BREAKING NEWS

सोनभद्र घटना : ममता ने भाजपा पर साधा निशाना ◾मोदी-शी की अनौपचारिक शिखर बैठक से पहले अगले महीने चीन का दौरा करेंगे जयशंकर ◾दीक्षित के बाद दिल्ली कांग्रेस के सामने नया नेता तलाशने की चुनौती ◾अन्य राजनेताओं से हटकर था शीला दीक्षित का व्यक्तित्व ◾जम्मू कश्मीर मुद्दे के अंतिम समाधान तक बना रहेगा अनुच्छेद 370 : फारुक अब्दुल्ला ◾दिल्ली की सूरत बदलने वाली शिल्पकार थीं शीला ◾शीला दीक्षित के आवास पहुंचे PM मोदी, उनके निधन पर जताया शोक ◾शीला दीक्षित कांग्रेस की प्रिय बेटी थीं : राहुल गांधी ◾जीवनी : पंजाब में जन्मी, दिल्ली से पढाई कर यूपी की बहू बनी शीला, फिर बनी दिल्ली की मुख्यमंत्री◾शीला दीक्षित ने दिल्ली एवं देश के विकास में दिया योगदान : प्रियंका◾शीला दीक्षित के निधन पर दिल्ली में 2 दिन का राजकीय शोक◾Top 20 News 20 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने शीला दीक्षित के निधन पर जताया दुख ◾दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित का निधन, PM मोदी सहित कई नेताओं ने जताया दुख◾दिल्ली की पूर्व मुख्यमंत्री शीला दीक्षित का 81 साल की उम्र में निधन◾लाशों पर राजनीति करना कांग्रेस की पुरानी परंपरा : स्वतंत्र देव सिंह◾प्रियंका की हिरासत पर पंजाब के CM अमरिंदर सिंह ने जताया विरोध◾सोनभद्र हत्याकांड : पीड़ित परिवार से मुलाकात के बाद प्रियंका गांधी ने खत्म किया धरना ◾हम हथकंडों से डरने वाले नहीं, दलितों और आदिवासियों के लिए लड़ाई जारी रहेगी : राहुल◾कांग्रेस ने योगी सरकार पर साधा निशाना, कहा - उप्र में ''जंगल राज'' सोनभद्र में हुई संस्थागत हत्याएं◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

ओ-जोन की सीमा तय करने को लेकर डीडीए पर प्रदर्शन

नई दिल्ली : डीडीए मुख्यालय के बाहर बदरपुर इलाके के आरडब्लूए ने धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान काफी संख्या में लोग मौजूद रहे और हाथ में बैनर लिए डीडीए के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इन लोगों की मांग है कि डीडीए जल्द से जल्द ओ-जोन की एक सीमा तय करें और उसकी रिपोर्ट दे। 

मास्टर प्लान 2021 के तहत यमुना किनारे वाले 300 मीटर तक के एरिया को ओ-जोन में रखा गया है, जिसकी वजह से इस एरिया में कंस्ट्रक्शन का काम नही किया जा सकता, लेकिन लोगों का कहना है कि यदि वो 5 किलोमीटर दूर रिहायशी एरिया में भी कोई निर्माण कार्य करते है वो एमसीडी वाले ओ-ज़ोन एरिया बताकर मकान को सील कर या तोड़कर चले जाते हैं। 

ये लोग अपने एरिया को ओ-जोन की सीमा से बाहर रखने की मांग कर रहे हैं। वहीं ओ-जोन के नाम पर डीडीए हो या एमसीडी अधिकारी उन्हें प्रताड़ित करते रहते हैं। लोगों ने बताया कि वह 10 सालों से संघर्ष कर रहे हैं। डीडीए के अधिकारियों से लेकर मुख्यमंत्री तक अपनी गुहार लगा चुके है लेकिन आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला।