BREAKING NEWS

RCB vs MI: मुंबई इंडियंस ने टॉस जीतकर चुनी गेंदबाजी, आरसीबी को दिया बल्लेबाजी का न्योता◾रियल एस्टेट सेक्टर पर कोरोना की भारी मार, जुलाई-सितंबर के दौरान घरों की बिक्री 61 प्रतिशत घटी ◾3 अक्टूबर को प्रधानमंत्री मोदी अटल सुरंग रोहतांग का करेंगे उद्घाटन, सामरिक रूप से है बेहद खास ◾रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने नयी रक्षा खरीद प्रक्रिया को किया जारी, स्वदेशी उत्पादन को मिलेगा बढ़ावा ◾सुशांत केस को लेकर सीबीआई का बयान- हर पहलू से की जा रही है जांच◾भारत में 50 लाख से अधिक कोरोना मरीज हुए संक्रमण मुक्त, रिकवरी रेट पहुंचा 82.58 प्रतिशत◾शिवसेना का राजग पर निशाना : इस गठबंधन में अब राम नहीं बचे हैं, जिसने अपने दो शेर खो दिये हैं ◾अनलॉक 5 की गाइडलाइन्स : खुल सकते है पर्यटन स्थल और सिनेमा हॉल,मिल सकती है अधिक छूट ◾केंद्र का सुप्रीम कोर्ट में जवाब : टाली गई किस्तों पर बैंकों के ब्याज में छूट को लेकर निर्णय जल्द ◾बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दलों के लिए निर्वाचन आयोग द्वारा गाइडलाइन्स जारी◾कृषि बिल पर राहुल का वार- किसानों के लिए मौत का फरमान है नया कानून, देश में मर चुका है लोकतंत्र◾कृषि विधेयक के विरोध में कर्नाटक में राज्यव्यापी बंद, कार्यकर्ताओं ने बस स्टेशनों को किया सीज◾कोविड-19 : देश में 95 हजार से अधिक लोगों ने गंवाई जान, पॉजिटिव केस की संख्या 60 लाख के पार◾भगत सिंह की जयंती आज, पीएम मोदी बोले- उनकी वीरता की गाथा देशवासियों को युगों तक प्रेरित करती रहेगी◾TOP 5 NEWS 28 SEPTEMBER : आज की 5 सबसे बड़ी खबरें◾दिल्ली : कृषि बिल को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी, कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने इंडिया गेट पर ट्रैक्टर में लगाई आग◾दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 3 करोड़ 30 लाख के पार, 10 लाख के करीब लोगों की मौत ◾आज का राशिफल (28 सितम्बर 2020)◾IPL 2020 : राजस्थान रायल्स ने किंग्स इलेवन पंजाब को 4 विकेट से हराया ◾महाराष्ट्र में कोरोना का कोहराम बरकरार, बीते 24 घंटे में 18,056 नए केस, 380 की मौत ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

सरकार के ‘छात्र विरोधी’ कदमों के खिलाफ एनएसयूआई ने निकाली रैली

कांग्रेस की छात्र इकाई एनएसयूआई ने राजग सरकार की राष्ट्रीय शिक्षा नीति और कथित छात्र विरोधी कदमों के विरोध में मंगलवार को विरोध मार्च निकाला। 

पुलिस ने मार्च में शामिल लोगों को हालांकि तितर-बितर कर दिया। प्रदर्शनकारियों ने जंतर-मंतर पर डीटीसी की एक बस को क्षतिग्रस्त कर दिया।

मंडी हाउस से ‘छात्र अधिकार’ रैली की शुरुआत हुई। देश के विभिन्न हिस्सों से आये एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने संसद भवन की ओर मार्च किया। पुलिस ने उन्हें जय सिंह मार्ग पर वाईएमसीए के निकट रोक लिया। 

कुछ प्रदर्शनकारी सड़क पर ही बैठ गये और सड़क जाम करने का प्रयास किया। पुलिस और अर्द्धसैनिक बलों के जवानों ने उन्हें वहां से हटाया। 

नेशनल स्टूडेन्ट्स यूनियन ऑफ इंडिया (एनएसयूआई) के नेताओं ने दावा किया कि उनके चार सदस्य घायल हो गये क्योंकि पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए बल का इस्तेमाल किया। 

एनएसयूआई की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष अक्षय लाकड़ा ने दावा किया, ‘‘पुलिस ने हमारे कई सदस्यों की पिटाई की। कई सदस्यों को पार्लियामेंट स्ट्रीट और मंदिर मार्ग पुलिस थानों में हिरासत में रखा गया।’’ 

दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि प्रदर्शनकारियों को तितर-बितर करने के लिए बल का इस्तेमाल नहीं किया गया। 

उन्होंने कहा, ‘‘जब प्रदर्शनकारी संसद की ओर बढ़ रहे थे और पुलिस के रोके जाने पर सड़क जाम करने का प्रयास कर रहे थे तो उनमें से लगभग 35 को पार्लियामेंट स्ट्रीट पुलिस थाने में हिरासत में रखा गया था।’’ 

उन्होंने कहा कि कुछ प्रदर्शनकारियों ने डीटीसी की एक बस की खिड़की के शीशे तोड़ दिये। 

इससे पूर्व एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने मंडी हाउस से जंतर-मंतर तक मार्च निकाला जहां विरोध मार्च एक जनसभा में बदल गया। 

सभा को संबोधित करते हुए एनएसयूआई नेताओं ने शुल्क वृद्धि, परिसरों के भगवाकरण, शिक्षा के निजीकरण और बेरोजगारी जैसे मुद्दों पर राजग सरकार पर निशाना साधा। 

कांग्रेस नेता दीपेन्द्र हुड्डा ने इस मौके पर कहा कि शुल्क वृद्धि और मोदी सरकार द्वारा शिक्षा के निजीकरण की वजह से गरीब छात्र उच्च शिक्षा के अवसरों से वंचित हो रहे हैं। 

उन्होंने कहा, ‘‘मोदी सरकार की गलत नीतियों के कारण छात्रों और युवाओं के सामने रोजगार के अवसर कम हो रहे हैं। वहीं दूसरी ओर सरकार शुल्क वृद्धि करके उच्च शिक्षा हासिल करने से गरीबों को रोक रही है।’’