BREAKING NEWS

आज का राशिफल (25 सितम्बर 2020)◾पंजाब, हरियाणा के किसान कृषि विधेयकों के खिलाफ 25 सितम्बर को करेंगे विरोध प्रदर्शन◾MP में किसानों के फसल कर्ज माफी पर बोले राहुल - कांग्रेस ने जो कहा, सो किया◾KXIP VS RCB (IPL 2020) : रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की करारी हार, किंग्स इलेवन पंजाब ने RCB को 97 रनों से हराया◾भारत-चीन सीमा विवाद : दोनों पक्ष सैनिकों को पीछे हटाने के लिए वार्ता जारी रखेंगे - विदेश मंत्रालय◾ड्रग्स केस: गोवा से मुंबई पहुंचीं दीपिका पादुकोण, शनिवार को NCB करेगी पूछताछ◾ KXIP vs RCB IPL 2020 : पंजाब ने बैंगलोर को दिया 207 रनों का टारगेट, केएल राहुल ने जड़ा शतक◾महाराष्ट्र में कोरोना के 19164 नए केस, 17185 मरीज हुए ठीक◾जाप ने जारी किया चुनावी घोषणा पत्र, बेरोजगारों को रोजगार देने का किया वादा ◾COVID-19 से संक्रमित मनीष सिसोदिया डेंगू से भी पीड़ित हुए, लगातार गिर रही है ब्लड प्लेटलेट्स◾कृषि और श्रम कानून को लेकर राकांपा का केंद्र पर तंज, कहा- ईस्ट इंडिया कंपनी स्थापित कर रही है सरकार ◾महिला अपराध पर सीएम योगी सख्त, छेड़खानी और बलात्कारियों के पोस्टर लगाने का दिया आदेश ◾कांग्रेस का बड़ा आरोप - केंद्र सरकार ने कृषि विधेयकों के जरिए नयी जमींदारी प्रथा का उद्घाटन किया◾IPL 2020 KXIP vs RCB: रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का किया फैसला◾कृषि बिल के विरोध पर बोले केंद्रीय मंत्री तोमर, कांग्रेस पहले अपने घोषणापत्र से मुकरने की करे घोषणा◾महीनों के लॉकडाउन के बाद भी नहीं थम रहा है कोरोना, जानिये भारत क्यों चुका रहा है भारी कीमत◾केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने कहा- विपक्षी दलों की राजनीति हो गई है दिशाहीन ◾ICU में भर्ती डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया की हालत स्थिर, अगले कुछ दिनों में फिर होगा कोरोना टेस्ट ◾रेलवे ने जताई चिंता - 'रेल रोको आंदोलन' से जरूरी सामानों और राशन की आवाजाही पर पड़ेगा असर ◾महाराष्ट्र : एकनाथ शिंदे भी कोरोना वायरस से संक्रमित, संपर्क में आए लोगों से जांच करवाने की अपील की ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

मैं केजरीवाल सरकार की Odd-Even योजना के खिलाफ नहीं : मनोज तिवारी

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिल्ली इकाई के प्रमुख मनोज तिवारी ने कहा कि वह आम आदमी पार्टी (आप) सरकार के ऑड-ईवन योजना के खिलाफ नहीं है, लेकिन सार्वजनिक परिवहनों की कमी है, जिसके लिए अरविंद केजरीवाल सरकार ने कुछ नहीं किया। मनोज तिवारी ने कहा कि दिल्ली सरकार अगर वाहनों से होने वाले वायु प्रदूषण पर रोक लगाना चाहती है तो पहले उसे सार्वजनिक परिवहन को मजबूत करना चाहिए। 

उन्होंने कहा, 'हम ऑड ईवन के खिलाफ नहीं है, लेकिन सरकार द्वारा सार्वजनिक परिवहन को मजबूत करने के बाद ही हम इसका समर्थन करेंगे।' मनोज तिवारी, उत्तर पूर्व दिल्ली से लोकसभा सांसद भी है। मनोज तिवारी ने केजरीवाल सरकार पर आरोप लगाया कि वह वायु प्रदूषण को रोकने के लिए कुछ नहीं कर रही है और कहा कि वे ऑड-ईवन कर रहे हैं और फिर भी (वायु गुणवत्ता सूचकांक) एक्यूआई इतना ज्यादा है। 

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त शेषन की याद में पीठ की स्थापना करेगा निर्वाचन आयोग

मनोज तिवारी ने कहा, 'उन्होंने सिर्फ लोगों के लिए परेशानी पैदा की।' राष्ट्रीय राजधानी में वायु प्रदूषण के बढ़ते स्तर पर चर्चा के लिए संसद की स्थायी समिति की बैठक से पूर्वी दिल्ली के सांसद गौतम गंभीर के गायब होने के बारे में पूछे जाने पर मनोज तिवारी ने कहा कि आप वायु प्रदूषण के लिए एक सांसद को दोषी नहीं ठहरा सकतीं। संसद की स्थायी समिति की बैठक को ज्यादातर प्रतिभागियों के बैठक में नहीं आने की वजह से बैठक को टाल दिया गया। 

समिति के 29 सदस्यों में से सिर्फ 4 मौजूद थे। हालांकि, गंभीर ने इस दावे को खारिज नहीं किया कि वह भारत व बांग्लादेश के बीच टेस्ट मैच की क्रिकेट कमेंट्री कर रहे थे, लेकिन मनोज तिवारी ने कहा कि गंभीर एक पारिवारिक कार्यक्रम में भाग लेने इंदौर गए थे। उन्होंने कहा कि आप गंभीर पर कटाक्ष कर रही है, जिससे कि लोगों का ध्यान दिल्ली सरकार की विफलता पर न जाए। 

उन्होंने कहा, 'वायु प्रदूषण केजरीवाल की जिम्मेदारी है। अगर सांसदों को दिल्ली चलाना है तो केजरीवाल को पद छोड़ देना चाहिए। सांसद इसे चलाएंगे।' मनोज तिवारी ने यह भी कहा कि गौतम ही संसदीय समिति के अकेले सदस्य नहीं हैं। मनोज तिवारी ने कहा, 'अगर उन्होंने बैठक में भाग नहीं लिया तो क्या आप उन्हें प्रदूषण के लिए जिम्मेदार ठहरा सकते हैं? गंभीर को एक पारिवारिक कार्यक्रम में भाग लेना था। वह उसमें व्यस्त थे।' 

उन्होंने कहा कि केंद्र व दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) सब कुछ कर रहे हैं, लेकिन आखिरकार यह दिल्ली सरकार की जिम्मेदारी है। मनोज तिवारी ने कहा, 'आप सरकार एमसीडी को फंड नहीं दे रही है। हम केंद्र से फंड प्राप्त कर रहे हैं। सांसद प्रदूषण व इसके समाधान के लिए जिम्मेदार नहीं है। हम अपने द्वारा किए गए कार्यो की सूची रखते हैं।'