शिवसेना ने कहा कि उत्तर प्रदेश के शहरों का पुन:नामकरण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा अगले साल के लोकसभा चुनाव से पहले मतदाताओं को लुभाने के लिए ‘लॉलीपॉप’ है। पार्टी ने अपने मुखपत्र ‘सामना’ में भगवान राम की मूर्ति बनाने की आदित्यनाथ की घोषणा को लेकर भी उनकी निंदा की और कहा कि सरकार लोगों को गुमराह करने के लिए अयोध्या कार्ड खेल रही है क्योंकि वह सभी मोर्चो पर विफल रही है।

पार्टी ने कहा, “योगी आदित्यनाथ ने घोषणा की है कि अयोध्या में भगवान राम की मूर्ति बनायी जाएगी। उन्होंने फैजाबाद (जिले) का नाम बदलकर अयोध्या कर दिया और उससे पहले इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज किया था। लेकिन सैकड़ों शहीद कारसेवकों की मांग राममंदिर थी न कि उनकी मूर्ति।”

उसने कहा, “लेकिन सरकार ने बस फैजाबाद को नया नाम और मूर्ति दी। यह आगामी आम चुनाव के मद्देनजर भाजपा का लॉलीपॉप है।” शिवसेना ने मांग की कि सरकार राममंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त करने के लिए संसद में नया कानून लाए।

शहरों के नाम बदलने से पहले भाजपा अपने मुस्लिम नेताओं का नाम बदले : राजभर