BREAKING NEWS

शीतकालीन सत्रः राज्यसभा से निलंबित सदस्यों के मुद्दे पर सरकार-विपक्ष में हो रही वार्ता◾भारत के पहले Omicron संक्रमित मरीज की ये बात आई सामने, 27 नवंबर को जा चुका है दुबई◾सुरजेवाला का ममता पर पलटवार, पूछा- आपकी प्राथमिकता प्रधानमंत्री के खिलाफ लड़ना है या कांग्रेस के खिलाफ ?◾पंजाबः चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा-हमारी ‘चंगी सरकार’ वादों पर खरी उतरी◾कोरोना के ओमिक्रॉन वैरिएंट ने भारत में भी दी दस्तक, कर्नाटक में मिले हैं दो मामले◾काले अंग्रेज वाले बयान पर केजरीवाल का चन्नी पर पलटवार, सांवले रंग का व्यक्ति झूठे वादे नहीं करता... ◾केजरीवाल को प्यार करते हैं पंजाब के लोग, चड्ढा बोले- सही समय पर होगी पार्टी के CM पद के चेहरे की घोषणा ◾'किस चश्मे से यूपी में दिखता है बढ़ता अपराध' अखिलेश के वार पर अमित शाह का पलटवार◾ममता के बाद प्रशांत किशोर का कांग्रेस पर हमला, कहा- विपक्ष का नेतृत्व कांग्रेस का दैवीय अधिकार नहीं...◾कांग्रेस के बिना बीजेपी के खिलाफ गठबंधन संभव नहीं : दिग्विजय सिंह◾SC की फटकार के बाद हरकत में आई दिल्ली सरकार, कल से अगले आदेश तक बंद रहेंगे स्कूल ◾सांसदों के निलंबन को लेकर राहुल गांधी का ट्वीट, 'जो सरकार डरे, वो अन्याय ही करे'◾हार के डर से BJP खेल रही 'धार्मिक कार्ड', मायावती बोली- पार्टी के आखिरी हथकंडे से जनता रहे सावधान ◾विपक्ष के रवैये पर भड़के सभापति नायडू, कहा-1962 से हो रहा निलंबन, पहली बार नहीं हुआ ऐसा ◾प्रदूषण को लेकर SC की AAP सरकार को फटकार, जब बड़े घर पर हैं तो बच्चों के लिए क्यों खोले स्कूल? ◾शीतकालीन सत्र के चौथे दिन भी जारी रहा विपक्ष का प्रदर्शन, सांसद बोले- निलंबन वापसी तक देते रहेंगे धरना ◾Petrol-Diesel Price : दिल्ली में आज से नई कीमत लागू, जानिए आपके शहर में पेट्रोल-डीजल के दाम◾विश्व में ओमीक्रॉन के बढ़ते प्रकोप के बीच SII ने कोविशील्ड की बूस्टर डोज के लिए DCGI से मांगी मंजूरी ◾UPTET पेपर लीक: वरुण गांधी ने किया योगी सरकार पर कटाक्ष, पूछा- कब तक सब्र करे भारत का युवा... ◾ममता के 'UPA क्या है' वाले बयान पर बोले खड़गे-हमें मिलकर BJP से लड़ना है, आपस में न लड़े विपक्ष ◾

गांधी नगर : दर्जनों लोगों से सौ करोड़ से ज्यादा की ठगी

नई दिल्ली : ज्यादा ब्याज का लालच देकर लोगों की मोटी रकम हड़पने की पौंजी स्कीम तो आपने बहुत सुनी होंगी, लेकिन गांधी नगर में कारों की पौंजी स्कीम के जरिए लोगों की गाढ़ी कमाई हड़पने वाले एक गिरोह का कारनामा सामने आया है। इस गिरोह ने ट्रेवल कंपनी बनाकर लोगों को महीने की मोटी रकम देने का झांसा देकर सौ से ज्यादा कारें हड़प ली। जब तक लोगों को ठगे जाने का अहसास होता, गिरोह कारें बेचकर फरार हो गया। गांधी नगर थाने में जब एक पीड़ित ने अपनी चार कारें ठगे जाने का मामला दर्ज कराया तो थाने पर पीड़ित लोगों का तांता लग गया। 

पुलिस की कई टीमें मामले की जांच में जुट गई हैं। गांधी नगर थाने में दर्ज एफआईआर संख्या 231 में पुलिस ने आईपीसी की धारा 420, 406/34 के तहत मामला दर्ज किया है। इस मामले में कैलाश नगर निवासी अजय कुमार ठाकुर ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी। इसके मुताबिक एक साल पहले उसकी मुलाकात मौसी के लड़के सुमित के जरिए आरोपी सूरज सिंह से हुई थी। सूरज ने अजय को बताया कि वह एक टूर एंड ट्रेवलर्स की कंपनी में काम करता है। इस काम में काफी मुनाफा है। 

तीन-चार गािड़यों के काफिले व सायरन लगी गाड़ी और साथ में बाउंसर लेकर चलने वाले सूरज सिंह के प्रभाव में अजय ऐसा आया कि उसने अपनी एक कार सूरज के साथी सचिन सिंह के साथ 75 हजार रुपए किराये का एग्रीमेंट करके दे दी। फिर अपनी तीन और कारें मोटे किराये पर सचिन से एग्रीमेंट करके दे दी। शुरू में उसे किराया भी मिला। इसी दौरान सूरज ने एक कार की फोटो दिखाकर कहा कि इसे खरीद लो। कंपनी में किराये पर लगवा दूंगा। उसकी बातों में आकर उसे पांच लाख रुपए दे दिए। इस कार को कागज भी उसे नहीं दिखाए। इतना नहीं अन्य कारों के भी असली दस्तावेज कहीं-कहीं चेकिंग में पुलिस को दिखाने पड़ जाते हैं। 

जब उसे फायदा उसने अपनी कई यार-दोस्तों की कारें भी सूरज सिंह के पास लगवा दी। इसी महीने 6 अगस्त को जब सूरज का फोन बंद था तो वह गाजियाबाद स्थित उसके घर गया तो पता लगा कि वह मकान खाली कर गया। उसने सभी एग्रीमेंट कैलाश नगर में घर पर ही किए थे। वह उसकी कारों को लेकर गायब हो गया है। गांधी नगर पुलिस अभी अजय ठाकुर की शिकायत पर एफआईआर दर्ज की ही थी कि यह खबर आग की तरफ पूरे इलाके में फैल गई। इसके बाद तो एक बाद एक दर्जनों पीडि़त थाने पहुंच गए। सभी इसी तरह से इस गिरोह के शिकार बने हैं। पीडि़तों की मानें तो सौ से ज्यादा कारें बेचकर यह गिरोह फरार हो गया है। कुछ कारों की जानकारी पुलिस को मिली है। पुलिस कई कोणों को ध्यान में रखकर मामले की जांच में जुट गई है।

फोटो देख बने कार मालिक

इस केस में चौंकाने वाली बात ये रही कि जालसाज ने कई लोगों को तो महज फोटो दिखाकर लगजरी कारों का मालिक बना दिया था। दरअसल आरोपी लोगों को फोन में कार की फोटो दिखाता और कहता तुम्हारी ये कार उस होटल में लगवा दी है। इसके बाद उनसे कार की एवज में मोटी रकम लेता था। कुछ लोगों को काफी समय तक मोटा किराया भी मिलता रहा, जिस कारण कई लोगे आरोपी के चंगुल में फंसते चले गए। जब लोगों की मोटी रकम उसके पास जमा हो गई तो वह अपना बोरिया-बिस्तर समेत फरार हो गया।

फोटो देख बने कार मालिक

इस केस में चौंकाने वाली बात ये रही कि जालसाज ने कई लोगों को तो महज फोटो दिखाकर लगजरी कारों का मालिक बना दिया था। दरअसल आरोपी लोगों को फोन में कार की फोटो दिखाता और कहता तुम्हारी ये कार उस होटल में लगवा दी है। इसके बाद उनसे कार की एवज में मोटी रकम लेता था। कुछ लोगों को काफी समय तक मोटा किराया भी मिलता रहा, जिस कारण कई लोगे आरोपी के चंगुल में फंसते चले गए। जब लोगों की मोटी रकम उसके पास जमा हो गई तो वह अपना बोरिया-बिस्तर समेत फरार हो गया।