BREAKING NEWS

6 जून से शुरू हो सकता है नयी लोकसभा का पहला सत्र◾लड़ाई कितनी भी लंबी हो, कभी पीछे नहीं हटूंगी : सोनिया गांधी◾BJP के पास अगले साल तक राज्यसभा में हो जाएगा बहुमत , जानिए ! Modi का ये फॉर्मूला ◾MP की घटना में शामिल लोग BJP और Modi के हैं मतदाता : ओवैसी◾ADR रिपोर्ट : नयी लोकसभा में 475 सांसद करोड़पति, ये सांसद है सबसे आमिर◾सीबीआई ने कोलकाता के पूर्व पुलिस प्रमुख पूछताछ के लिए तलब किया ◾दाभोलकर हत्याकांड में गिरफ्तार 2 लोगों को एक जून तक CBI हिरासत में भेजा गया ◾PM मोदी ने माँ हीराबेन से लिया आशीर्वाद◾जेटली का स्वास्थ्य बिगड़ने संबंधी खबरें झूठी, निराधार : सरकार ◾आतंकवादी भारत के खिलाफ कोई कदम नहीं उठाएं, इसलिए किया गया था बालाकोट हमला : जनरल रावत ◾अमेठी में सुरेन्द्र सिंह की हत्या पर स्मृति ईरानी बोली - दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलवायी जाएगी◾राफेल सौदे में FIR या CBI जांच का कोई सवाल ही नहीं है : केंद्र ◾नरेन्द्र मोदी 30 मई को लेंगे प्रधानमंत्री पद एवं गोपनीयता की शपथ ◾इमरान खान ने की प्रधानमंत्री मोदी से बात, मिलकर काम करने की इच्छा जताई ◾मोदी सरकार से जनता की अपेक्षायें बढ़ी : बाबा रामदेव◾TOP 20 News 26 MAY : आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾अमेठी पहुंची स्मृति ईरानी, करीबी पूर्व ग्राम प्रधान सुरेंद्र सिंह की अर्थी को दिया कंधा◾राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ में पार्टी के सफाए से राहुल गांधी ज्यादा नाराज !◾अमेठी : सुरेंद्र सिंह के भाई ने बताया- राजनीतिक रंजिश में हुई हत्या◾शारदा घोटाला : सीबीआई ने जारी किया राजीव कुमार के खिलाफ लुकआउट नोटिस ◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

केजरी की नजर में विधायक टुच्चे, कार्यकर्ता गधे : लांबा

नई दिल्ली : चांदनी चौक से आप पार्टी की विधायक अलका लांबा के कांग्रेस में जाने की अटकलों के बीच अब अलका ने एक बार फिर आप पर निशाना साधा है। इस बार उन्होंने सीधे पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल को घेरते हुए उनके ऊपर विधायकों एवं कार्यकर्ताओं के साथ गलत भाषा इस्तेमाल करने एवं दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि पार्टी की मीटिंग में अरविंद केजरीवाल विधायकों एवं कार्यकर्ताओं को टुच्चा कहते हैं।

एक विधायक को तो केजरीवाल ने गधा तक कह दिया, जिसके बाद विधायक ने रोते हुए इस्तीफे की पेशकश कर दी। हालांकि बाद में उन्हें मना लिया गया। लांबा ने कहा कि केजरीवाल को लगता है कि पार्टी उन्हीं की बदौलत खड़ी है। जबकि केजरीवाल खुद में कन्फ्यूज्ड हैं। अलका ने आगे कहा कि दिल्ली विधानसभा में जब राजीव गांधी से भारत रत्न वापस लेने का प्रस्ताव आया तो मुझे ठेस लगी। मुझे भी समर्थन करने को कहा गया। ये कांग्रेस पर दबाव बनाने की रणनीति थी।

जब मैंने पार्टी विधायकों के व्हाट्सएप ग्रुप में प्रस्ताव की कॉपी शेयर की तो मुझसे इस्तीफा मांगा गया। मैं इस्तीफा देने के लिए राजी हो गई। इसके बाद मनीष सिसोदिया ने मुझे फोन करके ऐसा न करने को कहा। कांग्रेस ज्वाइन करने के मुद्दे पर उन्होंने कहा मैंने अपनी राय कांग्रेस को बता दी है अब निर्णय कांग्रेस ही लेगी। लांबा ने कहा कि उन्होंने 20 साल कांग्रेस में सेवा की। इसके बाद आप ज्वाइन की। यहां डेढ़ साल तक संघर्ष किया इसके बाद उन्हें आप ने टिकट दिया। उन्होंने कहा कि अब आप का असली चेहरा सामने आ गया है।

भ्रष्टाचार के खिलाफ शुरू हुए आप के जिस आंदोलन के साथ युवा जुड़े थे,वो आंदोलन अब असर खोता जा रहा है। गठबंधन के मुद्दे पर भी उन्होंने आप को घेरते हुए कहा कि पता नहीं पार्टी क्यों कांग्रेस के साथ गठबंधन करने के लिए लालायित है। इससे उनकी कमजोरी जग-जाहिर हो रही है। वहीं अलका लांबा की आप छोड़ने की खबरों के बीच आप ने इस पर कड़ी प्रतिक्रिया दी है।

पार्टी के प्रवक्ता सौरभ भारद्वाज ने ट्वीट कर कहा कि कांग्रेस ज्वाइन करने के लिए अलका लांबा को आप से इस्तीफा देना होगा, इसका मतलब होगी की लांबा को अपनी विधायक की सीट गंवानी पड़ेगी। जबकि इसी विधायक की कुर्सी के लिए कुछ लोगों ने आप का दामन था। इसमें गौर करने वाली बात यह है कि कुछ लोगों ने कांग्रेस में बीस साल से ज्यादा समय तक सेवा की लेकिन उन्हें विधायक की कुर्सी नहीं मिली। सौरभ भारद्वाज ने ट्वीट में आगे कहा कि इस विधायक की कुर्सी को छोड़ने के लिए साहस की जरूरत होती है।