BREAKING NEWS

आज का राशिफल ( 28 मई 2022)◾आर्यन खान ड्रग्स मामला : NCB ने क्रूज मामले की बेहद ढीली जांच की - SIT◾RR vs RCB ( IPL 2022) : बटलर के चौथे शतक से राजस्थान रॉयल्स फाइनल में , 29 मई को गुजरात से होगा मुकाबला ◾राजनाथ ने भारतीय नौसेना के पोत आईएनएस घड़ियाल के चालक दल से बात की◾केंद्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने राहुल गाँधी पर साधा निशाना◾CBI ने ‘वीजा रिश्वत’ मामले में कार्ति चिदंबरम से आठ घंटे पूछताछ की◾मंकीपॉक्स की चपेट में आए 20+ देश! जानें कैसे फैल रही यह बिमारी.. WHO ने दी अहम जानकारियां ◾ Ladakh News: लद्दाख दुर्घटना को लेकर देशवासियों को लगा जोरदार झटका, पीएम मोदी समेत कई बड़े नेताओं ने जताया दुख◾ UCC लागू करने की दिशा में उत्तराखंड सरकार ने बढ़ाया कदम, CM धामी बताया कब से होगा लागू◾UP News: योगी पर प्रहार करते हुए अखिलेश यादव बोले- यूपी को किया तहस नहस! शिक्षा व्यवस्था पर भी कसा तंज◾ Gyanvapi Case: सोमवार को हिंदू और मुस्लिम पक्ष को मिलेंगी सर्वे की वीडियो और फोटो◾ RR vs RCB ipl 2022: राजस्थान ने टॉस जीतकर किया गेंदबाजी का फैसला, यहां देखें दोनों टीमों की प्लेइंग XI◾नेहरू की पुण्यतिथि पर राहुल गांधी का मोदी पर प्रहार, बोले- 8 सालों में भाजपा ने लोकतंत्र को किया कमजोर◾Sri Lanka crisis: आर्थिक संकट के चलते श्रीलंका में निजी कंपनियां भी कर सकेगी तेल आयात◾ नजर नहीं है नजारों की बात करते हैं, जमीं पे चांद सितारों की बात करते...शायराना अंदाज में योगी का विपक्ष पर निशाना ◾Ladakh Accident News: लद्दाख के तुरतुक में हुआ खौफनाक हादसा, सेना की गाड़ी श्योक नदी में गिरी, 7 जवानों की हुई मौत◾ कर्नाटक में हिन्दू लड़के को मुस्लिम लड़की से प्यार करने की मिली सजा, नाराज भाईयों ने चाकू से गोदकर की हत्या◾कांग्रेस को मझदार में छोड़ अब हार्दिक पटेल कर रहे BJP के जहाज में सवारी की तैयारी? दिए यह बड़े संकेत ◾RBI ने कहा- खुदरा महंगाई पर दबाव डाल सकती है थोक मुद्रास्फीति की ऊंची दर◾ SC से सपा नेता आजम खान को राहत, जौहर यूनिवर्सिटी के हिस्सों को गिराने की कार्रवाई पर रोक◾

'बुली बाई' ऐप: मास्टरमांइड नीरज बिश्नोई को 7 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा गया

नए साल पर देश को हिलाकर रख देने वाली खबर सामने आई, जिससे काफी उथल-पुथल का माहौल बन गया। इस मामले में इंजीनियरिंग के छात्र और 'बुली बाई' ऐप के निर्माता नीरज बिश्नोई को एक स्थानीय अदालत ने सात दिन के लिए पुलिस हिरासत में भेज दिया है। बिश्नोई को एक विशेष समुदाय की महिलाओं को बदनाम करने के लिए एक मंच बनाने के लिए असम से दिल्ली पुलिस ने गिरफ्तार किया था। 

बुली बाई एप मामले में दिल्ली पुलिस को मिली सफलता  

बिश्नोई को गिटहब पर 'बुली बाई' का मुख्य साजिशकर्ता और निर्माता माना जाता है। ऐप के मुख्य ट्विटर अकाउंट धारक को दिल्ली पुलिस के विशेष प्रकोष्ठ के आईएफएसओ (इंटेलिजेंस फ्यूजन एंड स्ट्रैटेजिक ऑपरेशंस यूनिट) ने गिरफ्तार किया गया है। दिल्ली पुलिस ने बिश्नोई की सात दिन की हिरासत की मांग की थी, जिसे गुरुवार को डिप्टी मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया गया था। 

आरोपी को इतने दिन की हिरासत में भेजा गया 

मजिस्ट्रेट ने पुलिस को एक सप्ताह के लिए उसकी हिरासत की अनुमति दी। आरोपी को असम से आईएफएसओ की एक टीम ने डीसीपी के.पी.एस मल्होत्रा के नेतृत्व में पकड़ा था। वह असम के जोरहाट गांव का रहने वाला है और वेल्लोर इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, भोपाल से बी.टेक, कंप्यूटर साइंस, सेकेंड ईयर की पढ़ाई कर रहा था। 

पुलिस के अनुसार, बिश्नोई ने अक्टूबर में उन महिलाओं की एक सूची बनाई थी, जिन्हें वह अपने डिजिटल उपकरणों, एक लैपटॉप और सेल फोन पर ऑनलाइन बदनाम करना चाहता था। वह पूरे सोशल मीडिया पर महिला कार्यकर्ताओं को ट्रेस कर रहा था और उनकी तस्वीरें डाउनलोड करता था। 

सुरक्षा चूक: पंजाब के मुख्य सचिव ने केंद्र को सौंपी रिपोर्ट, SC ने की संयुक्त कमेटी बनाने की सिफारिश

ये है पूरा मामला, गिटहब ऐप  

1 जनवरी को गिटहब ऐप के जरिए एक खास धर्म की कई महिलाओं की तस्वीरें पोस्ट की गईं। इनमें पत्रकार, सामाजिक कार्यकर्ता, छात्र और प्रसिद्ध हस्तियां शामिल थीं। यह सुल्ली डील के विवाद के छह महीने बाद हुआ। इंजीनियरिंग के छात्र विशाल कुमार झा 'बुली बाई' के अनुयायियों में से एक था, जिसके जरिये पुलिस को उन सभी का सुराग मिला। 

होस्टिंग प्लेटफॉर्म गिटहब ने 'सुली डील्स' को जगह दी और उस पर 'बुली बाई' भी बनाई गई। बाद में विवाद शुरू होने के बाद गिटहब ने यूजर 'बुली बाई' को अपने होस्टिंग प्लेटफॉर्म से हटा दिया। लेकिन तब तक इसने देशव्यापी विवाद को जन्म दे दिया था। ऐप को एटदरेट बुली बाई नाम के एक ट्विटर हैंडल द्वारा भी प्रचारित किया जा रहा था, जिसमें एक खालिस्तानी समर्थक की डिस्प्ले तस्वीर थी।