BREAKING NEWS

दिल्ली हिंसा : AAP पार्षद ताहिर हुसैन के घर को किया गया सील, SIT करेगी हिंसा की जांच◾दिल्ली HC में अरविंद केजरीवाल, सिसोदिया के निर्वाचन को दी गई चुनौती◾दिल्ली हिंसा की निष्पक्ष जांच हो, दोषियों को मिले कड़ी से कड़ी सजा -पासवान◾CAA पर पीछे हटने का सवाल नहीं : रविशंकर प्रसाद◾बंगाल नगर निकाय चुनाव 2020 : राज्य निर्वाचन आयुक्त मिले पश्चिम बंगाल के गवर्नर से◾दिल्ली हिंसा : आप पार्षद ताहिर हुसैन के घर से मिले पेट्रोल बम और एसिड, हिंसा भड़काने की थी पूरी तैयारी ◾TOP 20 NEWS 27 February : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾T20 महिला विश्व कप : भारत ने लगाई जीत की हैट्रिक, शान से पहुंची सेमीफाइनल में ◾पार्षद ताहिर हुसैन पर लगे आरोपों पर बोले केजरीवाल : आप का कोई कार्यकर्ता दोषी है तो दुगनी सजा दो ◾दिल्ली हिंसा में मारे गए लोगों के परिवार को 10-10 लाख का मुआवजा देगी केजरीवाल सरकार◾दिल्ली में हुई हिंसा का राजनीतिकरण कर रही है कांग्रेस और आम आदमी पार्टी : प्रकाश जावड़ेकर ◾दिल्ली हिंसा : केंद्र ने कोर्ट से कहा-सामान्य स्थिति होने तक न्यायिक हस्तक्षेप की जरूरत नहीं ◾ताहिर हुसैन को ना जनता माफ करेगी, ना कानून और ना भगवान : गौतम गंभीर ◾सीएए हिंसा : चांदबाग इलाके में नाले से मिले दो और शव, मरने वालो की संख्या बढ़कर 34 हुई◾दिल्ली हिंसा को लेकर कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने राष्ट्रपति को सौंपा ज्ञापन, गृह मंत्री को हटाने की हुई मांग◾न्यायधीश के तबादले पर बोले रणदीप सुरजेवाला : भाजपा की दबाव और बदले की राजनीति का हुआ पर्दाफाश ◾दिल्ली हिंसा : दंगाग्रस्त इलाकों में दुकानें बंद, शांति लेकिन दहशत का माहौल ◾जज मुरलीधर के ट्रांसफर पर बोले रविशंकर- कोलेजियम की सिफारिश पर हुआ तबादला ◾उत्तर-पूर्वी दिल्ली में सीएए को लेकर हुई हिंसा में मरने वालों का आकंड़ा 32 पहुंचा◾दिल्ली हिंसा : जज मुरलीधर के ट्रांसफर को कांग्रेस ने बताया दुखद और शर्मनाक◾

‘हमारा मकसद दिल्ली के हर युवा को रोजगार दिलवाना है’

नई दिल्ली : दिल्ली विधानसभा सत्र के अंतिम दिन मंगलवार को दिल्ली स्किल एंड एंटरप्रेन्योरशिप यूनिवर्सिटी बिल सदन में सर्व सम्मति से पास हो गया। इस दौरान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हमारा मकसद है कि दिल्ली के हर युवा को रोजगार मिले। यह बिल इस मकसद को पूरा करेगा। इससे दिल्ली के युवाओं को रोजगार मिलेगा। यह यूनिवर्सिटी दुनियाभर में रिसर्च कर रोजगार के अवसरों की तलाशेगी और फिर उनसे संबंधित कोर्स को लागू करेगी।

इस यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले युवाओं को नई जरूरत व उद्योगों के हिसाब से तैयार किया जायेगा। जिससे देश के युवाओं के सामने मौजूद बेरोजगारी की समस्या समाप्त होगी। सीएम ने कहा कि इस यूनिवर्सिटी का दूसरा माइलस्टोन यह होगा कि उसमें केवल एडमिशन लेने वाले नहीं बल्कि दिल्ली के एक-एक युवा को रोजगार दिलाने की कोशिश की जायेगी। यह केवल दिल्ली के अंदर ही नहीं बल्कि पूरे देश व दुनिया के अंदर रोजगार की संभावनाएं तलाशेगी। 

कहां किस तरह की संभावनाएं हैं और किस तरह की संभावनाएं पैदा की जा सकती हैं। इन चीजों पर यूनिवर्सिटी काम करेगी। जहां-जहां इस तरह की संभावनाएं दिखाई देंगी। उसके लिए अपने युवाओं को तैयार करेगी। इस बारे में उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि लगभग 2.25 - 2.5 लाख छात्र प्रतिवर्ष दिल्ली के निजी और सरकारी स्कूलों से पास आउट होते हैं। 

जब हमने 2015 में सरकार बनाई थी तब केवल 1.1 लाख छात्रों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने का अवसर मिला था। हमने सीटों को बढ़ाकर 1.6 लाख कर दिया है। यह विश्वविद्यालय न केवल नौकरी चाहने वालों को बल्कि नौकरी देने वालों को भी पैदा करेगा। विश्वविद्यालय ऑस्ट्रेलिया, जर्मनी, फिनलैंड और ब्राजील में स्थित अत्याधिक सफल मॉडल का अनुकरण करेगा। 

ओखला में होगा यूनिवर्सिटी का मुख्यालय 

इस यूनविर्सिटी का मुख्यालय ओखला स्थित टेली टूल इंजीनियरिंग काॅलेज में स्थापित होगा। इसके कोर्स व फीस को डिजाइन करने के लिए विशेषज्ञों की एक टीम बनेगी। इतना ही नहीं इसमें दिल्ली के सभी आईआईटी और पॉलिटेक्निक सेंटर को मर्ज किया जाएगा। इससे स्कूल स्तर से बच्चे स्किल बेस्ड कोर्स करने के लिए प्रेरित होंगे।

85% सीटें दिल्ली के लिए 

इस यूनिवर्सिटी मे 85 प्रतिशत सीटें दिल्ली के बच्चों के लिए आरक्षित होंगी। इसमें डिप्लोमा से लेकर रिसर्च तक की पढ़ाई होगी और छह माह से लेकर दो वर्ष तक के कोर्स होंगे। यह देश में अपनी तरह का पहला विश्वविद्यालय होगा जहां बेस्ट इंडस्ट्रियल गतिविधियों अपनाने के लिए औद्योगिक विशेषज्ञों को शामिल किया जाएगा।