BREAKING NEWS

पंजाब, हरियाणा के किसान कृषि विधेयकों के खिलाफ 25 सितम्बर को करेंगे विरोध प्रदर्शन◾MP में किसानों के फसल कर्ज माफी पर बोले राहुल - कांग्रेस ने जो कहा, सो किया◾KXIP VS RCB (IPL 2020) : रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की करारी हार, किंग्स इलेवन पंजाब ने RCB को 97 रनों से हराया◾भारत-चीन सीमा विवाद : दोनों पक्ष सैनिकों को पीछे हटाने के लिए वार्ता जारी रखेंगे - विदेश मंत्रालय◾ड्रग्स केस: गोवा से मुंबई पहुंचीं दीपिका पादुकोण, शनिवार को NCB करेगी पूछताछ◾ KXIP vs RCB IPL 2020 : पंजाब ने बैंगलोर को दिया 207 रनों का टारगेट, केएल राहुल ने जड़ा शतक◾महाराष्ट्र में कोरोना के 19164 नए केस, 17185 मरीज हुए ठीक◾जाप ने जारी किया चुनावी घोषणा पत्र, बेरोजगारों को रोजगार देने का किया वादा ◾COVID-19 से संक्रमित मनीष सिसोदिया डेंगू से भी पीड़ित हुए, लगातार गिर रही है ब्लड प्लेटलेट्स◾कृषि और श्रम कानून को लेकर राकांपा का केंद्र पर तंज, कहा- ईस्ट इंडिया कंपनी स्थापित कर रही है सरकार ◾महिला अपराध पर सीएम योगी सख्त, छेड़खानी और बलात्कारियों के पोस्टर लगाने का दिया आदेश ◾कांग्रेस का बड़ा आरोप - केंद्र सरकार ने कृषि विधेयकों के जरिए नयी जमींदारी प्रथा का उद्घाटन किया◾IPL 2020 KXIP vs RCB: रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का किया फैसला◾कृषि बिल के विरोध पर बोले केंद्रीय मंत्री तोमर, कांग्रेस पहले अपने घोषणापत्र से मुकरने की करे घोषणा◾महीनों के लॉकडाउन के बाद भी नहीं थम रहा है कोरोना, जानिये भारत क्यों चुका रहा है भारी कीमत◾केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने कहा- विपक्षी दलों की राजनीति हो गई है दिशाहीन ◾ICU में भर्ती डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया की हालत स्थिर, अगले कुछ दिनों में फिर होगा कोरोना टेस्ट ◾रेलवे ने जताई चिंता - 'रेल रोको आंदोलन' से जरूरी सामानों और राशन की आवाजाही पर पड़ेगा असर ◾महाराष्ट्र : एकनाथ शिंदे भी कोरोना वायरस से संक्रमित, संपर्क में आए लोगों से जांच करवाने की अपील की ◾कांग्रेस ने अमित शाह की रैली को बताया जनता का अपमान, कोरोना संकट में धनबल की राजनीति का लगाया आरोप◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

भीकाजी कामा प्लेस मेट्रो स्टेशन के नजदीक जेएनयू के छात्रों पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

राष्ट्रपति भवन की तरफ मार्च कर रहे जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) के छात्रों को पुलिस ने भीकाजी कामा प्लेस मेट्रो स्टेशन के पास रोक लिया और उन पर लाठीचार्ज किया। छात्रावास शुल्क में बढ़ोतरी के मुद्दे पर छात्र राष्ट्रपति से मुलाकात करना चाह रहे थे। 

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय से छात्रों के मार्च से पहले काफी संख्या में पुलिस बल की तैनाती की गई थी। परिसर की तरफ जाने वाली सड़कों पर यातायात रोक दी गई थी और छात्रों से अपील की गई कि वे शांतिपूर्ण तरीके से विरोध करें। 

छात्रों ने तस्वीरें दिखाकर दावा किया कि पुलिस ने मार्च शुरू होने से पहले जेएनयू के सभी प्रवेश द्वारों को बंद कर दिया। छात्रों ने ‘‘दिल्ली पुलिस वापस जाओ’’ और ‘‘सभी के लिए निशुल्क शिक्षा’’ के नारे लगाए। छात्र जब घेराबंदी वाले क्षेत्र में पहुंचे तो उन्होंने बैरीकेड को पार करने का प्रयास किया जिसके बाद पुलिस ने उन पर लाठीचार्ज किया। 

छात्रों की योजना विश्वविद्यालय परिसर से राष्ट्रपति भवन तक मार्च करने की थी जहां वे राष्ट्रपति से मिलने का समय मांगने वाले थे। राष्ट्रपति जेएनयू के विजिटर भी हैं। वे चाहते थे कि राष्ट्रपति इसमें हस्तक्षेप करें और सुनिश्चित करें कि छात्रावास शुल्क में बढ़ोतरी वापस ली जाए। 

अधिकारियों ने प्रदर्शनों की आशंका के चलते उद्योग भवन, लोक कल्याण मार्ग और केन्द्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशनों पर सोमवार को यात्रियों का प्रवेश और निकास बंद कर दिया। दिल्ली यातायात पुलिस ने बताया कि छात्रों के प्रदर्शन और लंबे मार्च के कारण बाबा गंगनाथ मार्ग पर यातायात की आवाजाही बंद है। 

जेएनयू छात्र छात्रावास की फीस बढ़ाए जाने के खिलाफ एक महीने से प्रदर्शन कर रहे हैं और उन्होंने प्रशासन की बार-बार चेतावनियों के बावजूद आगामी सेमेस्टर परीक्षाओं का बहिष्कार करने का भी आह्वान किया है। मानव संसाधन विकास मंत्रालय ने जेएनयू में सामान्य कामकाज बहाल करने और प्रदर्शनरत छात्रों तथा प्रशासन के बीच मध्यस्थता करने के तरीकों को तलाशने के लिए तीन सदस्यीय समिति भी गठित की। समिति ने मंत्रालय को अपनी रिपोर्ट सौंप दी है लेकिन अभी तक कोई फैसला नहीं लिया गया है।