BREAKING NEWS

पश्चिम बंगाल : सांसद अर्जुन सिंह पर फेंके गए पत्थर, BJP-TMC समर्थकों में जमकर हुई हाथापाई ◾अखिलेश के राज में बिजली ही नहीं आती थी, आज वो फ्री बिजली देने की बात कर रहे हैंः सीएम योगी ◾नेताजी जयंती : PM मोदी ने किया सुभाष चंद्र बोस की होलोग्राम प्रतिमा का अनावरण, सम्मान में कही ये बात ◾दिल्ली : बीते 24 घंटों में आए कोरोना के 9 हजार से अधिक मामलें, इतने मरीजों की हुई मौत ◾पीएम की सुरक्षा चूक को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट में जनहित याचिका दायर ◾ 10 मार्च को अखिलेश यादव कहेंगे- ईवीएम बेवफा है: अनुराग ठाकुर◾SC एवं ST की बदौलत हम न सिर्फ चुनाव जीतेंगे बल्कि यूपी में सरकार भी बनायेंगेः चंद्रशेखर ◾ उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू हुए दूसरी बार कोरोना संक्रमित, खुद को किया आइसोलेट◾UP: एक और विधायक ने छोड़ा BJP का साथ, बताई यह वजह..., जानें अब तक किन नेताओं ने दिया इस्तीफा ◾नकवी ने मोदी और योगी को बताया 'एम-वाई' फैक्टर, कहा- 3B 'बलवाई, बाहुबली, बेईमानी’ का 'ब्रदरहुड' बेचैन ◾ भाजपा के सहयोगी अपना दल सोनेलाल ने किया मुस्लिम उम्मीदवार का एलान,आजम खान के बेटे के खिलाफ ठोकेंगे ताल◾दिल्ली : गणतंत्र दिवस से पहले दिल्ली में तैनात हुए 27 हजार से अधिक जवान, कमिश्नर ने दी जानकारी ◾हिंदुओं को जलसे की इजाजत दी तो..विवादित बोल पर बवाल, सिद्धू के सलाहकार मुस्तफा ने धर्म विशेष के खिलाफ उगला जहर ◾बेरोजगारी पर राहुल ने किया केंद्र का घेराव, कहा- सरकार कर रही पूंजीपतियों का विकास, सिर्फ ‘हमारे दो’... ◾PLC ने 22 उम्मीदवारों की पहली सूची की जारी, इस शहर से चुनाव लड़ेंगे कैप्टन अमरिंदर सिंह◾अपर्णा यादव ने बांधे BJP की तारीफों के पुल, कहा- राष्ट्र को बचाने के लिए पार्टी की सत्ता में वापसी बहुत जरूरी ◾BJP में शामिल हुई अदिति सिंह ने प्रियंका को दी चुनाव लड़ने की चुनौती, कहा- रायबरेली अब कांग्रेस का गढ़ नहीं ◾SP ने जारी की पहली स्टार प्रचारकों की लिस्ट, मुलायम और अखिलेश समेत मौर्य का भी नाम, जानें पूरी सूची ◾अरविंद केजरीवाल का केंद्र पर बड़ा आरोप, बोले- सत्येंद्र जैन को गिरफ्तार कर सकती है ED◾चीनी PLA ने अरुणाचल से 'लापता' लड़के का लगाया पता, भारतीय सेना को किया सूचित, जानें क्या कहा?◾

एमसीडी को लगेगा करोड़ों का चूना

पश्चिमी दिल्ली: नौसिखिए निगम नेताओं व अधिकारियों के पागलपन के कारण निगम को करोड़ों का चूना लगने वाला है। लेकिन इससे न तो निगम नेताओं को ही सरोकार है और न ही सालों से निगम में बैठे अधिकारियों को। दरअसल पूरा मामला आर्थिक तंगी का रोना रो रहे नॉर्थ एमसीडी का है। यहां पर नेताओं व अधिकारियों की नासमझी के कारण लिए गए एक फैसले से निगम को लगभग तीन करोड़ का नुकसान होने वाला है। नॉर्थ एमसीडी ने निगम स्कूलों के शिक्षकों को स्कूल खुलने से दो दिन पूर्व ही स्कूल बुलाने का फैसला लिया है। इस फैसले के कारण निगम को हर शिक्षक को ट्रैवल एलाउंस के तौर पर मिलने वाली राशि अदा करनी होगी। यह राशि लगभग 3600 रुपए प्रति माह के हिसाब से दी जाती है। लेकिन शिक्षक एक दिन स्कूल आए या पूरे माह, उसे ट्रैवल अलाउंस पूरे माह का ही मिलता है।

इस हिसाब से निगम में लगभग आठ हजार परमानेंट शिक्षक हैं और इस पर जून माह का ट्रैवल अलाउंस लगभग तीन करोड़ दिया जाएगा। हैरान कर देने वाली बात है कि इस फैसले को महापौर ने भी मंजूरी दे दी है। निगम सूत्रों से मिली जानकारी से मुताबिक इस फैसले पर अपनी सहमति देने से नॉर्थ एमसीडी के एजुकेशन डायरेक्टर ने वित्तीय स्थिति का हवाला देकर मना कर दिया था। लेकिन आला नेताओं व कई रसूख वाले शिक्षक संघों के दवाब में आकर इस फैसले पर मुहर लगा दी गई है। कहा तो यह भी जा रहा है कि जिस निगम में एजुकेशन डायरेक्टर के पद पर बैठे अधिकारी को ही महीनों सैलरी न मिलती हो, वहां पर निगम पर तीन करोड़ का वित्तीय भार डालना सवाल खड़े करता है।

बता दें कि 5 मई को जारी ऑफिस ऑर्डर में स्पष्ट किया गया था कि निगम स्कूल 1 जुलाई से ही खुलेंगे और बच्चे व शिक्षक 1 जुलाई से ही स्कूल आएंगे। इतना ही नहीं, जानकारी के मुताबिक निगम स्कूलों के प्रिंसिपलों ने बिना सिविक सेंटर से आदेश मिले ही बुधवार को ही शिक्षकों को स्कूल बुलाया। पूरे मामले पर जब हमने नॉर्थ एमसीडी की महापौर प्रीति अग्रवाल से बात की तो उन्होंने कहा कि शिक्षकों को पहले बुलाने का कल्चर रहा है। हम इसे खत्म नहीं कर सकते। मैं किसी भी कल्चर को एकदम से खत्म नहीं कर सकती। यह कोई पहली बार नहीं किया गया है।

- राजेश रंजन सिंह