BREAKING NEWS

UP चुनाव: लखीमपुर, पीलीभीत BJP के लिए बने मुसीबत का सबब, पार्टी हो रही अंदरूनी मन-मुटाव का शिकार ◾कर्नाटक के पूर्व CM बीएस येदियुरप्पा की नातिन ने की आत्महत्या, पुलिस जांच में जुटी◾नवजोत सिंह सिद्धू की बहन ने पूर्व कांग्रेस प्रमुख को बताया 'क्रूर इंसान', कहा- पैसों की खातिर मां को छोड़ा...◾गोवा: विधानसभा चुनाव से पहले कांग्रेस को लगा झटका, पूर्व CM प्रतापसिंह राणे ने इलेक्शन नहीं लड़ने का लिया फैसला◾यूपी : चुनाव प्रचार के लिए 31 जनवरी को अमित शाह देंगे आजम के गढ़ में दस्तक, घर-घर मांगेगे वोट ◾भय्यू महाराज खुदकुशी मामला: एक महिला समेत तीन सहयोगियों को 6 साल की सश्रम कारावास की सजा◾कोविड टीकाकरण : देश में एक करोड़ से अधिक लोगों को लगी एहतियाती खुराक, सरकार ने दी जानकारी ◾BJP ने SP की लिस्ट को बताया माफियाओं की सूची, कानून-व्यवस्था और विकास पर अखिलेश को दी चुनौती ◾दिल्ली : विवेक विहार गैंगरेप मामले में 9 महिलाओं समेत अब तक 11 गिरफ्तार◾खुलकर आई धनखड़ Vs TMC की लड़ाई, पार्टी लाएगी राज्यपाल के खिलाफ प्रस्ताव, अन्य दलों से मांगेगी सहयोग ◾यूपी: 'लाल टोपी वाले गुंडे' वाले बयान का सपा उठा रही चुनावी फायदा, कार्यकर्ताओं के लिए बना स्टेटस सिम्बल ◾चौथे चरण के लिए BSP ने की 53 उम्मीदवारों की घोषणा, दलितों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों में बनाया संतुलन ◾बजट सत्र से पहले कांग्रेस के संसदीय रणनीति समूह की बैठक, इन मुद्दों को लेकर विपक्ष का निशाना बनेगी सरकार◾कांग्रेस ने किया केजरीवाल का घेराव, कहा- शीला दीक्षित जी के कामों को अपना बता, जनता को कर रहे गुमराह ◾करिअप्पा ग्राउंड में दिखा PM मोदी का अलग अंदाज, पगड़ी-काला चश्मा लगाकर NCC रैली को किया सम्बोधित◾ओमीक्रॉन के बीच सामने आया कोरोना का एक और जानलेवा वेरिएंट 'NeoCov', वैज्ञानिकों ने दी चेतावनी ◾प्रमोशन में आरक्षण पर SC का फैसला, तय मानदंडों में हस्तक्षेप से किया इनकार◾अरुणाचल प्रदेश के युवक की वापसी पर बोले राहुल-क्या कब्ज़ा की हुई जमीन भी लौटाएगा चीन?◾UP के चुनावी घमासान में सांस ले रहा पाकिस्तान का मुद्दा, योगी ने अखिलेश को बताया 'जिन्ना का उपासक' ◾केरल : सरकार ने खारिज की मुस्लिम छात्रा की हिजाब पहनने की अर्जी, धर्मनिरपेक्षता का दिया हवाला◾

CAG ऑडिट दिवस : PM मोदी बोले-आने वाले समय में डेटा के जरिए देखा और समझा जाएगा हमारा इतिहास

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज नियंत्रक और महालेखा परीक्षक (CAG) के कार्यालय में सरदार वल्लभ भाई पटेल की एक प्रतिमा का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने पहले ऑडिट दिवस पर आयोजित एक कार्यक्रम को संबोधित किया। अपने संबोधन में उन्होंने कहा कि  आने वाले समय में हमारा इतिहास भी डेटा के जरिए देखा और समझा जाएगा।

प्रधानमंत्री ने कहा, बहुत कम संस्थान हैं जो समय के साथ मजबूत, अधिक परिपक्व और अधिक प्रासंगिक होते जाते हैं। अधिकांश संस्थान कुछ दशकों के बाद प्रासंगिकता खो देते हैं। लेकिन कैग एक विरासत है और हर पीढ़ी को इसे संजोना चाहिए। बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। मैं इस महत्वपूर्ण संस्था के माध्यम से देश की सेवा के लिए समर्पित आप सभी लोगों को ऑडिट दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं देता हूँ।

उन्होंने कहा, एक संस्था के रूप में CAG न केवल देश के खातों का हिसाब किताब चेक करता है बल्कि प्रोडक्टिविटी में एफिशिएंसी में वैल्यू एडिशन भी करता है। इसलिए ऑडिट दिवस और इससे जुड़े कार्यक्रम हमारे चिंतन मंथन, हमारे सुधारों का महत्वपूर्ण हिस्सा है। 

एक समय ऑडिट को आशंका और भय के साथ देखा जाता था

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, एक समय था, जब देश में ऑडिट को एक आशंका, एक भय के साथ देखा जाता था। ‘CAG बनाम सरकार’, ये हमारी व्यवस्था की सामान्य सोच बन गई थी। लेकिन, आज इस मानसिकता को बदला गया है। आज ऑडिट को वैल्यू एडिशन का अहम हिस्सा माना जा रहा है। लेकिन हमने पूरी ईमानदारी के साथ पिछली सरकारों का सच देश के सामने रखा। हम समस्याओं को पहचानेंगे तभी तो समाधान तलाश कर पाएंगे। 

भारत की अर्थव्यवस्था की दुनिया भर में चर्चा और स्वागत

प्रधानमंत्री ने कहा, पहले देश के बैंकिंग सेक्टर में पारदर्शिता की कमी के चलते तरह-तरह की प्रैक्टिस चलती थीं। परिणाम ये हुआ कि बैंको के NPAs बढ़ते गए। NPAs को कार्पेट के नीचे कवर करने का जो कार्य पहले के समय किया गया, वो आप भली-भांति जानते हैं। हमने अप्रयुक्त और कम उपयोग वाले तत्वों का मुद्रीकरण करने का साहसिक निर्णय लिया। उन फैसलों के परिणामस्वरूप हमारे पास एक पुनर्जीवित अर्थव्यवस्था है, जिस पर दुनिया भर में चर्चा और स्वागत किया जा रहा है।

हमारा इतिहास भी डेटा के जरिए देखा और समझा जाएगा

प्रधानमंत्री ने कहा, पुराने समय में जानकारी, कहानियों के जरिए प्रसारित होती थी। कहानियों के जरिए ही इतिहास लिखा जाता था। लेकिन आज 21वीं सदी में, डेटा ही जानकारी है और आने वाले समय में हमारा इतिहास भी डेटा के जरिए देखा और समझा जाएगा।