BREAKING NEWS

सोनभद्र घटना : ममता ने भाजपा पर साधा निशाना ◾मोदी-शी की अनौपचारिक शिखर बैठक से पहले अगले महीने चीन का दौरा करेंगे जयशंकर ◾दीक्षित के बाद दिल्ली कांग्रेस के सामने नया नेता तलाशने की चुनौती ◾अन्य राजनेताओं से हटकर था शीला दीक्षित का व्यक्तित्व ◾जम्मू कश्मीर मुद्दे के अंतिम समाधान तक बना रहेगा अनुच्छेद 370 : फारुक अब्दुल्ला ◾दिल्ली की सूरत बदलने वाली शिल्पकार थीं शीला ◾शीला दीक्षित के आवास पहुंचे PM मोदी, उनके निधन पर जताया शोक ◾शीला दीक्षित कांग्रेस की प्रिय बेटी थीं : राहुल गांधी ◾जीवनी : पंजाब में जन्मी, दिल्ली से पढाई कर यूपी की बहू बनी शीला, फिर बनी दिल्ली की मुख्यमंत्री◾शीला दीक्षित ने दिल्ली एवं देश के विकास में दिया योगदान : प्रियंका◾शीला दीक्षित के निधन पर दिल्ली में 2 दिन का राजकीय शोक◾Top 20 News 20 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शीला दीक्षित के निधन पर जताया दुख ◾दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित का निधन, PM मोदी सहित कई नेताओं ने जताया दुख◾दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का 81 साल की उम्र में निधन◾लाशों पर राजनीति करना कांग्रेस की पुरानी परंपरा : स्वतंत्र देव सिंह◾प्रियंका की हिरासत पर पंजाब के CM अमरिंदर सिंह ने जताया विरोध◾सोनभद्र हत्याकांड : पीड़ित परिवार से मुलाकात के बाद प्रियंका गांधी ने खत्म किया धरना ◾हम हथकंडों से डरने वाले नहीं, दलितों और आदिवासियों के लिए लड़ाई जारी रहेगी : राहुल◾कांग्रेस ने योगी सरकार पर साधा निशाना, कहा - उप्र में ''जंगल राज'' सोनभद्र में हुई संस्थागत हत्याएं◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

अदालत ने होटल मालिक एसोसिएशन को ओयो होटलों का बहिष्कार करने से रोका

दिल्ली उच्च न्यायालय ने मेजबानी कंपनी ओयो को कोई भी नोटिस जारी करने, उसका बहिष्कार करने या उसपर प्रतिबंध लगाने से विभिन्न होटल मालिक एसोसिएशनों को रोक दिया है। 

अंतरिम आदेश में अदालत ने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है कि होटल मालिक एसोसिएशन्स की कार्रवाई अन्य होटल मलिकों और सेवा प्रदाताओं को ओयो के नाम से काम कर रही कंपनी ओरावेल स्टेज प्राइवेट लिमिटेड के साथ हुए समझौते का उल्लंघन करने को मजबूर कर रही है। 

अदालत ने एसोसिएशन को नोटिस जारी करने के साथ ही इस मामले को सुनवाई के लिये पांच अगस्त को सूचीबद्ध कर दिया। 

अदालत ने कहा कि ओयो का अन्य होटल मालिकों और सेवा प्रदाताओं के साथ वैध समझौता है और एसोसिएशनों द्वारा कंपनी के बहिष्कार का अह्वान पहली नजर में अवैध/गैरकानूनी होगा। 

न्यायमूर्ति जयंत नाथ ने अपने अंतरिम आदेश में कहा कि पहली नजर में ओयो मामला बना कर पेश करने में सफल रहा है। बचाव पक्ष (होटल मालिक एसोसिएशन) को अगले आदेश तक नोटिस जारी करने, उसका बहिष्कार करने या उसपर प्रतिबंध लगाने से रोका जाता है। बचाव पक्ष पहले से जारी किसी नोटिस को लागू करने के लिये भी दबाव नहीं बनाएगा। 
ओयो ने एसोसिएशन और उसके सदस्यों द्वारा बगैर तारीख वाले नोटिस के माध्यम से किसी भी तरह की धमकी देने पर एकतरफा रोक लगाने के लिये अदालत में याचिका दायर की थी। 

अदालत ने कहा कि एसोसिएशन द्वारा कथित रूप से जारी नोटिस के अवलोकन से पता चलता है कि उसने 20 जून से ओयो का बहिष्कार करने और उसके कमरों को ब्लाक करने जैसा कदम उठाकर सभी होटलों से ओयो के खिलाफ राष्ट्रव्यापी विरोध का समर्थन करने का आह्वान किया है।