BREAKING NEWS

बिलकिस बानो केस के दोषियों की रिहाई को लेकर राहुल का तंज, कहा-PM की कथनी और करनी को देख रहा है देश◾Yamuna Water Level : दिल्ली में यमुना नदी का जल स्तर एक बार फिर खतरे के पार पहुंचा◾Assembly Elections : मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का आज से गुजरात दौरा, चुनावी तैयारियों की करेंगे समीक्षा◾Central University Admission : CUET-ग्रेजुएट का चौथा चरण आज से शुरू हो गया ◾संगीत सोम का मंच से धमकी भरा बयान, कहा-'मैं अभी गया नहीं, अब भी 100 विधायकों के बराबर हूं'◾बीजेपी के निशाने पर कांग्रेस, सोशल मीडिया पोस्ट के जरिए आतंकवाद, भ्रष्टाचार और परिवारवाद का लगाया आरोप ◾एक्सप्रेस ट्रेन और मालगाड़ी में जोरदार टक्कर,चार पहिए पटरी से उतरे, मची अफरा-तफरी ◾महाराष्ट्र : आज से शुरू होगा विधानसभा का मानसून सत्र, पहली बार विपक्ष में बैठेंगे आदित्य ठाकरे◾Coronavirus : 24 घंटे में दर्ज हुए 9 हजार केस, 2.49% रहा डेली पॉजिटिविटी रेट◾Jammu Kashmir: सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड फेंक फरार हुए आतंकी, सर्च अभियान में हथियार-गोलाबारूद बरामद◾मुश्किलों में फंस सकते है कांग्रेस नेता केसी वेणुगोपाल, सीबीआई कसेगी शिकंजा ◾आज का राशिफल (17 अगस्त 2022)◾बिहार में मिशन 35 प्लस के लक्ष्य के साथ नीतीश-तेजस्वी सरकार के खिलाफ मैदान में उतरेगी भाजपा◾PM मोदी और मैक्रों ने भू-राजनीतिक चुनौतियों, असैन्य परमाणु ऊर्जा सहयोग पर चर्चा की◾अपने अंतिम दिनों में, ठाकरे सरकार ने जल्दबाजी में लिए फैसले : CM शिंदे◾ चीनी पोत पहुंचा श्रीलंका हम्बनटोटा बंदरगाह , भारत ने जताई जासूसी की आशंका◾चीनी ‘जासूसी पोत’ पहुंचा श्रीलंकाई बंदरगाह , बीजिंग बोला-जहाज किसी के सुरक्षा हितों के लिए खतरा नहीं◾दिल्ली में फिर से आया कोरोना, 917 नए मामले आये सामने , तीन की मौत◾कांग्रेस संगठन में बड़ा बदलाव, रसूल वानी बने जम्मू-कश्मीर कांग्रेस के अध्यक्ष◾AAP सरकार के पांच महीने पूरे होने पर 5 मंत्रियों ने पेश किया रिपोर्ट कार्ड◾

डीयू ​शिक्षकों का रोस्टर के खिलाफ मार्च ऑन

नई दिल्ली : जॉइंट फोरम फॉर अकेडमिक एंड सोशल जस्टिस के बैनर तले गुरुवार को दिल्ली विश्वविद्यालय शिक्षक संघ (डूटा) सहित देशभर के सैकड़ों संगठनों ने विश्वविद्यालयों में विभागवार रोस्टर के खिलाफ मंडी हाउस से संसद मार्ग तक मार्च निकाला। इस दौरान पूर्व केंद्रीय मंत्री सहित विभिन्न राजनीतिक दलों के सांसदों और विधायकों ने न केवल इस आंदोलन को समर्थन दिया बल्कि शिक्षकों को आश्वासन दिया कि वह अपनी पार्टी के माध्यम से संसद में इस मुद्दे को जोरदार ढंग से उठाएंगे।

साथ ही कहा कि यदि जरूरत पड़ी तो भारत बंद का भी आह्वान करेंगे। वहीं डूटा के अध्यक्ष राजीव रे, उपाध्यक्ष सुधांशु कुमार, सह सचिव आलोक पांडेय एसी मेंबर प्रो. हंसराज, प्रो. रतन लाल सहित अनेक शिक्षकों ने अपनी बातें रखी। रैली में हजारों की संख्या में शिक्षक जुटे। तदर्थ शिक्षकों को संबोधित करते हुए उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि वह सभी राजनीतिक दलों से इस मुद्दे को लोकसभा और राज्यसभा में उठाने की वकालत करेंगे। यदि जरूरत पड़ी तो सड़कों पर उतर कर पूरे देश में आवाज उठाएंगे।

उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने पिछले सत्र में नियुक्ति पर रोक लगाने और कोर्ट के फैसला आने तक इंतजार करने की बात कही थी, लेकिन अब कोर्ट के फैसले के बाद अन्याय शुरू हो गया है। केंद्र सरकार को राज्यसभा में दिए वायदे के मुताबिक अभी के सदन के सत्र में अविलंब बिल लाए। वहीं आरजेडी से तेजस्वी यादव ने कहा कि रोस्टर के मुद्दे पर केंद्र सरकार तत्काल अध्यादेश लाए अन्यथा वह सरकार को ऐसा करने पर मजबूर कर देंगे।

रैली को समर्थन देने पहुंचे बड़े नेता... शिक्षकों को समर्थन देने पहुंची पूर्व केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) के सुप्रीमो उपेंद्र कुशवाहा, राष्ट्रीय जनता दल (राजद) से तेजस्वी यादव, मीसा भारती, जयप्रकाश यादव, मनोज झा, भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (भाकपा) सांसद डी राजा, मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) नेता सीताराम येचुरी, दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया, लोकतांत्रिक जनता दल के अली अनवर अंसारी, समाजवादी पार्टी से धर्मेंद्र यादव, भीम आर्मी के चंद्रशेखर और गुजरात के विधायक जिग्नेश मेवाणी, युवा कांग्रेस के अध्यक्ष केशव चंद्र यादव आदि शामिल रहे।