BREAKING NEWS

CM केजरीवाल ने ममता बनर्जी से की मुलाकात, राजनीतिक मुद्दों पर की चर्चा◾अमरनाथ गुफा के पास फटा बादल, शाह ने उपराज्यपाल मनोज सिन्हा से की बात◾बैंक डूबे या बंद हो, 90 दिन में ग्राहकों को मिल जाएगी 5 लाख तक की बीमा की रकम : सरकार◾सुप्रीम कोर्ट की हिदायत ने मानते हुए बकरीद के मौके पर छूट देने से केरल में एकदम बढ़ा कोरोना - भाजपा ◾इमरान खान ने खुद बताया की उन्हें 'तालिबान खान' क्यों कहा जाता है, खुद ही खोल दी अपनी पोल ◾जेपी नड्डा का विरोधियों पर निशाना - केवल प्रेस कांफ्रेंस या ट्विटर पर ही नजर आते हैं विपक्षी नेता ◾सुप्रीम कोर्ट के आदेश और नियमों को ताक पर रखकर राकेश अस्थाना को बनाया गया दिल्ली का पुलिस कमिश्नर : कांग्रेस◾सोनिया गांधी से मिलीं ममता बनर्जी, कहा - बिल्ली के गले में घंटी बांधने के लिए चाहिए सबका साथ ◾पोर्नोग्राफी केस में राज कुंद्रा को बड़ा झटका, कोर्ट ने खारिज की जमानत याचिका◾अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन बोले- सभी को अपनी सरकार में राय देने का और सम्मान पाने का हक◾ममता का केंद्र पर तीखा वार- इमरजेंसी से भी गंभीर हालात, अब पूरे देश में 'खेला होबे'◾राहुल का अर्थ ही है गैर जिम्मेदार, अगर उनके फोन में डाला गया पेगासस हथियार तो क्यों बैठे रहे चुप : BJP◾विदेश मंत्री एस जयशंकर और ब्लिंकन ने मुलाकात कर कई मुद्दों पर की चर्चा, चीन की बढ़ी टेंशन ◾पेगसास केस पर विपक्ष हमलावर, राउत बोले- यह राष्ट्रीय सुरक्षा का मामला, सरकार ने किया विश्वासघात ◾लोकसभा में कांग्रेस सांसदों ने फाड़े पर्चे, अनुराग ठाकुर बोले- सदन की इज्जत को तार-तार क्यों कर रहा है विपक्ष ◾नीतीश ने बाराबंकी हादसे पर जताया दुख, मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख रुपये मुआवजे का किया ऐलान ◾एंटनी ब्लिंकन ने अजित डोभाल के साथ की बातचीत, दोनों देशों के द्विपक्षीय और क्षेत्रीय मुद्दों पर हुई चर्चा ◾किश्तवाड़ में बादल फटने की घटना पर बोले मोदी- स्थिति पर केंद्र की कड़ी निगरानी, शाह ने राज्यपाल, DGP से की बात ◾पेगासस केस को लेकर विपक्ष के तेवर तीखे, कांग्रेस समेत 14 दलों ने सरकार को घेरने की रणनीति पर की चर्चा◾BJP के वरिष्ठ नेता बसवराज बोम्मई बने कर्नाटक के नए CM, मुख्यमंत्री पद की ली शपथ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

6 महीने बाद कोरोना संकट में भी दिल्ली की सीमाओं पर डटे है अन्नदाता, किसान नेता बोले- वैक्सीन से परहेज नहीं

कोरोना काल में कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर पिछले करीब 6 महीने से राजधानी दिल्ली की सीमाओं पर डटे प्रदर्शनकारी किसानों ने अपने खान-पान में नींबू शर्बत और देसी काढ़े का सेवन बढ़ा दिया है। देश में कोरोना वायरस संक्रमण से रोजाना सैकड़ों लोग अपनी जान गवां रहे हैं और हजारों लोग रोजाना बीमारी की चपेट में आकर संक्रमित भी हो रहे हैं। इसके बावजूद आंदोलन कर रहे किसान अपनी मांगों को मनवाए बिना वापस लौटने को तैयार नहीं हो रहे हैं। किसानों ने कोरोना वायरस के खिलाफ रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए जिंक और मल्टी-विटामिन की खुराक लेनी शुरू कर दी है। 

हालांकि, किसानों का कहना है कि वे कोविड-19 टीकाकरण करवाने के लिए तैयार हैं। पंजाब, हरियाणा और उत्तर प्रदेश के सैकड़ों किसान अपनी मांगों को लेकर दिल्ली के सिंघू, टीकरी और गाजीपुर बॉर्डर पर डेरा डाले हुए हैं। कई किसानों को कोरोना वायरस संक्रमित पाए जाने के बाद वहां से हटाया जा रहा है और लक्षण वाले कुछ आंदोलनकारियों का उपचार जारी है। किसान सुखविंदर सिंह ने कहा, ''सिंघू बॉर्डर पर कोरोना वायरस के मामले नहीं हैं। किसान अपना ख्याल रख रहे हैं और वे देसी काढ़ा और मल्टी-विटामिन का सेवन कर रहे हैं। बॉर्डर इलाके में हालात पहले की तरह ही सामान्य हैं। यहां चिंता करने जैसी कोई बात नहीं है।'' 

किसान नेता कुलवंत सिंह ने कहा कि सिंघू बॉर्डर के एक अस्पताल में टीकाकरण केंद्र का संचालन किया जा रहा है। उन्होंने कहा, ''हमारे एक नेता कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए थे। वह अब ठीक हैं। जिन लोगों में लक्षण दिखाई दे रहे हैं, उनकी जांच करवाई जा रही है। बॉर्डर पर आंदोलनरत किसान पोषक आहार ले रहे हैं। बॉर्डर के पास अस्पताल में टीकाकरण अभियान चल रहा है। मैंने पंजाब में टीके की पहली खुराक ली है। अगली खुराक के लिए भी मैं वापस पंजाब जाऊंगा।'' टीकरी बॉर्डर पर किसान नेता बूटा सिंह ने कहा,''हमने टीकाकरण के वास्ते अधिकारियों से टीकरी बॉर्डर पर केंद्र स्थापित करने का अनुरोध किया था लेकिन अब तक कोई कदम नहीं उठाया गया।''