BREAKING NEWS

CM गहलोत का दावा- सरकार गिराने के लिए हुई खरीद-फरोख्त, हमारे पास है प्रूफ◾रक्षा मंत्री दो दिन के दौरे पर जाएंगे जम्मू-कश्मीर और लद्दाख, सेना प्रमुख भी होंगे साथ ◾CBSE Results 2020 : लाखों स्टूडेंट का इंतजार हुआ खत्म, 10वीं क्लास के एग्जाम का रिजल्ट जारी ◾World Youth Skills Day : PM मोदी बोले-कौशल के प्रति आकर्षण देता है जीने की ताकत◾भारत की वैश्विक रणनीति हो रही फेल, केंद्र सरकार की नीतियों के कारण घट रहा देश का सम्मान : राहुल◾देहरादून के चुक्खूवाला क्षेत्र में तेज बारिश से ढहा मकान, 3 लोगों की मौत, रेस्क्यू ऑपरेशन जारी◾कोविड-19 : देश में संक्रमितों की संख्या 9 लाख 36 हजार के पार, 3 लाख 20 हजार एक्टिव केस◾भाजपा में नहीं जाऊंगा, उनके खिलाफ लंबी लड़ाई लड़ी है : सचिन पायलट ◾भारत-EU शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे PM मोदी, कोरोना संकट पर रहेगा फोकस◾World Corona : दुनियाभर में पॉजिटिव मामलों की संख्या 1 करोड़ 33 लाख के करीब, अब तक 577843 लोगों की मौत ◾LAC विवाद : भारत-चीन के बीच करीब 14 घंटे तक चली कमांडर लेवल बैठक, तनाव कम करने पर हुई बात◾US ने चीन को दिया झटका, हांगकांग को तरजीह देने वाले आदेश पर डोनाल्ड ट्रंप ने किये हस्ताक्षर◾असम में बाढ़ की स्थिति गंभीर, अबतक 85 मौतें, 33 लाख लोग हुए प्रभावित ◾दिल्ली : 24 घंटे में कोरोना से 35 लोगों की मौत, 1606 नए मामले◾राजस्थान में सियासी घमासान के बीच पायलट ने कहा-राम राम सा! तो विश्वेंद्र व मीणा ने पूछा क्या गलती की?◾राजस्थान: सियासी उठापटक के बीच कल सुबह दिल्ली में प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे सचिन पायलट ◾महाराष्ट्र में कोरोना का विस्फोट जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 2.67 लाख के पार, बीते 24 घंटे में 6,741 नए केस◾कानपुर शूटआउट : गिरफ्तार शशिकांत पांडेय का खुलासा, विकास के कहने पर ही हुई 8 पुलिसकर्मियों की हत्या◾केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- देश में कोरोना के 50 फीसदी मामले महाराष्ट्र और तमिलनाडु से◾बिहार में कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए 16 से 31 जुलाई तक लगाया गया लॉकडाउन ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

25 को शुरू होगी बोटेनिकल गार्डन-कालकाजी लाइन

नई दिल्ली: दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (डीएमआरसी) ने बोटेनिकल गार्डन-कालकाजी लाइन की शुरुआत को लेकर लगाए जा रहे सभी कयासों को दर किनार करते हुए स्पष्ट कर दिया है कि यह लाइन आगामी सोमवार को ही शुरू होगी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी इसकी शुरुआत बोटेनिकल गार्डन से दोपहर 12 बजे करेंगे। इसके बाद शाम पांच बजे तक यह लाइन आम लोगों के लिए खोल दी जाएगी। इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ एवं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी मौजूद होंगे। इस लाइन पर ड्राइवर लेस मेट्रो चलाए जाने को लेकर उठ रही शंकाओं को दूर करने के लिए डीएमआरसी ने शुक्रवार को इस लाइन का प्री ऑपरेशन डेमो भी दिखाया।

इस संबंध में डीएमआरसी के कार्यकारी निदेशक (कॉर्पोरेट कम्यूनिकेशन) अनुज दयाल ने बताया कि कालिंदी कुंज डिपो में हुए हादसे से इस लाइन पर कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। दोनों अलग-अलग घटनाएं हैं। उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुरक्षा हमारी सबसे बड़ी जिम्मेदारी है। मजेंटा लाइन के इस सेक्शन का ऑपरेशन संचार आधारित ट्रेन नियंत्रण (सीबीटीसी) सिस्टम पर आधारित है। इसमें गलती की गुंजाइश न के बराबर है। कालिंदी कुंज डिपो हादसे और इस लाइन के ऑपरेशन में कोई मेल नहीं हैं। उन्होंने कहा कि इस लाइन पर ड्राइवर लेस मेट्रो को लेकर भ्रम फैलाया जा रहा है जबकि इसे समझने की जरूरत है।

इस लाइन पर चलने वाली सभी ट्रेनें ड्राइवर लेस ऑपरेशन में पूरी तरह सक्षम हैं लेकिन ट्रेन के बोर्ड पर एक ऑपरेटर तैनात रखा जाएगा जो ट्रेन पर नियंत्रण रखेगा। उन्होंने कहा कि यात्रियों की सुुरक्षा के मद्देनजर सीबीटीसी के अलावा इस लाइन पर प्लेटफॉर्म सिक्योरिटी डोर होंगे जो ट्रेन के स्टेशन पर रुकने के बाद ही खुलेंगे। इस पर लाइन चलने वाली मेट्रो के सभी कोच में लाल,नीले एवं गुलाबी रंग की सीटंे होंगी। ट्रेन के पहले कोच में गुलाबी रंग की सीटंे होंगी। क्योंकि यह कोच महिलाओं के लिए आरक्षित होता है। इसके अलावा अन्य कोच में नीले एवं लाल रंग की सीटें होंगी। इनमें से जो भी सीटें आरक्षित वे ज्यादा गहरे लाल एवं नीले रंग में होंगी। अनुज दयाल ने बताया कि यह लाइन स्टैंडर्ड गेज होगी लेकिन इस पर ब्रॉड गेज के कोच लगेंगे। इनमें स्टैंडर्ड लाइन पर चलने वाले कोच से ज्यादा यात्री बैठ सकेंगे।

ड्राइवर लेस मेट्रो के परिचालन पर लोगों से सुझाव लेगा डीएमआरसी ड्राइवर लेस मेट्रो को लेकर हो रही फजीहत के चलते दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (डीएमआरसी) अब इसका परिचालन दो साल बाद शुरू करेगा। इन दो सालों के दौरान डीएमआरसी आम लोगों एवं तकनीकी विशेषज्ञों से इस मुद्दे पर सुझाव भी एकत्रित करेगा। इन सुझावों पर गंभीरता से विचार करने के बाद डीएमआरसी ड्राइवर लेस ट्रेन के परिचालन पर आगे कदम बढ़ाएगा। हालांकि डीएमआरसी ने इस मुद्दे पर स्पष्ट कर दिया है कि इसे ड्राइवर लेस ट्रेन की तकनीकी खामी से जोड़कर कतई न देखा जाए।

डीएमआरसी के कार्यकारी निदेशक (कॉर्पोरेट कम्यूनिकेशन) अनुज दयाल ने बताया कि ड्राइवर लैस ट्रेन कुआलालम्पुर (मलेशिया), नार्वे एवं कई पश्चिमी देशों में सफलतापूर्वक चल रही हैं। हमारे यहां जो मेट्रो हादसा हुआ वह तकनीकी फेल्युअर नहीं बल्कि मानवीय गलती है। मजेंटा लाइन पर अत्याधुनिक ऑटोमेशन सिस्टम तैनात हैं जो इस तरह की घटना को नहीं होने देगा। उन्होंने कहा कि टेक्निकल एडवांसमेंट की दिशा में ड्राइवर लेस ट्रेन बड़ी उपलब्धि है लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि लोगों की सुरक्षा के साथ कोई समझौता किया जा रहा है। लोगों की सुरक्षा हमारे लिए सबसे जरूरी है।

हमारी मुख्य खबरों के लिए यहां क्लिक करें।