BREAKING NEWS

निर्मला सीतारमण पूर्व PM एच डी देवेगौड़ा का हालचाल जानने पहुंचीं◾America Cyclone : अमेरिका के फ्लोरिडा में चक्रवात से भारी तबाही, बिजली गुल होने से 25 लाख लोग प्रभावित◾दशहरे पर हैदराबाद में मंच सजाएंगे केसीआर, राष्ट्रीय दल की करेंगे घोषणा ◾गहलोत को झटका, सचिन को ताज ? सोनिया गांधी से दोनों के मुलाकात अलग -अलग मायने◾Congress: सोनिया गांधी अगले दो दिन के अंदर सीएम पद के लिए करेगी फैसला, जानें पूरी मिस्ट्री ◾दिग्विजय सिंह का कांग्रेस अध्यक्ष बनना तय ? परिस्थिति के अनुसार बदलते गए समीकरण ◾2023 में ही तेजस्वी को सीएम बनाएंगे नीतीश ? आरजेड़ी नेता के बयान को लगी सियासी हवा ◾पंजाब : चर्च में तोड़फोड़, धार्मिक तनाव, छावनी में तब्दील हुआ घटनास्थल◾Maharashtra: ठाकरे का एकनाथ शिंदे पर तीखा वार- भगवा ध्वज दिल में होना चाहिए, केवल हाथ में नहीं ◾14 साल पहले गोद ली गई लड़की ने आशिक के साथ मिलकर घोटा पिता का गला, दोनों गिरफ्तार ◾इशारों-इशारों में अखिलेश ने दिए मायावती से फिर दोस्ती के संकेत, सपा और बसपा का हो सकता है गठबंधन?◾कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव नहीं लड़ेंगे अशोक गहलोत, सोनिया से मांगी माफी◾असम में दर्दनाक हादसा, ब्रह्मपुत्र नदी में नाव डूबने से 10 लोग लापता, SDRF- NDRF ने सर्च ऑपरेशन शुरू किया ◾पीएफआई को केरल हाईकोर्ट ने दी बड़ी चोट, हिंसा में तोड़फोड़ का वसूला जाएगा हर्जाना ◾बिहार : बालू माफियाओं के बीच वर्चस्व की खूनी जंग, पांच लोगों की हत्या ◾राहुल गांधी के कर्नाटक दौरे से पहले फटे पोस्टर, कांग्रेस ने भाजपा पर उठाए सवाल ◾बिहार बीजेपी का अगला अध्यक्ष कौन ? गठबंधन टूटने के बाद सियासी समीकरणों को साधने की कोशिश◾UP News: अलीगढ़ की मीट फैक्ट्री में हादसा, अमोनिया गैस का हुआ रिसाव, 50 मजदूर बेहोश, DM-SP मौके पर मौजूद ◾दिग्विजय भी लड़ेंगे कांग्रेस अध्यक्ष पद का चुनाव, कल दाखिल करेंगे नामांकन पत्र ◾उत्तर प्रदेश : छोटी सी बात को लेकर हुआ पति-पत्नी में विवाद, लेनी पड़ी एक अपनी जान ◾

SC की फटकार के बाद 17 उड़न दस्तों का हुआ गठन, बारिश के बावजूद 'गंभीर' श्रेणी में बनी है वायु गुणवत्ता

हल्की बारिश के बावजूद दिल्ली में वायु गुणवत्ता शुक्रवार को खराब हो गई, समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 335 को छू गया। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के कई हिस्सों में हवा की गुणवत्ता 'गंभीर' श्रेणी में रही। द्वारका और मुंडका क्षेत्रों में हवा की गुणवत्ता 'गंभीर' दर्ज की गई, जबकि नजफगढ़, शाहदरा, आनंद विहार और दिल्ली विश्वविद्यालय क्षेत्रों में यह 'बहुत खराब' थी।

बारिश के बावजूद 'गंभीर' श्रेणी में बनी हुई है वायु गुणवत्ता 

बता दें कि गुरुवार को दिल्ली का वायु प्रदूषण बिगड़ गया और कई इलाकों में वायु गुणवत्ता 'गंभीर' श्रेणी में आ गई थी। जहां गुरुवार को दिल्ली में समग्र एक्यूआई 312 (बहुत खराब श्रेणी) दर्ज किया गया, वहीं राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) के अन्य राज्यों में एक्यूआई 400 (गंभीर श्रेणी) को पार कर गया।

शहर में गुरुवार को हल्की बारिश हुई, भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि न्यूनतम तापमान 13.4 डिग्री सेल्सियस, सामान्य से 4 डिग्री अधिक और अधिकतम तापमान 19.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जो औसत से 5 डिग्री कम है।

7 साल में सबसे खराब थी वायु गुणवत्ता

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के अनुसार, इस नवंबर में दिल्ली की वायु गुणवत्ता 7 साल में महीने के लिए सबसे खराब थी, शहर में 11 दिनों में गंभीर प्रदूषण देखा गया था और "मध्यम" या "बेहतर" वायु गुणवत्ता का एक भी दिन नहीं था। 

विशेषज्ञों ने कहा कि हालांकि सर्दियों के शुरुआती चरण में वायु प्रदूषण के स्तर में वृद्धि के पीछे स्टबल बर्निंग एक प्रमुख कारक है, लेकिन उत्सर्जन के स्थानीय स्रोत शहर में अत्यधिक प्रदूषित हवा का प्राथमिक कारण हैं। सफर के विश्लेषण के अनुसार 22 से 26 नवंबर तक दिल्ली में वायु प्रदूषण में स्थानीय स्रोतों का योगदान 78 प्रतिशत था।

SC की फटकार के बाद सरकार ने किया 17 उड़न दस्तों का गठन 

सुप्रीम कोर्ट की फटकार के एक दिन बाद दिल्ली-एनसीआर में वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि उसने राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण को रोकने के लिए अपने निर्देशों के कार्यान्वयन की निगरानी के लिए 5 सदस्यीय प्रवर्तन कार्य बल का गठन किया है।

आयोग ने चूककर्ताओं के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई करने के लिए 17 उड़न दस्तों का भी गठन किया गया है। आयोग के निदेशक ने एक हलफनामे में कहा, यह प्रस्तुत किया गया है कि अब 2 दिसंबर के आदेश के अनुसार, 17 उड़न दस्ते का गठन किया गया है जो सीधे आयोग के प्रवर्तन कार्य बल को रिपोर्ट करेंगे और गैर-अनुपालन/ चूक करने वाले व्यक्तियों/संस्थाओं के खिलाफ दंडात्मक और निवारक उपाय करने का प्रवर्तन कार्य बल स्वयं शक्तियों का प्रयोग करेंगे।

आयोग ने SC में पेश किया हलफनामा 

आयोग ने प्रस्तुत किया कि अगले 24 घंटों में उड़न दस्तों की संख्या बढ़ाकर 40 कर दी जाएगी और दस्ते 2 दिसंबर से पहले से ही चालू हैं और उन्होंने 25 स्थलों पर औचक निरीक्षण किया है। हलफनामा जोड़ा गया कि केंद्र ने यह भी उद्धृत किया कि दिल्ली के 300 किलोमीटर के दायरे में 11 थर्मल पावर प्लांटों में से केवल 5 को 15 दिसंबर तक संचालित करने की अनुमति दी जाएगी। आयोग ने दिल्ली के 17 वर्षीय छात्र आदित्य दुबे द्वारा दिल्ली में गंभीर वायु प्रदूषण के बारे में चिंता जताते हुए एक मामले में हलफनामा दायर किया।

Today's Corona Update : देश में मंडरा रहा 'ओमिक्रॉन' वैरिएंट का खतरा, 9216 नए मामलों की हुई पुष्टि