BREAKING NEWS

सावधान ! चीनी मांझे का खतरा बरकरार : कुछ लोगों की जा चुकी है जान , कई लोग घायल◾हर घर तिरंगा अभियान : मोहन भागवत ने RSS मुख्यालय पर फहराया तिरंगा ◾CM योगी ने वीर जवानों की सराहना की , कहा - देश के लिए बलिदान देने की जरूरत पड़ी, तो जवानों ने कभी संकोच नहीं किया◾NGT चीफ और जयराम रमेश ने उपराष्ट्रपति धनखड़ से की मुलाकात ◾विपक्ष के 11 दलों ने ईवीएम, धनबल और मीडिया के ‘दुरुपयोग’ के खिलाफ लड़ने का किया संकल्प◾ पाक : बारूदी सुरंग हमले में एक जवान की मौत, दो घायल◾ केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी बोलीं- लोगों से अपने घरों पर तिरंगा फहराने का आग्रह करने वाले पहले प्रधानमंत्री हैं मोदी ◾J-K News: जम्मू कश्मीर में आतंकियों का कहर! श्रीनगर में ग्रेनेड हमले में CRPF का एक जवान घायल◾जयराम ठाकुर ने कहा- पुरानी पेंशन योजना बहाल करने की मांग से केंद्र को अवगत कराऊंगा◾ उपराज्यपाल सिन्हा का दावा - आतंकवाद के ताबूत में आखिरी कील ठोकेगी सरकार◾Delhi: सिसोदिया ने कहा- स्कूलों के छात्र उद्यमिता......... कम उम्र में स्टार्ट-अप स्थापित कर रहे◾16 को होगा महागठबंधन सरकार का शपथ ग्रहण समारोह, कांग्रेस की भागीदारी तय ◾तिरंगा अभियान पर मोदी की मां ने बढ़ चढ़कर लिया भाग, पीएम की मां ने बाटे तिरंगे◾आत्मनिर्भर चाय वाली मोना पटेल की चर्चा देश में होगी और वह ब्रांड बनेगी:चिराग पासवान◾हिमाचल में सामूहिक धर्मांतरण जिहाद-रोधी विधेयक ध्वनिमत से पारित ◾हिमाचल में सामूहिक धर्मांतरण जिहाद-रोधी विधेयक ध्वनिमत से पारित ◾गुजरात : तिरंगा यात्रा के दौरान गाय के हमले में घायल हुए नितिन पटेल ◾सोनिया गांधी के कोरोना होने पर स्टालिन का छलका दर्द, बोले- आशा करता हूं वह जल्द ही सक्रिय दिखाई देगी◾चर्चा में वानखेड़े - नवाब के आरोप को जाति आयोग ने किया खारिज, दी 'क्लीन चिट'◾आजादी अमृत महोतस्व पर सियासत! कांग्रेस ने कहा- 75वीं सालगिरह को सिर्फ ‘सर्वज्ञानी’ की छवि चमकाने का अवसर◾

7 अधिसूचित औद्योगिक क्षेत्रों का होगा पुनर्विकास, लाखों को मिलेगी नौकरी

नई दिल्ली, (पंजाब केसरी) : दिल्ली में युवाओं के लिए नए रोजगार के नए अवसर पैदा करने के लिए केजरीवाल सरकार जल्द ही दिल्ली के 27 नोटिफाइड औद्योगिक क्षेत्रों का पुनर्विकास करेगी। दिल्ली सरकार ने डीएसआईआईडीसी को इन नोटिफाइड औद्योगिक इलाकों का ले-आउट तैयार करने का काम सौंपा है। डीएसआईआईडीसी औद्योगिक क्षेत्र में सलाहकार फर्म को नियुक्त करेगी, जो अलग-अलग औद्योगिक क्षेत्र का ले-आउट तैयार करेंगे। इसे लेकर शुक्रवार को दिल्ली के उद्योग मंत्री सत्येंद्र जैन ने दिल्ली सचिवालय में औद्योगिक क्षेत्र के संघों के पदाधिकारियों के साथ बैठक की। साथ ही सुरक्षा उपायों के साथ इन नोटिफाइड औद्योगिक क्षेत्रों के पुनर्विकास पर चर्चा की। सरकार की ओर से इन औद्योगिक इलाकों के पुनर्विकास के लिए अलग से बजट का प्रावधान किया गया है।

उद्योग मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि दिल्ली में सभी 27 नोटिफाइड औद्योगिक क्षेत्र हैं। यहां कई औद्योगिक इकाइयां चल रही हैं। इन औद्योगिक इलाकों को इसी आधार पर मंजूरी मिली थी कि इनका पुनर्विकास किया जाएगा। लेकिन सालों से यह मामला पुरानी सरकारों में टरकता रहा। अब केजरीवाल सरकार ने इन इलाकों के पुनर्विकास का बीड़ा उठाया है। इन सभी 27 इलाकों का ले-आउट प्लान तैयार करने की समय सीमा तय की गई है। ले-आउट प्लान तैयार करने वाले सलाहकारों पर दिल्ली सरकार और औद्योगिक संघ मिलकर 50-50 फीसद राशि खर्च करेंगे।

 नोटिफाइड औद्योगिक क्षेत्रों में होगी तमाम सुविधाएं

दिल्ली सरकार ने दिल्ली के लाखों लोगों के लिए रोजगार के अवसर पैदा करने के लिए अगले पांच वर्षों में इन 27 नोटिफाइड औद्योगिक क्षेत्रों के पुनर्विकास की घोषणा की है। दिल्ली सरकार द्वारा औद्योगिक क्षेत्रों को हरा-भरा, स्वच्छ और बेहतर बनाने की दिशा में काम किया जाएगा। साथ ही सीवेज, सामान्य अपशिष्ट उपचार संयंत्र, पेयजल आपूर्ति, औद्योगिक अपशिष्ट निपटान की व्यवस्था और सड़कों को बेहतर किया जाएगा। औद्योगिक क्षेत्रों में प्रोसेसिंग सेंटर, मान्यता प्राप्त टेस्ट लैब, ट्रेनिंग सेंटर, बिजनेस कन्वेंशन सेंटर, रॉ-मटेरियल बैंक और लॉजिस्टिक्स सेंटर समेत तमाम तरह के सेंटर बनाए जाएंगे।

 इन नोटिफाईड औद्योगिक क्षेत्रों का होगा विकास

केजरीवाल सरकार की ओर से पुनर्विकास किए जाने वाले औद्योगिक क्षेत्रों में आनंद पर्वत, शाहदरा, समयपुर बादली, जवाहर नगर, सुल्तानपुर माजरा, हस्तसाल पाकेट-ए, नरेश पार्क एक्सटेंशन, लिबासपुर, पीरागढ़ी गांव, ख्याला, हस्तसाल पाकेट-डी, शालीमार गांव, न्यू मंडोली, नवादा, रिठाला, स्वर्ण पार्क मुंडका, हैदरपुर, करावल नगर, डाबरी, बसई दारापुर, मुंडका उद्योग नगर, मुंडका में फिरनी रोड, रणहोला, प्रहलादपुर बांगर, टिकरी कलां, मुंडका (नार्थ) गोडाउन क्लस्टर, और नंगली सकरावती आदि शामिल हैं।