BREAKING NEWS

लखनऊ में बोले अमित शाह- जिसे विरोध करना हो करे, मगर सीएए वापस नहीं होने वाला◾पेरियार पर की गई टिप्पणी के लिए माफी नहीं मांगूंगा : रजनीकांत ◾चिदंबरम का सरकार पर कटाक्ष, बोले- अब हमें गीता गोपीनाथ पर मंत्रियों के हमले के लिए तैयार हो जाना चाहिए◾साईं बाबा के जन्मस्थान का विवाद बेवजह, CM ठाकरे को दोष नहीं दे सकते : शिवसेना ◾प्रधानमंत्री मोदी और नेपाली प्रधानमंत्री ने जोगबनी-विराटनगर निगरानी चौक का किया उद्घाटन◾जम्मू-कश्मीर जा रहे मंत्रियों को मणिशंकर अय्यर ने बताया 'डरपोक', बोले- 36 में से सिर्फ 5 जा रहे हैं घाटी◾दिल्ली चुनाव: केजरीवाल बोले- 'मेरा उद्देश्य भ्रष्टाचार खत्म करना, दिल्ली को आगे ले जाना'◾लखनऊ में आज अमित शाह करेंगे रैली, CAA विरोधियों को देंगे जवाब ◾दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए JDU ने स्टार प्रचारकों की सूची की जारी, प्रशांत किशोर और पवन वर्मा का नाम गायब◾AAP ने भाजपा उम्मीदवारों की दूसरी सूची पर कसा तंज, कहा- चुनाव से पहले ही मानी हार◾सूरत के रघुवीर मार्केट में लगी भीषण आग, कई दुकानें जलकर खाक◾दिल्ली विधानसभा चुनाव : भाजपा ने उम्मीदवारों की दूसरी सूची की जारी, केजरीवाल को टक्कर देंगे सुनील यादव◾कोहरे ने 25 ट्रेनों की रफ्तार पर लगाई ब्रेक, दिल्ली आने वाली ये ट्रेनें 1 से 6 घंटे तक लेट◾अकाली दल नहीं लड़ेगा दिल्ली चुनाव : मनजिंदर सिंह सिरसा◾दविंदर सिंह का डीजीपी पदक और प्रशस्ति पत्र जब्त ◾CAA को लेकर कपिल सिब्बल बोले- इसे लेकर मेरे रुख में कोई बदलाव नहीं ◾राष्ट्रपति कोविंद ने कहा- पत्रकारिता ‘कठिन दौर’ से गुजर रही है, फर्जी खबरें नये खतरे के तौर पर सामने आई हैं◾कपिल सिब्बल ने ''परीक्षा पे चर्चा' को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर साधा निशाना ◾सीडीएस बिपिन रावत बोले- पाक के साथ युद्ध की परिस्थिति उत्पन्न होगी या नहीं, अनुमान लगाना मुश्किल◾भाजपा के नये अध्यक्ष बने नड्डा, नरेंद्र मोदी समेत इन नेताओं ने दी शुभकामनाएं ◾

किरण बेदी ने किया ट्वीट, लिखा- कठिन समय चला जाएगा, कठोर कार्यवाही याद रहेगी

तीस हजारी अदालत में पुलिस और वकीलों की झड़प पर मंगलवार को पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी ने दिल्ली पुलिस को सलाह दी कि पुलिस अपने रुख पर दृढ़ता से कायम रहे चाहे नतीजा कुछ भी हो। किरण बेदी ने हजारों पुलिसकर्मियों के 11 घंटे लंबे चले विरोध प्रदर्शन के बाद ट्वीट कर कहा, 'जब एक पुलिसकर्मी निडर होकर पूरी ईमानदारी के साथ अपनी ड्यूटी करता है तो उन्‍हें अपने वरिष्‍ठ अधिकारियों के संरक्षण की बहुत जरूरत होती है।' 

उन्होंने  ने लिखा कि मुश्किल वक्त चला जाता है लेकिन सख्त फैसलों की यादें हमेशा कायम रहती हैं। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि अधिकार और उत्तरदायित्व एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। नागरिकों को इसे कभी नहीं भूलना चाहिए। जो भी हो और हम जहां भी हों। जब हम सभी कानून का पालन करने की अपनी जिम्मेदारी का निर्वाह करते हैं तो कोई विवाद नहीं होता है।


विरोध प्रदर्शन के दौरान कल दिल्ली पुलिस ने से हजारों किलोमीटर दूर पुदुचेरी में बैठीं किरण बेदी के पोस्टर पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे कई पुलिसकर्मियों ने थाम रखा था। ये पुलिसकर्मी नारा लगा रहे थे, 'किरण बेदी शेरनी हमारी', 'हमारा पुलिस कमिश्नर कैसा हो, किरण बेदी जैसा हो। बता दें कि बेदी अभी पुदुचेरी की उपराज्यपाल हैं। आखिर वकीलों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे पुलिसकर्मी किरण बेदी को क्यों याद कर रहे थे?

बता दें कि किरण बेदी 1988 में पुलिस उपायुक्‍त थीं उस दौरान वकीलों और पुलिसकर्मियों के संघर्ष की एक घटना हुई थी, जिसकी आंच पूरे देश में पहुंची थी. दरअल, जनवरी, 1988 में पुलिस ने एक वकील को चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया था। तब पुलिस ने वकील को हथकड़ी पहनाई थीं। 

तीस हजारी कोर्ट के सभी वकील गिरफ्तारी के बाद तत्‍काल हड़ताल पर चले गए।  उनका कहना था कि ऐसे मामलों में वकील को हथकड़ी नहीं लगाई जानी चाहिए थीं।  इसके बाद ये हड़ताल बहुत तेजी से पूरे देश में फैल गई।  इसके बाद दो हिंसक झड़पें हुईं। 

महाराष्ट्र सरकार गठन: तमाम अटकलों के बीच संजय राउत ने शरद पवार से की मुलाकात