BREAKING NEWS

UP के BJP विधायक का विवादित बयान, कहा- ‘राक्षसी’ संस्कृति की है ममता बनर्जी, उनके डीएनए में दोष◾किसानों की परेशानियों को सुनने और समझने की बजाए सरकार उन्हें आतंकवादी कहती है : राहुल गांधी◾लालू प्रसाद की बिगड़ी तबीयत पर बोले मुख्यमंत्री नीतीश- वे जल्द ठीक हों, मेरी शुभकामना उनके साथ◾असम में गरजे अमित शाह- कांग्रेस बताए इतने सालों तक रक्तरंजित क्यों रहा राज्य◾कृषि कानून को लेकर 60वें दिन आंदोलन जारी, 26 जनवरी पर ट्रैक्टर रैली की तैयारी में जुटे किसान ◾LAC विवाद : भारत और चीन के बीच कॉर्प्स कमांडर स्तर की बैठक मोल्डो में जारी ◾दिल्ली में आधी रात को लगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे, छह लोगों को पूछताछ के बाद छोड़ा◾गणतंत्र दिवस पर 2 बजे के बाद खुलेगी कनॉट प्लेस मार्केट, बंद रहेंगे ये 4 मेट्रो स्टेशन◾उत्तर भारत में सर्दी का सितम जारी, शीतलहर से फिर कांपेगी राजधानी दिल्ली ◾राहुल गांधी का तंज- जनता महंगाई से त्रस्त, मोदी सरकार टैक्स वसूली में मस्त◾CM उद्धव ठाकरे की साइन की हुई फाइल से छेड़छाड़, PWD इंजीनियर के खिलाफ जांच के दिए थे आदेश◾BJP सांसद साक्षी महाराज का आरोप-कांग्रेस ने कराई थी नेताजी की हत्या◾देश में कोरोना के 14849 नए मामलों की पुष्टि, पॉजिटिव केस 1 करोड़ 65 लाख के पार ◾TOP 5 NEWS 24 JANUARY : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें ◾दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी, संक्रमितों का आंकड़ा 9.86 करोड़ तक पहुंचा◾ममता बनर्जी के लिये ‘जय श्री राम’ का नारा सांड को लाल कपड़ा दिखाने के समान है : अनिल विज◾ सात और राज्य अगले सप्ताह से स्वदेशी तौर पर विकसित ‘कोवैक्सीन’ टीका लगाएंगे : स्वास्थ्य मंत्रालय ◾ वायुसेना प्रमुख भदौरिया बोले- भारत पांचवीं पीढ़ी के लड़ाकू विमानों पर काम कर रहा है◾आज का राशिफल (24 जनवरी 2021)◾गुजरात में फरवरी में होंगे स्थानीय निकाय चुनाव ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

कोरोना वॉरियर्स को समर्पित रक्तदान शिविर के उद्घाटन पर बोले हर्षवर्धन - ये सेहत के लिए रिटर्न गिफ्ट है

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने स्वतंत्रता दिवस से पहले शुक्रवार को यहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान परिषद (एम्स) के परिसर में सैनिकों तथा कोरोना वॉरियर्स के लिए समर्पित एक रक्तदान शिविर का उद्घाटन करते हुए कहा कि रक्तदान सेहत के लिए रिटर्न गिफ्ट जैसा है। डॉ हर्षवर्धन के साथ इस मौके पर एम्स के निदेशक डॉ रणदीप गुलेरिया भी उपस्थित थे। एम्स के परिसर में लगा यह स्वैच्छिक रक्तदान शिविर कोरोना वायरस कोविड-19 के खिलाफ जंग में अपने प्राणों की आहुति देने वाले कोरोना वॉरियर्स और सैनिकों को समर्पित है। 

इस अवसर पर एक शहीद सैनिक लांस नायक राजबीर सिंह और कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई में अपने प्राणों की आहुति देने वाले एम्स के एक कोरोना वॉरियर हीरालाल के परिजनों को विशिष्ट अतिथि के रूप में आमंत्रित किया गया था। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा,‘‘ हमारे 74 वें स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर आयोजित यह स्वैच्छिक रक्तदान शिविर, अपने प्राणों को न्योछावर करने वाले सफेद कोट पहने कोरोना वॉरियर्स और कारगिल के शहीदों दोनों को श्रद्धांजलि है। हमें इस महामारी में लोगों की जान बचाने की कवायद में सर्वस्व बलिदान करने वाले डॉक्टरों, नर्सों और पैरामेडिकल कर्मचारियों को जरूर याद करना चाहिए। ’’ 

डॉ. हर्षवर्धन ने स्वैच्छिक रक्तदान के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा कि कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन लगाये जाने से और अस्पताल में संक्रमण के प्रति संदेह की धारणा से स्वैच्छिक रक्तदान और रक्तदान शिविरों में काफी कमी आयी है। आपात सर्जरी के लिए रक्त आवश्यक होता है। इसके अलावा रक्त संबंधी बीमारियों जैसे थैलीसीमिया, ब्लड कैंसर और सड़क हादसे तथा अन्य दुर्घटनाओं के मामले में रक्त की आवश्यकता होती है। मानव सेवा का सबसे उपयुक्त तरीका रक्तदान ही है।’’ उन्होंने कहा कि रक्तदान, मानव सेवा के साथ हमारे अपने स्वास्थ्य हित में भी है। 

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने शिविर में रक्तदाताओं से मुलाकात कर उन्हें प्रशस्ति पत्र प्रदान किये। उन्होंने साथ ही देशवासियों से अपील की कि वे स्वैच्छिक रक्तदान हेतु आगे आएं और पुण्य के भागी बनें। रक्तदान से शरीर पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है।डॉ. हर्षवर्धन ने डॉक्टरों और स्वास्थ्यकर्मियों को भी अधिकाधिक संख्या में रक्तदान करने के लिए प्रोत्साहित किया ताकि वे मरीजों की जान बचा सकें। उन्होंने रक्तदान शिविर में स्वास्थ्य सुरक्षा के प्रबंधों को देखकर संतोष प्रकट किया। शिविर में पर्याप्त मात्रा में फेस शील्ड, मास्क और ग्लव्स आदि हैं।

चीन से तनातनी के बीच बोले रक्षामंत्री - अगर दुश्मन हम पर हमला करता है तो मुंहतोड़ जवाब देंगे