार के खिलाफ लुकआउट नोटिस ◾ISIS की नौकाओं को लेकर खुफिया सूचना के बाद केरल के तटवर्ती इलाकों में हाई अलर्ट ◾मंत्री बनना चाहती हैं हेमा मालिनी◾मोदी की जीत पर विश्व नेताओं की बधाई का जारी है सिलसिला◾ये नए भारत का, नया उत्तर प्रदेश बनाने का जनादेश : योगी आदित्यनाथ◾नरेंद्र मोदी ने उपराष्ट्रपति नायडू से की मुलाकात, बताया शिष्टाचार भेंट◾बिहार : राजद को अब बदलनी होगी जातिवाद की रणनीति !◾प्रचंड जीत के बाद मां हीराबेन से मिलने जाएंगे मोदी, पटेल की मूर्ति पर करेंगे माल्यार्पण◾नरेंद्र मोदी की सांसदों को नसीहत, बोले- छपास एवं दिखास से बचिए, मिठास रखिए ◾केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के करीबी पूर्व ग्राम प्रधान सुरेंद्र सिंह की गोली मारकर हत्या◾भाजपा बंगाल में सांप्रदायिक जहर फैलाकर जीती : ममता◾मतदाताओं और कार्यकर्ता का धन्यवाद करने वायनाड जायेंगे राहुल◾केरल के तटों पर हाई अलर्ट, ISIS के 15 आतंकवादी भारत में घुसने की फिराक में - खुफिया रिपोर्ट◾ममता के इस्तीफे की पेशकश को बीजेपी ने बताया 'नाटक' ◾सोनिया गांधी ने जीत के लिए अपने संसदीय क्षेत्र की जनता एवँ सपा-बसपा के कार्यकर्ताओं का आभार किया व्यक्त◾राज्य के विशेष दर्जा को बरकरार रखने के लिए एनसी लड़ेगी लड़ाई : फारूक अब्दुल्ला◾2019 के जनादेश ने लोकतंत्र को परिवारवाद, जातिवाद और तुष्टीकरण के नासूरों से निकाला : शाह◾जनता का आभार जताने सोमवार को वाराणसी जाएंगे मोदी◾

व्यापार

अगले महीने से शुरू आर्थिक गणना में होगा मोबाइल एप का इस्तेमाल

नई दिल्ली : केन्द्रीय सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय (एमएसपीआई) ने अगले महीने से शुरू होने वाली 7वीं आर्थिक गणना के दौरान मोबाइल फोन एप का इस्तेमाल करने का फैसला किया है। इससे आंकड़ों के संग्रह और विश्लेषण में मदद मिलेगी। आर्थिक गणना में देशभर में चल रही आर्थिक गतिविधियों और उनके मालिकाना तौर तरीकों के बारे में जानकारी उपलब्ध होती है। इस गणना को सांख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्वयन मंत्रालय, सीएससी ई-गवर्नेंस सविर्सिज इंडिया लिमिटेड (सीएससी एसपीवी) के साथ मिलकर करता है।

सीएससी यानी साझा सेवा केन्द्रों द्वारा जारी वक्तव्य में कहा गया है कि 7वीं आर्थिक गणना मोबाइल एपलीकेशन का इस्तेमाल करके की जायेगी। आर्थिक गणना की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिये इसमें निरीक्षण के दो दौर होंगे। सीएससी केन्द्रों पर तमाम तरह की सेवायें उपलबध कराई जाती हैं। इनमें आवश्यक सार्वजनिक सुविधा सेवाओं के अलावा सामाजिक कल्याण योजनाओं, स्वास्थ्य सेवाओं, वित्तीय एवं शिक्षा और कृषि सेवायें भी उपलब्ध कराई जाती है। इसके अलावा देश के शहरी, ग्रामीण और दूरदराज इलाकों में स्थित इन सीएससी केन्द्रों पर व्यवसाय से ग्राहकों (बी2सी) सेवायें भी उपलब्ध कराई जाती है।

एमएसपीआई के सचिव प्रवीण श्रीवास्तव ने यहां प्रशिक्षकों की अखिल भारतीय कार्यशाला प्रशिक्षण के मौके पर कहा कि हम आर्थिक सर्वेक्षण के लिये जमीनी स्तर पर कामकाज जून में शुरू करने जा रहे हैं। इसके लिये हम मध्यप्रदेश में एक राज्य स्तरीय कार्यशाला के आयोजन के साथ शुरुआत करने के बाद फिर इस तरह की कार्यशालायें सभी राज्यों और जिला स्तर पर आयोजित करेंगे।

मंत्रालय के महानिदेशक (ईएस एवं सर्वे) ज्यातिर्मय पोद्दार ने इस अवसर पर कहा कि हमारा इरादा गणना के लिये जमीनी स्तर पर एक जून से काम शुरू करने का है। इसके बाद यह काम तीन माह में पूरा कर लिया जायेगा। इसके साथ-साथ चरणबद्ध तरीके से परिणाम भी जारी किये जाते रहेंगे। इस पूरे काम को करने में नौ लाख के करीब गणनाकार और तीन लाख निरीक्षक शामिल होंगे।