BREAKING NEWS

भारत, यूएई ने जलवायु कार्रवाई के लिए समझौता ज्ञापन पर किए हस्ताक्षर ◾J&K : कश्मीर में टीवी कलाकार की हत्या में शमिल दो आतंकवादी सुरक्षाबलों के साथ मुठभेड़ में घिरे◾J&K : कुपवाड़ा में सेना ने घुसपैठ का प्रयास किया विफल , तीन आतंकवादी मारे गए, पोर्टर की भी मौत◾PM मोदी ने ‘परिवारवाद’ के कटाक्ष से राव को घेरा, तेलंगाना के मुख्यमंत्री ने ‘भाषणबाजी’ का लगाया आरोप◾टीएमसी का दावा, दिलीप घोष को बंगाल से बाहर किया जा रहा है, भाजपा का पलटवार◾ मूडीज ने भारत की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटाया, आसमान छू रही महंगाई पर जताई चिंता◾ Tamil Nadu: चेन्नई पहुंचे PM मोदी ,हुआ जोरदार स्वागत, रोड शो में उमड़ी हजारों की भीड़◾तेलंगाना के CM चंद्रशेखर राव ने एच डी देवेगौड़ा से की मुलाकात, जानें- किन मुद्दों पर हुई चर्चा◾J&K News: सुंजवां हमले में शामिल एक आतंकवादी को NIA ने किया गिरफ्तार, जैश ए मोहम्मद से जुड़े थे तार◾Monkeypox Virus: कनाडा में मंकीपॉक्स ने दी दस्तक! यहां देखें- कितने मामले सामने आए◾यासीन मलिक को उम्रकैद की सजा सुनाने के बाद फेंके थे पत्थर, लेकिन अब पुलिस के सामने पकड़े कान◾सुप्रीम कोर्ट ने वेश्यावृत्ति को माना प्रोफेशन, पुलिस को दी हिदायत... जारी हुए सख्त निर्देश, जानें क्या कहा ◾ गवर्नर की जगह अब CM होंगी स्टेट यूनिवर्सिटी की चांसलर, ममता बनर्जी कैबिनेट की बैठक में हुआ फैसला◾नवजोत सिंह सिद्धू का पटियाला जेल में बज गया बैंड, मिला क्लर्क का काम, जानें कितना होगा वेतन ◾ Gyanvapi Masjid: यहां जानें 2 घंटे चली वाराणसी जिला कोर्ट की बहस में क्या हुआ, अब सोमवार तक टली सुनवाई◾पाकिस्तान को 'मॉडर्न देश' बनाना चाहते हैं जरदारी! भारत और अन्य देशों से जारी संघर्षों पर कही यह बात ◾Bharat Biotech की कोवैक्सीन को जर्मनी ने दी मंजूरी, टूरिस्ट को मिली बड़ी राहत◾ US और चीन को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने दिया ये बयान, जानें मोदी सरकार को क्या दी नसीहत◾UP बजट 2022 : मायावती ने बताया घिसा-पिटा, अखिलेश बोले- कुछ बढ़ा नहीं, सब कुछ घटा है◾Navneet Rana News: सांसद नवनीत राणा ने दर्ज करवाई FIR, फोन पर मिल रही थी जान से मारने की धमकी ◾

किरण बेदी ने किया ट्वीट, लिखा- कठिन समय चला जाएगा, कठोर कार्यवाही याद रहेगी

तीस हजारी अदालत में पुलिस और वकीलों की झड़प पर मंगलवार को पुडुचेरी की उपराज्यपाल किरण बेदी ने दिल्ली पुलिस को सलाह दी कि पुलिस अपने रुख पर दृढ़ता से कायम रहे चाहे नतीजा कुछ भी हो। किरण बेदी ने हजारों पुलिसकर्मियों के 11 घंटे लंबे चले विरोध प्रदर्शन के बाद ट्वीट कर कहा, 'जब एक पुलिसकर्मी निडर होकर पूरी ईमानदारी के साथ अपनी ड्यूटी करता है तो उन्‍हें अपने वरिष्‍ठ अधिकारियों के संरक्षण की बहुत जरूरत होती है।' 

उन्होंने  ने लिखा कि मुश्किल वक्त चला जाता है लेकिन सख्त फैसलों की यादें हमेशा कायम रहती हैं। उन्होंने एक अन्य ट्वीट में लिखा कि अधिकार और उत्तरदायित्व एक ही सिक्के के दो पहलू हैं। नागरिकों को इसे कभी नहीं भूलना चाहिए। जो भी हो और हम जहां भी हों। जब हम सभी कानून का पालन करने की अपनी जिम्मेदारी का निर्वाह करते हैं तो कोई विवाद नहीं होता है।


विरोध प्रदर्शन के दौरान कल दिल्ली पुलिस ने से हजारों किलोमीटर दूर पुदुचेरी में बैठीं किरण बेदी के पोस्टर पुलिस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन कर रहे कई पुलिसकर्मियों ने थाम रखा था। ये पुलिसकर्मी नारा लगा रहे थे, 'किरण बेदी शेरनी हमारी', 'हमारा पुलिस कमिश्नर कैसा हो, किरण बेदी जैसा हो। बता दें कि बेदी अभी पुदुचेरी की उपराज्यपाल हैं। आखिर वकीलों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे पुलिसकर्मी किरण बेदी को क्यों याद कर रहे थे?

बता दें कि किरण बेदी 1988 में पुलिस उपायुक्‍त थीं उस दौरान वकीलों और पुलिसकर्मियों के संघर्ष की एक घटना हुई थी, जिसकी आंच पूरे देश में पहुंची थी. दरअल, जनवरी, 1988 में पुलिस ने एक वकील को चोरी के आरोप में गिरफ्तार किया था। तब पुलिस ने वकील को हथकड़ी पहनाई थीं। 

तीस हजारी कोर्ट के सभी वकील गिरफ्तारी के बाद तत्‍काल हड़ताल पर चले गए।  उनका कहना था कि ऐसे मामलों में वकील को हथकड़ी नहीं लगाई जानी चाहिए थीं।  इसके बाद ये हड़ताल बहुत तेजी से पूरे देश में फैल गई।  इसके बाद दो हिंसक झड़पें हुईं। 

महाराष्ट्र सरकार गठन: तमाम अटकलों के बीच संजय राउत ने शरद पवार से की मुलाकात