BREAKING NEWS

दिल्ली में कोरोना के 2,373 नए मरीज आये सामने , कुल मामले बढ़कर 92,000 के पार ◾अप्रैल 2023 से शुरू होगा निजी ट्रेनों का परिचालन, जानिये सफर में क्या होंगे खास और आधुनिक बदलाव◾कांग्रेस को चुनौती देते हुए ज्योतिरादित्य सिंधिया का पलटवार, कहा - टाइगर अभी जिंदा है ◾म्यांमार में बड़ा हादसा, हरे पत्थर की खदान में भूस्खलन से करीब 123 लोगों की मौत ◾चीन के साथ तनाव के बीच, लद्दाख में भारत ने स्पेशल फोर्स के जवानों को तैनात किया◾बिहार में आकाशीय बिजली ने आज फिर बरपाया कहर, चपेट में आने से 20 लोगों की हुई मौत◾चीन के साथ तनाव के बीच मोदी सरकार ने Mig-29 और सुखोई विमानों की खरीद को दी मंजूरी◾रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का लद्दाख दौरा हुआ स्थगित, सैन्य तैयारियों का लेना था जायजा◾राहुल ने केंद्र पर रेलवे का निजीकरण करने का लगाया आरोप, बोले- रेल को भी गरीबों से छीन रही है सरकार◾रविशंकर प्रसाद बोले-अगर कोई बुरी नजर डालता है तो भारत मुंहतोड़ जवाब देगा◾दिल्ली में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए शाह ने आज योगी,केजरीवाल और खट्टर की बुलाई बैठक ◾ जम्मू-कश्मीर के पुंछ में पाकिस्तानी सेना ने एक बार फिर किया संघर्ष विराम का उल्लंघन ◾देश के पहले 'प्लाज्मा बैंक' का CM केजरीवाल ने किया उद्घाटन, जाने कैसे डोनेट कर सकते हैं प्लाज्मा◾मध्यप्रदेश : शिवराज चौहान के मंत्रिमंडल का हुआ विस्तार, 20 कैबिनेट और 8 राज्यमंत्री ने ली शपथ ◾देश में कोरोना का आंकड़ा 6 लाख के पार, पिछले 20 दिनों के अंदर 3 लाख से अधिक केस आए सामने ◾दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1 करोड़ 6 लाख के पार, अब तक 5 लाख से अधिक लोगों ने गंवाई जान ◾असम में बाढ़ से जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 33 हुई, 15 लाख लोग हुए प्रभावित◾प्रियंका गांधी का मकान खाली कराने का कदम PM मोदी और CM योगी की बेचैनी दिखाता है : कांग्रेस◾रेलवे ने दी निजी यात्री ट्रेने शुरू करने को हरी झंडी, 30,000 करोड़ रुपये का होगा निवेश◾भारत के साथ सैन्य कमांडरों की बातचीत में प्रगति का चीन ने किया स्वागत, कहा - तनाव जल्द कम होगा ◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

दिल्ली प्रदूषण पर बोले प्रकाश जावड़ेकर- राजनीति न करें केजरीवाल

वन, पर्यावरण, जलवायु परिवर्तन और सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में प्रदूषण के बदतर हालात पर चिंता जताते दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर प्रदूषण को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाया है। प्रकाश जावड़ेकर ने शनिवार को एक कार्यक्रम में पत्रकारों के सवाल के जवाब में कहा कि यह बहुत ही गलत बात है कि एक संवैधानिक पद पर आसीन व्यक्ति इस तरह की राजनीतिक कर रहे हैं। 

उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार ने पिछले पांच वर्षों में प्रदूषण से निपटने के लिए अनेक कदम उठाए हैं और 17 हजार करोड़ रुपए की लागत से ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेवे बनाया गया है जहां से रोजाना 60 हजार ट्रक गुजरते हैं और इन ट्रकों के दिल्ली नहीं आने से भी प्रदूषण में काफी कमी आई है। इसके अलावा राजधानी में बदरपुर संयंत्र को बंद कराया गया है और तीन हजार उद्योगों को पीएनजी प्रणाली पर लाया गया है। राजधानी से सटे क्षेत्रों में तीन हजार ईंट भट्टों को जिग जैग तकनीक से चलाया गया है। केंद्र सरकार ने पंजाब और हरियाणा सरकार को 1100 करोड़ रुपए दिए हैं और यह राशि किसानों को वितरित की गई है ताकि वे मशीनें खरीद ले और पराली को निपटारा इसमें करें। 

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री प्रदूषण का राजनीतिकरण कर रहे हैं और आरोप-प्रत्यारोप के खेल पर उतर आए हैं। पिछले 15 वर्षों में राजधानी की हवा काफी बिगड़ गई है और इस मसले पर सभी को मिलकर काम करने की जरूरत है लेकिन दिल्ली सरकार प्रदूषण को कम करने का श्रेय खुद ही ले रही है और इस बात को प्रचारित करने के लिए उसने 1500 करोड़ रुपए सिर्फ विज्ञापनों पर खर्च किए है। इसके बजाए अगर दिल्ली सरकार यह राशि पंजाब और हरियाणा के किसानों को दे देती तो वे मशीनें खरीद सकते थे। 

उन्होंने यह भी कहा कि दिल्ली सरकार ने मेट्रो के एक चरण के अपने हिस्से की धनराशि भी नहीं दी थी और इस मामले में अदालत को हस्तक्षेप करना पड़ा था। इसके अलावा ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेवे के लिए जो 3500 करोड़ रुपये देने थे वो नहीं दिए, अगर हम एक-दूसरे पर इसी तरह आरोप लगाते रहे तो कई मुद्दे उठ खड़े होंगे। 

दिल्ली में प्रदूषण के बढ़ते स्तर से हेल्थ इमरजेंसी लागू, UP में आपात बैठक

उन्होंने कहा कि लोगों को प्रदूषण से राहत दिलाना सभी पक्षों की जिम्मेदारी दायित्व है और केजरीवाल हरियाणा और पंजाब सरकार पर आरोप लगाने के बजाय पंजाब, हरियाणा, राजस्थान और दिल्ली को एक साथ मिलकर प्रदूषण से बचाव का उपाय तलाशना होगा। प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि केजरीवाल बच्चों को इस लड़ाई में शामिल कर रहे हैं और हरियाणा तथा पंजाब के मुख्यमंत्री को वह बच्चों के सामने एक खलनायक की तरह पेश कर रहे हैं।