BREAKING NEWS

महा गतिरोध : सोनिया-पवार की मुलाकात अब सोमवार को होगी ◾शीतकालीन सत्र के बेहतर परिणामों वाला होने की उम्मीद : मोदी◾मुसलमानों को बाबरी मस्जिद के बदले कोई जमीन नहीं लेनी चाहिये - मुस्लिम पक्षकार◾GST रिटर्न दाखिल करने की प्रक्रिया को सरल बनाने को लेकर वित्त मंत्री ने की बैठकें ◾भारत ने अग्नि-2 बैलिस्टिक मिसाइल का किया सफल परीक्षण◾विपक्ष में बैठेंगे शिवसेना के सांसद ◾आसियान रक्षा मंत्रियों की बैठक में हिस्सा लेने बैंकाक पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ◾किसानों की आवाज को कुचलना चाहती है भाजपा सरकार : अखिलेश◾उत्तरी कश्मीर में पांच संदिग्ध आतंकवादी गिरफ्तार ◾‘शिवसेना राजग की बैठक में भाग नहीं लेगी’ ◾TOP 20 NEWS 16 November : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾रामलीला मैदान में मोदी सरकार की ‘जनविरोधी नीतियों’ के खिलाफ विपक्ष करेगी बड़ी रैली ◾झारखंड विधानसभा चुनाव : भाजपा ने तीन उम्मीदवारों की चौथी सूची की जारी◾सबरीमला मंदिर के कपाट खुले, पुलिस ने 10 महिलाओं को वापस भेजा◾राफेल पर CM अरविंद केजरीवाल का प्रकाश जावड़ेकर को जवाब, ट्वीट कर कही ये बात ◾दिल्ली: राफेल डील में SC से क्लीन चिट के बाद AAP कार्यालय के पास भाजपा का प्रदर्शन◾नवाब मलिक ने फड़णवीस पर साधा निशाना, कहा- हार चुके सेनापति को अपनी हार स्वीकार करनी चाहिए◾गोवा में मिग 29 K लडाकू विमान दुर्घटनाग्रस्त, दोनों पायलट सुरक्षित◾योगी ने स्वाती सिंह को किया तलब, सीओ को धमकाने का ऑडियो हुआ था वायरल◾संजय राउत का BJP पर शायराना वार, लिखा- 'यारों नए मौसम ने अहसान किया...'◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

ओ-जोन की सीमा तय करने को लेकर डीडीए पर प्रदर्शन

नई दिल्ली : डीडीए मुख्यालय के बाहर बदरपुर इलाके के आरडब्लूए ने धरना प्रदर्शन किया। इस दौरान काफी संख्या में लोग मौजूद रहे और हाथ में बैनर लिए डीडीए के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इन लोगों की मांग है कि डीडीए जल्द से जल्द ओ-जोन की एक सीमा तय करें और उसकी रिपोर्ट दे। 

मास्टर प्लान 2021 के तहत यमुना किनारे वाले 300 मीटर तक के एरिया को ओ-जोन में रखा गया है, जिसकी वजह से इस एरिया में कंस्ट्रक्शन का काम नही किया जा सकता, लेकिन लोगों का कहना है कि यदि वो 5 किलोमीटर दूर रिहायशी एरिया में भी कोई निर्माण कार्य करते है वो एमसीडी वाले ओ-ज़ोन एरिया बताकर मकान को सील कर या तोड़कर चले जाते हैं। 

ये लोग अपने एरिया को ओ-जोन की सीमा से बाहर रखने की मांग कर रहे हैं। वहीं ओ-जोन के नाम पर डीडीए हो या एमसीडी अधिकारी उन्हें प्रताड़ित करते रहते हैं। लोगों ने बताया कि वह 10 सालों से संघर्ष कर रहे हैं। डीडीए के अधिकारियों से लेकर मुख्यमंत्री तक अपनी गुहार लगा चुके है लेकिन आश्वासन के अलावा कुछ नहीं मिला।