BREAKING NEWS

SC द्वारा गठित समिति कृषि कानून पर उत्पन्न संकट सुलझा नहीं पाएगी : बादल◾सोनिया ने केरल में चांडी की अगुवाई में बनाई चुनाव प्रबंधन समिति◾राहुल ने जारी किया 'खेती का खून' बुकलेट, जावड़ेकर बोले-कांग्रेस को खून शब्द से बहुत प्यार◾राहुल का वार- हिंदुस्तान के पास नहीं है कोई रणनीति, स्पष्ट संदेश नहीं दिया तो चीन उठाएगा फायदा ◾कृषि कानून पर SC द्वारा गठित समिति के सदस्यों की पहली बैठक, घनवट बोले- निजी राय को नहीं होने देंगे हावी ◾पश्चिम बंगाल : ममता बनर्जी का BJP पर जोरदार हमला, बताया नक्सलियों से ज्यादा खतरनाक◾कोविशील्ड के इस्तेमाल से कोई गंभीर एलर्जी की दिक्कत वाले लोग वैक्सीन नहीं लें : सीरम इंस्टीट्यूट ◾राहुल गांधी ने जारी की 'खेती का खून' बुकलेट, कहा- कृषि क्षेत्र पर पूंजीपतियों का हो जाएगा एकाधिकार ◾ब्रिस्बेन में चौथे टेस्ट में जीत के साथ भारत ने रचा इतिहास, कंगारुओं को सिखाया सबक ◾चीन मुद्दे को लेकर नड्डा के निशाने पर राहुल, पूछा-झूठ बोलना कब बंद करेगी कांग्रेस?◾BJP सांसद का पलटवार- 80 के दशक से जमीन पर कब्जा करके बैठा है चीन, कांग्रेस ने क्यों नहीं की कार्रवाई ◾2019 में TMC को किया आधा, 2021 में कर देंगे सफाया : दिलीप घोष◾अरुणाचल प्रदेश में चीन के गांव को बसाए जाने की रिपोर्ट पर सियासत तेज, राहुल ने PM पर साधा निशाना ◾देश में पिछले 24 घंटे में कोरोना के नए मामले 10 हजार से कम, 137 लोगों ने गंवाई जान ◾कांग्रेस मुख्यालय में आज राहुल गांधी की प्रेस कॉन्फ्रेंस, कृषि कानूनों पर जारी करेंगे बुकलेट◾दुनियाभर में कोरोना का प्रकोप लगातार जारी, मरीजों का आंकड़ा 9.55 करोड़ तक पहुंचा◾TOP 5 NEWS 19 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾विदेशी आतंकियों की मौजूदगी से आतंकवाद विरोधी प्रयास हो रहे कमजोर : टी. एस. तिरुमूर्ति◾गुजरात : सूरत में सड़क किनारे सो रहे प्रवासी मजदूरों को ट्रक ने कुचला, 13 लोगों की मौत ◾शुभेंदु अधिकारी ने ममता के गढ़ में चुनाव लड़ने का किया ऐलान बोले- 50 हजार वोटों से हारेंगी, नहीं तो छोड़ दूंगा राजनीति ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

‘हमारी जांच में पानी के सारे सैंपल फिट’

नई दिल्ली : राजधानी में पानी के सैंपल को लेकर दिल्ली की आप सरकार और केन्द्रीय एजेंसियों के बीच खींचतान जारी है। केन्द्रीय एजेंसी ब्यूरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड (बीआईएस) की जांच में दिल्ली के 11 वाटर सैंपल फेल हो जाने की रिपोर्ट पर शुक्रवार को दिल्ली जलबोर्ड ने नया खुलासा किया। 

जल बोर्ड के उपाध्यक्ष दिनेश मोहनिया ने एक प्रेसवार्ता कर कहा कि पानी के जिन 11 सैंपल को लेकर राजधानी में गंदी राजनीति हो रही है, उन जगहों से सैंपल लेकर जल बोर्ड ने पानी की जांच कराई। इसमें सभी सैंपल पास हो गए। जांच में समाने आया कि यह पानी पीने के लिए बिल्कुल फिट है। सैंपल की टेस्ट रिपोर्ट सार्वजनिक करते हुए मोहनिया ने कहा कि पहला सैंपल दीपक कुमार रॉय के घर से लिया गया जिन्होंने पहले बताया था उनके घर से सैंपल लिया ही नहीं गया। अब उनके घर के पानी का सैंपल पीने के लिए फिट पाया गया है। 

दूसरा सैंपल जनपथ स्थित मंत्री जी के घर का था जहां से हम सैंपल ले नहीं पाए हैं। तीसरा सैंपल कृषि भवन का था और वो भी पीने के लिए फिट पाया गया है। इसके बाद मंडोली एक्सटेंशन से अनिल कुमार और अशोक नगर से अंजू का नाम था जिनके घर का पानी का सैंपल भी पीने के लिए फिट पाया गया। सातवां और आठवां सैंपल बुराड़ी से पूजा शर्मा और मुकुंदपुर से रेखा देवी के घर से लिया गया था और ये सैंपल भी पीने के लिए फिट पाए गए। 

इसके अलावा नंदनगरी सीमापुरी के इलियास के घर से लिया गया सैंपल भी पीने के लिए फिट पाया गया। लिस्ट में एक और नाम है भगवान दीन जिनका सैंपल भी पीने के लिए फिट पाया गया है। इस तरह 11 में से नौ सैंपल पीने के लिए फिट पाये गए हैं। एक घर बंद पाया गया और एक घर के पानी में क्लोरीन की मात्रा कम थी।

एक में क्लोरीन तो दूसरा घर मिला बंद

जलबोर्ड उपाध्यक्ष ने बताया कि छठा पानी का सैंपल जनता विहार की गीता देवी के घर से लिया गया था वो क्लोरीन की मात्रा कम होने की वजह से पीने के लिए पूरी तरह से ठीक नहीं है। हालांकि इस पानी को भी पिया जा सकता है क्योंकि हमारे 39 मानकों में से सिर्फ एक मानक में ये सैंपल फेल हुआ है। वहीं बीआईएस की लिस्ट में एक नाम सोनिया विहार के विनोद कुमार का भी था पर जांच में सामने आया कि इस पते पर पिछले तीन महीनों से ताला लगा हुआ है।

टेस्टिंग के पूरे प्रोटोकॉल का ध्यान रखा गया 

मोहनिया ने कहा कि टेस्टिंग के पूरे प्रोटोकॉल का ध्यान रखा गया है और हमने बाकायदा सैंपल लेने की रिकॉर्डिंग करवायी, सैंपल वहीं के वहीं सील किये गए, लेबोरेटरी भेजे गये। पानी के अलग-अंलग सैंपल्स को तीन लेबोरेटरी में टेस्ट कराया गया। आमतौर पर 29 मानकों पर सैंपल टेस्ट किया जाता है पर हमारी कुछ एडवांस्ड लेबोरेटरी में 2 और मानकों पर पानी टेस्ट करने की सुविधा है और लगभग सभी मानकों पर पानी पीने फिट पाया गया है।

‘पासवान ने पानी का मुद्दा क्यों उठाया’

मोहनिया ने कहा कि केन्द्रीय मंत्री पासवान ने पानी का ये मुद्दा क्यों उठाया। यह समझने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि आरओ को लेकर एनजीटी में एक केस था, जिसमें ये बोला गया था कि दिल्ली में जहां पर भी पानी का टीडीएस 200 से कम है वहां से आरओ हटाया जाए। पिछले दिनों में पानी पर जितना हंगामा हुआ और बोला गया कि यह पानी पीने योग्य नहीं है।

उस पर शुक्रवार को भी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई और कोर्ट ने भी कहा है की दिल्ली का पानी पीने के लिए फिट है और वहां से आरओ हटाए जाने चाहिए। आरओ कंपनियों के वकीलों ने कोर्ट में इसी रिपोर्ट का हवाला देकर कहा की बीआईएस की रिपोर्ट कहती है की पानी पीने के लिए फिट नहीं है इसलिए आरओ को दिल्ली में लगाने की प्रक्रिया को लगातार चलते रहने देना चाहिए।