BREAKING NEWS

सर्वदलीय बैठक में बोले PM मोदी- सभी मुद्दों पर चर्चा के लिए हैं तैयार ◾गोताबेया राजपक्षे ने जीता श्रीलंका के राष्ट्रपति का चुनाव, PM मोदी ने दी बधाई◾उन्नाव में किसानों का प्रदर्शन, UPSIDC के अधिकारियों और वाहनों पर किया हमला ◾संसद के शीतकालीन सत्र से पहले प्रहलाद जोशी ने बुलाई सर्वदलीय बैठक, कई नेता हुए शामिल◾राउत और उद्धव ने बाला साहेब को दी श्रद्धांजलि, फडणवीस ने ट्वीट कर लिखा-स्वाभिमान की मिली सीख◾बैंकॉक में अमेरिकी रक्षा मंत्री मार्क एस्पर और राजनाथ सिंह के बीच हुई द्विपक्षीय बैठक◾दिल्ली में हवा की गुणवत्ता में हुआ सुधार, नोएडा और गुरुग्राम में स्थिति फिलहाल गंभीर◾दिल्ली : ITO में लगे BJP सांसद गौतम गंभीर के लापता होने के पोस्टर◾वसीम रिजवी बोले- बगदादी और ओवैसी में कोई अंतर नहीं◾अयोध्या पर AIMPLB की बैठक आज, इकबाल अंसारी करेंगे बहिष्कार◾झारखंड विधानसभा चुनाव: कांग्रेस ने रांची में भाजपा से मुकाबला करने के लिए झामुमो को किया आगे◾महा गतिरोध : सोनिया-पवार की मुलाकात अब सोमवार को होगी ◾शीतकालीन सत्र के बेहतर परिणामों वाला होने की उम्मीद : मोदी◾मुसलमानों को बाबरी मस्जिद के बदले कोई जमीन नहीं लेनी चाहिये - मुस्लिम पक्षकार◾GST रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया को सरल बनाने को लेकर वित्त मंत्री ने की बैठकें ◾भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾विपक्ष में बैठेंगे शिवसेना के सांसद ◾आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने बैंकाक पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ◾किसानों की आवाज को कुचलना चाहती है भाजपा सरकार : अखिलेश◾उत्तरी कश्मीर में पांच संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार ◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

दिल्ली में हवा की गुणवत्ता हुई ‘बेहद खराब’ 

नयी दिल्ली : दिल्ली में आबोहवा की गुणवत्ता बेहद खराब हो गई है। प्रशासन द्वारा वायु प्रदूषण से निपटने के लिए कई अहम कदम उठाए जाने के बावजूद मंगलवार को हवा की गुणवत्ता गिरकर बेहद खराब हो गई। केंद्र की वायु गुणवत्ता पूर्वानुमान और अनुसंधान प्रणाली के अनुसार, दिल्ली का कुल वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 293 दर्ज किया गया जो ‘‘बेहद खराब’’ श्रेणी से महज आठ अंक नीचे है।  उल्लेखनीय है कि 0 से 50 के बीच एक्यूआई ‘‘अच्छा’’ माना जाता है, 50 और 100 के बीच ‘‘संतोषजनक’’, 101 और 200 के बीच ‘‘मध्यम’’ श्रेणी का, 201 और 300 के बीच ‘‘खराब’’, 301 और 400 के बीच ‘‘बेहद खराब’’ और 401 से 500 के बीच एक्यूआई ‘‘गंभीर’’ माना जाता है।

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि वाहनों और निर्माण गतिविधियों से होने वाला प्रदूषण, हवा की गति ,मौसम संबंधी कारक जैसे कई कारण शहर में प्रदूषण के लिए जिम्मेदार हैं।

दिल्ली-राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) में सड़कों की मशीनों से सफाई, कूड़ा जलाने पर प्रतिबंध, ईंट के भट्टों में प्रदूषण नियंत्रण जैसे कदम और संवेदनशील इलाकों में यातायात के सुचारू संचालन के लिए पुलिस की तैनाती समेत कई कदम उठाए गए। शहर में जेनरेटर के इस्तेमाल पर पहले ही प्रतिबंध है लेकिन बिजली की दिक्कत के कारण एनसीआर के कई हिस्सों में इनकी अनुमति है। अधिकारी ने कहा, ‘‘ग्रेडेड रिस्पॉन्स एक्शन प्लान (जीआरएपी) शहर में शुरू किया गया लेकिन जमीनी स्तर पर इसे लागू करने का काम चल रहा है।’’ पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा अधिसूचित जीआरएपी में सीपीसीबी के दैनिक एक्यूआई के आधार पर वायु प्रदूषण पर लगाम लगाने के लिए कदमों को तय किया गया है।

अधिकारी ने बताया कि अगर 48 घंटे के लिए वायु प्रदूषण का स्तर ‘‘बेहद खराब’’ या ‘‘गंभीर’’ दर्ज किया जाता है तो आपात योजना लागू की जाती है लेकिन राष्ट्रीय राजधानी में सर्दियों में देखे गए प्रदूषण को ध्यान में रखते हुए वायु की गुणवत्ता ‘‘खराब’’ श्रेणी में आने पर भी योजना लागू कर दी गई। सीपीसीबी ने वायु प्रदूषण से लड़ने के लिए उठाए कदमों को लागू करने की निगरानी के लिए 41 टीमें गठित की है। सीपीसीबी के आंकड़ों के मुताबिक, मंगलवार को आनंद विहार में एक्यूआई 381, द्वारका सेक्टर 8 में 373, आईटीओ में 296 और जहांगीर पुरी में 321 दर्ज किया गया। आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में पीएम10 का स्तर (हवा में 10 माइक्रोमीटर से कम मोटाई के कणों की मौजूदगी) 274 दर्ज किया गया और पीएम2.5 का स्तर 119 दर्ज किया गया। पीएम10 और पीएम2.5 दोनों खराब श्रेणी के हैं।