BREAKING NEWS

तेल की कीमत में वृद्धि भारत की कमर तोड़ रही है - जयशंकर◾महाराष्ट्र पुलिस ने राज्य के विभिन्न जिलों में छापे मारकर PFI और SDPI के 32 कार्यकर्ताओं को किया गिरफ्तार◾शिवसेना के दोनों समूहों ने SC के फैसले का किया स्वागत◾J&K : कुलगाम मुठभेड़ में जैश-ए-मोहम्मद के 2 आतंकी ढेर ◾गुपचुप तरीके से केरल में पादरियों से मिले थे भाजपा अध्यक्ष ◾सिख विवाह अधिनियम लागू कराने के लिए महाराष्ट्र अदालत में सिख दंपति ने दायर की याचिका ◾गहलोत को क्लीनचिट, समर्थकों पर कार्रवाई की अनुशंसा, पर्यवेक्षकों ने सोनिया गांधी को सौंपी रिपोर्ट◾KSRTC ने ठोका PFI पर 5 करोड़ का दावा, छापेमारी के विरोध में की थी बसों में तोड़फोड़ ◾राहुल गांधी का पीएम पर तंज, कहा- प्रधानमंत्री का नारा ‘बेटी बचाओ’ और भाजपा के कर्म ‘बलात्कारी बचाओ’◾ Haryana News: सीएम खट्टर ने कहा- स्वतंत्रता संग्राम की गाथा पर जागरूकता फैलाने... के लिए कार्यक्रम आयोजित करें ◾29-30 सितंबर को गुजरात जाएंगे पीएम मोदी, गृहराज्य को कई बड़ी सौगातों से नवाजेंगे ◾ उद्धव को सुप्रीम झटका, चुनाव आयोग की कार्रवाई रोकने की मांग करने वाली याचिका खारिज◾SC ने EWS 10 फीसदी कोटा आपत्ति याचिका पर फैसला सुरक्षित, एक सवाल को लेकर फंसा पेंच ◾दिल्ली हाई कोर्ट के फैसले के बाद LG ने ट्वीट किया- ‘सत्यमेव जयते’, AAP ने लगाए थे गंभीर आरोप ◾jharkhand News: झारखंड में खौफनाक मामला! डायन बताकर एक महिला की गई हत्या, आरोपी गिरफ्तार, जानें मामला ◾ राजस्थान में मचे सियासी तूफान के बीच पायलट की दिल्ली दरबार में दस्तक, मीडिया के सवालों से बचे◾गहलोत के शक्ति प्रदर्शन पर थरूर को फायदा ! अध्यक्ष पद की दौड़ में बंसल भी शामिल◾प्यारे दोस्त शिंजो को PM की अंतिम विदाई, Tweet कर बोले-लाखों लोगों के दिलों में जिंदा रहेंगे आप◾ विवादों में सेमखोर,फिल्म में संस्कृति को गलत चित्रण करने का आरोप ◾दिल्ली : बारिश के बाद अब डेंगू के मामलों में हुई बढ़ोतरी, पिछले 4 दिनों में आए 129 नए केस ◾

जामिया हिंसा मामला : NHRC ने अपनी तहकीकात पूरी की, रिपोर्ट अभी आयोग के अध्यक्ष को नहीं सौंपी

जामिया मिल्लिया इस्लामिया में पुलिस की कार्रवाई की जांच कर रही राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग (एनएचआरसी) की टीम ने अपनी तहकीकात पूरी कर ली है लेकिन अपनी रिपोर्ट अभी आयोग के अध्यक्ष को नहीं सौंपी है। 

एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। जामिया परिसर में प्रवेश के बाद पुलिस की कथित ज़्यादतियों की जांच करने के लिए एनएचआरसी की सात सदस्य टीम गठित की गई थी। 

टीम ने शिक्षकों, मुख्य प्रॉक्टर, लाइब्रेरियन और पुस्तकालय के अन्य स्टाफ के अलावा 94 छात्रों की गवाहियों को रिकॉर्ड किया है। पुलिस ने विश्वविद्यालय के पुस्तकालय में घुस कर कथित रूप से लाठीचार्ज किया था। 

एनएचआरसी के अध्यक्ष न्यायमूर्ति (सेवानिवृत) एचएल दत्तू ने कहा, “ उन्होंने जांच पूरी कर ली है। रिपोर्ट अभी मेरे पास नहीं आई है। मैंने रिपोर्ट जमा करने के लिए कोई समय सीमा तय नहीं की है। एक रिपोर्ट को अंतिम रूप देने में बहुत समय लगता है।” 

पिछले साल 15 दिसंबर को पुलिस ने विश्वविद्यालय से कुछ मीटर की दूरी पर संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान हिंसक हुई भीड़ को तितर बितर करने के लिए लाठीचार्ज किया था और आंसू गैस के गोले दागे थे। पुलिस विश्वविद्यालय में भी घुस गई थी और कहा था कि परिसर में ‘दंगाई’ घुस गए थे। 

बहरहाल, जामिया के छात्रों ने इस बात से इनकार किया है कि वे हिंसा में शामिल थे और पुलिस पर पुस्तकालय में पढ़ाई कर रहे विद्यार्थियों पर लाठीचार्ज करने का आरोप लगाया।