BREAKING NEWS

CBI ने हेमंत बिस्व सरमा से पूछताछ नहीं की , राजीव कुमार ने कलकत्ता HC से कहा◾कुमारस्वामी सरकार का हटना कर्नाटक की जनता के लिए खुशखबरी : BJP◾लोकतंत्र, ईमानदारी और कर्नाटक की जनता हार गई : राहुल ◾अमित शाह ने कर्नाटक को लेकर पार्टी नेताओं से किया मशविरा◾कुमारस्वामी ने राज्यपाल वजूभाई वाला को सौंपा अपना इस्तीफा ◾BJP के शीर्ष नेताओं से सलाह के बाद राज्यपाल से मिलूंगा : येदियुरप्पा ◾अब 5 राज्यों-केंद्रशासित प्रदेशों में ही बची कांग्रेस की सरकार ◾‘किंगमेकर’ माने जाने वाले कुमारस्वामी बने ‘किंग’, लेकिन राजगद्दी जल्दी ही हाथ से निकली ◾कर्नाटक में गिरी कुमारस्वामी सरकार, विश्वास प्रस्ताव के पक्ष पड़े 99 वोट , BJP पेश करेगी सरकार बनाने का दावा ◾येदियुरप्पा के शपथ लेने के बाद मुम्बई से लौटेंगे कर्नाटक के बागी विधायक◾कश्मीर के बारे में ट्रंप के प्रस्ताव पर भारत की प्रतिक्रिया से चकित हूं : इमरान खान ◾खुशी से पद छोड़ने को तैयार हूं : कुमारस्वामी ◾बोरिस जॉनसन बने ब्रिटेन के नए PM, यूरोपीय संघ से देश को बाहर निकालना होगी बड़ी चुनौती◾कश्मीर मुद्दे पर नरेंद्र मोदी और इमरान खान को मिलकर करनी चाहिए पहल - फारुख अब्दुल्ला◾Top 20 News 23 July - आज की 20 सबसे बड़ी ख़बरें◾भाजपा ने ट्रंप के दावे पर विपक्ष के रूख को गैर जिम्मेदाराना बताया ◾कर्नाटक संकट: भाजपा ने कुमारस्वामी पर करदाताओं का पैसा बर्बाद करने का लगाया आरोप◾गृह मंत्रालय ने घटाई लालू यादव, चिराग पासवान समेत कई बड़े नेताओं की सुरक्षा◾SC ने NRC प्रकाशन की समय सीमा बढ़ाई, 20 फीसदी नमूनों के पुन: सत्यापन का अनुरोध ठुकराया◾PM मोदी देश को बताएं कि उनकी ट्रंप से क्या बात हुई थी : राहुल गांधी◾

दिल्ली – एन. सी. आर.

‘पुलिस पर भरोसा नहीं सीबीआई करे जांच’

पूर्वी दिल्ली : राजधानी का एक आम परिवार भी दिल्ली पुलिस पर क्यों विश्वास करे जब एक सब इंस्पेक्टर के परिवार को ही महकमे पर भरोसा नहीं है। जी हां शाहदरा ​डिस्ट्रिक्ट के विवेक​ विहार इलाके में धड़ले से नशा और सट्टे का कारोबार चलाने वालों के खिलाफ आवाज उठाने वाले एसआई राजकुमार के परिवार ने उनकी मौत की जांच सीबीआई से कराने की मांग की है। परिवार का आरोप है कि पुलिस हत्या का केस दर्ज करने के बाद अब अपनी साख बचाने के लिए हत्या की इस वारदात को हार्ट अटैक से मौत का रंग देने का प्रयास कर रही है। जिस कारण आरोपी छूट सकता है।

इधर, परिवार ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से सोमवार शाम को सुरक्षा की भी मांग की थी, लेकिन उस पर भी कोई सुनवाई नहीं हुई। यही कारण हैं कि अब परिवार को पुलिस पर भरोसा नहीं रहा। बेटी रजनी ने बताया कि परिजनों ने पिता की हत्या की साजिश में शामिल कई लोगों का नाम लिखवाए, लेकिन पुलिस ने बस विजय उर्फ भूरी को गिरफ्तार किया है। बाकी आरोपियों का एफआईआर में जिक्र नहीं है। अन्य आरोपी बाहर घूम रहे हैं। छोटी बेटी हन वैशाली विवेक विहार थाने में लिखित में सुरक्षा की मांग का पत्र वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को सौंपा था। हालांकि 24 घंटे से अधिक बीतने के बाद भी सुरक्षा मुहैया नहीं कराई गई।

पत्नी शशिबाला ने भी गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि सुबह अपनी प्रतिष्ठा बचाने के लिए पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया।शाम होते-होते वरिष्ठ अधिकारियों के सुर बदल गए। वह कहने लगे कि पिटाई से राजकुमार की मौत नहीं हुई, बल्कि हार्ट अटैक से मौत हो गई। ऐसे में पुलिस जल्द ही एफआईआर से हत्या की धारा हटाकर केस को हल्का कर सकती है। परिवार का आरोप है कि नशे का सौदा करने वाले आरोपी पुलिस को मोटा पैसा पहुंचाते हैं। इसी कारण पुलिस अपने महकमे के अधिकारी को इंसाफ दिलाने के बजाए आरोपियों का पक्ष ले रही है।

डीसीपी मौन... कल तक बेबाकी से ऑन कैमरा ये कहने वाली कि ​कहां शराब नहीं बिक रही है डीसीपी शाहदरा मेघना यादव से जब पीड़ित परिवार द्वारा पुलिस पर लगाए गए आरोपों के बारे में पूछाना चाहा तो उन्होंने फोन नहीं उठाया, न ही मैसेज पर कोई प्रतिक्रिया दी। इससे साफ है कि पुलिस के पास अपनी सफाई में कहने के लिए कुछ नहीं है। ज्वाइंट सीपी ईस्टर्न रेंज आलोक कुमार का कहना है कि आरोपों की जांच कराई जाएगी। उसी आधार पर आगे की कार्रवाई होगी।

अपराधियों को मिले कड़ी सजा : गोयल केंद्रीय मंत्री विजय गोयल मंगलवार को एसआई राजकुमार के परिजनों से मिलने पहुंचे। उन्होंने परिजनों को सांत्वना दी और परिजनों ने घटना की जानकारी ली। परिजनों ने उनके सामने भी पुलिस की जांच पड़ताल को लेकर सवाल खड़े किए, साथ ही इलाके में हो रही मादक पदार्थों की बिक्री पर पूरी तरह से प्रतिबंध लगाने की मांग की।

इसके बाद विजय गोयल ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि एसआई राजकुमार की हत्या के अपराधियों को कड़ी सजा मिलनी चाहिए। गोयल ने इस बात पर भी चिंता व्यक्त की कि इलाके में पुलिस चौकी होने के बावजूद भी पुलिस अपराध पर अंकुश नहीं लगा पा रही है।

उन्होंने एसीपी और एसएचओ को हिदायतें दी कि सीसीटीवी में जो घटना रिकाॅर्ड हुई है, उसे देखने पर तो यही लग रहा है हमले और झगड़े के कारण ही राजकुमार को ह्दयघात हुआ। कस्तूरबा नगर में जहां जहां शराब और सट्टे का अवैध कारोबार चल रहा है तो उस पर कठोर कार्रवाई होनी चाहिए।