BREAKING NEWS

EPFO - केंद्र ने तय की पीएफ पर ब्याज दर, छह करोड़ लोगों को मिलेगा लाभ ◾कृषि एवं ग्रामीण क्षेत्र की मजबूती पर सरकार का फोकस, योजनाएं छोटे किसानों के लिए बेहद लाभकारी : तोमर◾ईज ऑफ लिविंग : रहने के लिए सबसे अच्छे शहरों की रेस में बेंगलुरू रहा सर्वश्रेष्ठ, दिल्ली टॉप 10 में भी नहीं ◾राहुल के मुहावरों का जावड़ेकर ने मुहावरों से दिया जवाब-सौ चूहे खाकर बिल्ली चली हज को चली◾राकेश टिकैत बोले- जब तक सरकार बात नहीं मानेगी, आंदोलन ऐसे ही चलता रहेगा◾वित्त मंत्री सीतारमण ने कोरोना टीके की पहली खुराक ली, पूर्व पीएम मनमोहन ने भी पत्नी के साथ लगवाया टीका◾अक्षर ने शुरूआती दोहरे झटके के बाद इंग्लैंड की आधी टीम लौटी पवेलियन, स्टोक्स 55 रन बनाकर आउट ◾अनुराग कश्यप और तापसी के खिलाफ IT की कार्रवाई को लेकर राहुल का केंद्र पर हमला◾ताजमहल को बम से उड़ाने की अफवाह, पुलिस ने फर्जी कॉल करने वाले को किया गिरफ्तार◾Today's Corona Update : 24 घंटों के दौरान डेथ रेट में कमी, सक्रिय मामलों में बढ़ोतरी◾राम मंदिर परिसर का होगा विस्तार, ट्रस्ट ने खरीदी 7,285 वर्ग फुट जमीन◾ विश्व में कोरोना के मामले 11.51 करोड़ के पार, 25.5 लाख से अधिक लोगों की हुई मौत ◾TOP- 5 NEWS 04 MARCH : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें◾उत्तर प्रदेश : मुख्तार अंसारी गैंग के 2 शूटर मुठभेड़ में ढेर, 50 हजार का था इनाम◾तापसी पन्नू और अनुराग कश्यप से देर रात तक चली पूछताछ, आज फिर जारी रहेगी कार्यवाही ◾BJP ने RSS पर बयान देने के लिए राहुल को लिया आड़े हाथ : कहा- समझने में लगेगा बहुत समय ◾आज का राशिफल (04 मार्च 2021)◾ब्रह्मोस मिसाइल आपूर्ति : भारत ने ‘रक्षा उपकरण’ की बिक्री के लिए फिलिपीन के साथ समझौते पर किया हस्ताक्षर ◾TMC की शिकायत पर EC का आदेश, 72 घंटे में हटाएं PM मोदी की तस्वीर◾असम में सहयोगी दलों के साथ सीटों के बंटवारे पर हुआ भाजपा का समझौता, घोषणा जल्द ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

बैंकों में कामकाज बृहस्पतिवार को आम हड़ताल के चलते बाधित होने के आसार

केंद्रीय श्रमिक संगठनों की एक दिन की राष्ट्रव्यापी हड़ताल के चलते बृहस्पतिवार को देशभर में बैंकों का कामकाज प्रभावित होने के आसार हैं। 

भारतीय मजदूर संघ को छोड़कर दस केंद्रीय श्रमिक संघों ने केंद्र सरकार की विभिन्न नीतियों के खिलाफ बृहस्पतिवारी को आम हड़ताल का आह्वान किया है। 

आईडीबीआई बैंक और बैंक ऑफ महाराष्ट्र समेत कई बैंकों ने बुधवार को शेयर बाजारों से कहा कि हड़ताल के चलते उनके कार्यालयों और शाखाओं में कामकाज बाधित हो सकता है। 

अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (एआईबीईए), अखिल भारतीय बैंक अधिकारी संघ (एआईबीओए) और भारतीय बैंक कर्मचारी महासंघ ने भी हड़ताल में शामिल होने की घोषणा की है। 

एआईबीईए ने एक बयान में कहा कि कारोबार सुगमता के नाम पर लोकसभा ने हाल में तीन नए श्रम कानून पारित किए हैं। यह पूरी तरह से कॉरपोरेट के हित में है। करीब 75 प्रतिशत कर्मचारियों को श्रम कानूनों के दायरे से बाहर कर दिया गया है और नए कानूनों के तहत उनके पास कोई विधिक संरक्षण नहीं है। 

एआईबीईए, भारतीय स्टेट बैंक और इंडियन ओवरसीज बैंक के कर्मचारियों को छोड़कर लगभग सभी बैंक कर्मचारियों का प्रतिनिधित्व करने वाली संस्था है। 

विभिन्न सरकारी और निजी क्षेत्र के पुराने बैंकों समेत कुछ विदेशी बैंकों के कर्मचारी एआईबीईए के सदस्य हैं। 

बैंक कर्मचारियों के विरोध प्रदर्शन की वजह बैंकों का निजीकरण और क्षेत्र में विभिन्न नौकरियों को आउटसोर्स करना या संविदा पर करना है। 

इसके अलावा बैंक कर्मचारियों की मांग क्षेत्र के लिए पर्याप्त संख्या में कर्मचारियों की भर्ती करना और बड़े कॉरेपोरेट ऋण चूककर्ताओं के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करना भी है। 

बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने शेयर बाजार से कहा कि यदि हड़ताल प्रभावी रहती है तो बैंक शाखाओं और कार्यालयों में सामान्य कामकाज प्रभावित हो सकता है।