BREAKING NEWS

कपटी 1 दिन में प्राइवेट नंबर पर 5 हजार से ज्यादा मैसेज नहीं आ सकते.....सिद्धू का केजरीवाल पर निशाना◾कर्नाटक : मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई अपने पहले बजट की तैयारियों में जुटे ◾गणतंत्र दिवस के बाद टाटा को सौंप दी जाएगी एयर इंड़िया, जानें अधिग्रहण की पूरी जानकारी◾पाक PM ने की नवजोत सिद्धू को मंत्रिमंडल में लेने की सिफारिश, अमरिंदर सिंह ने किया बड़ा खुलासा ◾कांग्रेस ने बेरोजगारी को लेकर केंद्र पर कसा तंज, कहा- कोरोना काल में बढ़ी अमीरों और गरीबों के बीच खाई ◾पंजाब: NDA में पूरा हुआ बंटवारे का दौर, नड्डा ने किया ऐलान- 65 सीटों पर BJP लड़ेगी चुनाव, जानें पूरा गणित ◾शरजील इमाम पर चलेगा देशद्रोह का मामला, भड़काऊ भाषणों और विशेष समुदाय को उकसाने के लगे आरोप ◾ गणतंत्र दिवस: 25-26 जनवरी को दिल्ली मेट्रो की पार्किंग सेवा रहेगी बंद, जारी की गई एडवाइजरी◾महिला सशक्तिकरण की बात कर रही BJP की मंत्री हुई मारपीट की शिकार, ऑडियो वायरल, जानें मामला? ◾UP चुनाव: SP को लगा तीसरा बड़ा झटका, BJP में शामिल हुए विधायक सुभाष राय, टिकट कटने से थे नाराज ◾देश में कोरोना के मामलों में 15 फरवरी तक आएगी कमी, कुछ राज्यों और मेट्रो शहरों में कम हुए कोविड केस◾UP चुनाव: BJP के साथ गठबंधन नहीं होने के जिम्मेदार हैं आरसीपी, JDU अध्यक्ष बोले- हमने किया था भरोसा.. ◾फडणवीस का उद्धव ठाकरे को जवाब, बोले- 'जब शिवसेना का जन्म भी नहीं हुआ था तब से BJP...'◾BJP ने जारी की पांचवी सूची, महज एक उम्मीदवार के नाम की हुई घोषणा, UP कोर ग्रुप की बैठक में मंथन जारी ◾राष्ट्रीय बाल पुरस्कार: PM मोदी ने बच्चों से "वोकल फॉर लोकल’’ अभियान को आगे बढ़ाने का किया आग्रह◾गोवा चुनाव: TMC ने उठाए BJP की मंशा पर सवाल, कहा- 'डबल इंजन सरकार' का नारा तानाशाही का संकेत ◾राहुल गांधी ने केंद्र को घेरा, कहा- गरीब और मध्य वर्ग के लोग सरकार की ‘आर्थिक महामारी’ के शिकार हुए◾विधानसभा चुनावः दिल्लीवासियों से केजरीवाल ने चार राज्यों में प्रचार के लिए मांगी मदद ◾MP में नए 'स्टील्थ ओमीक्रॉन' ने दी दस्तक, इंदौर में 21 मामले आए सामने, फेफड़ों पर हो रहा संक्रमण का असर ◾राकेश टिकैत ने हिंदू-मुस्लिम और जिन्ना को बताया सरकारी मेहमान, बोले-सरकार के प्रवचन में नहीं आना◾

डीटीसी की नई ई-बसों के डिपो हो रहे तैयार, दिल्लीवासी 2022 की शुरुआत से कर सकेंगे सफर

दिल्ली परिवहन निगम (डीटीसी) की इलेक्ट्रिक बसों के डिपो राष्ट्रीय राजधानी में तैयार हो रहे हैं। यह इलेक्ट्रिक बसें 2022 की शुरुआत से शहर की सड़कों पर चलते दिखेंगे। आधिकारिक सूत्रों की माने तो डिपो बनाने में अभी तीन महीने से अधिक का समय लग सकता है। वहीं दूसरी तरफ कोविड के चलते जो बसें सितंबर-अक्तूबर में आनी शुरू होनी थी अब वह नवंबर तक मिलने की उम्मीद है। 

डीटीसी के प्रबंध निदेशक, आशीष कुंद्रा ने नवनिर्मित डिपो की दो तस्वीरें कैप्शन के साथ साझा कीं, जिसमें लिखा था, हैशटैग दिल्ली में इलेक्ट्रिक बसों के लिए डिपो तैयार हो रहे हैं! सार्वजनिक परिवहन बदलने के लिए तैयार है। दिल्ली कैबिनेट ने मार्च में केंद्र की 'फास्टर एडॉप्शन एंड मैन्युफैक्च रिंग ऑफ हाइब्रिड एंड इलेक्ट्रिक व्हीकल्स इन इंडिया (एफएएमई) फेज-2' स्कीम के तहत डीटीसी द्वारा 300 लो-फ्लोर फुली इलेक्ट्रिक एयर कंडीशन्ड बसों को शामिल करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी थी।

डीटीसी के उप मुख्य महाप्रबंधक (यातायात और जनसंपर्क), रविंदर सिंह मिन्हास ने बताया था कि दिल्ली को जनवरी से अपनी पहली 300 ई-बसें मिलनी शुरू हो जाएंगी। फेम योजना के तहत बसें एक बार चार्ज करने पर कम से कम 140 किलोमीटर की दूरी तय कर सकेंगी। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, इन बसों को डीटीसी द्वारा नियंत्रित किया जाएगा और निजी संस्थाओं द्वारा संचालित किया जाएगा। इस व्यवस्था के तहत, परिचालक चालक उपलब्ध कराएगा और डीटीसी बसों में अपने स्वयं के कंडक्टर की प्रतिनियुक्ति करेगा।

अगस्त 2020 में, दिल्ली के परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी को 2021 के अंत तक 2,000 इलेक्ट्रिक बसें मिलेंगी। हालांकि, कुछ महीने पहले, बुनियादी ढांचे की कमी को इसके रोलआउट में देरी के कारण के रूप में बताया गया था। दिल्ली और केंद्र सरकार दोनों जलवायु परिवर्तन के कारण पर्यावरणीय समस्याओं की भविष्य की चुनौतियों से बेहतर तरीके से निपटने के लिए परिवहन के हरित और टिकाऊ साधन को सक्रिय रूप से बढ़ावा दे रहे हैं।