BREAKING NEWS

महाराष्ट्र में कोरोना के 19164 नए केस, 17185 मरीज हुए ठीक◾जाप ने जारी किया चुनावी घोषणा पत्र, बेरोजगारों को रोजगार देने का किया वादा ◾COVID-19 से संक्रमित मनीष सिसोदिया डेंगू से भी पीड़ित हुए, लगातार गिर रही है ब्लड प्लेटलेट्स◾कृषि और श्रम कानून को लेकर राकांपा का केंद्र पर तंज, कहा- ईस्ट इंडिया कंपनी स्थापित कर रही है सरकार ◾महिला अपराध पर सीएम योगी सख्त, छेड़खानी और बलात्कारियों के पोस्टर लगाने का दिया आदेश ◾कांग्रेस का बड़ा आरोप - केंद्र सरकार ने कृषि विधेयकों के जरिए नयी जमींदारी प्रथा का उद्घाटन किया◾IPL 2020 KXIP vs RCB: रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का किया फैसला◾कृषि बिल के विरोध पर बोले केंद्रीय मंत्री तोमर, कांग्रेस पहले अपने घोषणापत्र से मुकरने की करे घोषणा◾महीनों के लॉकडाउन के बाद भी नहीं थम रहा है कोरोना, जानिये भारत क्यों चुका रहा है भारी कीमत◾केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने कहा- विपक्षी दलों की राजनीति हो गई है दिशाहीन ◾ICU में भर्ती डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया की हालत स्थिर, अगले कुछ दिनों में फिर होगा कोरोना टेस्ट ◾रेलवे ने जताई चिंता - 'रेल रोको आंदोलन' से जरूरी सामानों और राशन की आवाजाही पर पड़ेगा असर ◾महाराष्ट्र : एकनाथ शिंदे भी कोरोना वायरस से संक्रमित, संपर्क में आए लोगों से जांच करवाने की अपील की ◾कांग्रेस ने अमित शाह की रैली को बताया जनता का अपमान, कोरोना संकट में धनबल की राजनीति का लगाया आरोप◾Fit India Movement के एक वर्ष पूरा होने पर बोले PM मोदी-जितना फिट होगा इंडिया, उतना हिट होगा इंडिया◾कैग की रिपोर्ट में खुलासा: दिल्ली में लगे 44% CCTV कैमरे खराब, 20 साल पुरानी तकनीक के भरोसे पुलिस◾ श्रम कानून : राहुल गांधी ने सरकार पर साधा निशाना, बोले-किसानों के बाद मजदूरों पर किया वार ◾लफ्फाजी का लॉलीपॉप हो गए हैं राहुल गांधी : मुख्तार अब्बास नकवी◾J&K के पुलवामा में सुरक्षाबलों ने एक आतंकवादी को मार गिराया, बडगाम में 1 जवान शहीद ◾देश में पिछले 24 घंटों में कोरोना के 86,508 नए मामले दर्ज, संक्रमितों का आंकड़ा 57 लाख से अधिक◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

निर्भया गैंगरेप: अपराध के समय दोषी पवन नाबलिग था या नहीं? 20 जनवरी को सुनवाई करेगा सुप्रीम कोर्ट

सुप्रीम कोर्ट निर्भया गैंगरेप और हत्याकांड मामले में मौत की सजा पाए एक दोषी पवन गुप्ता के नाबालिग होने के दावे को दिल्ली हाई कोर्ट द्वारा खारिज किए जाने के फैसले के खिलाफ दायर उसकी याचिका पर 20 जनवरी को सुनवाई करेगा। 

बता दें कि दोषी पवन गुप्ता का दावा है कि अपराध के वक्त वह नाबालिग था। न्यायमूर्ति आर भानुमति, न्यायमूर्ति अशोक भूषण और न्यायमूर्ति ए एस बोपन्ना की पीठ दोषी पवन कुमार गुप्ता की याचिका पर सुनवाई करेगी। 

याचिका में पवन ने ये किया था दावा 

पवन गुप्ता ने अपनी याचिका में दावा किया था कि दिसंबर 2012 में अपराध के वक्त वह नाबालिग था, जिसे हाई कोर्ट ने खारिज कर दिया था। इसके बाद पवन ने शुक्रवार को सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। इसके साथ ही उसने अधिकारियों को मौत की सजा पर अमल को भी रोकने का निर्देश देने की अपील है।