BREAKING NEWS

विधानसभा सत्र से पहले पायलट ने राहुल और प्रियंका से की मुलाकात, घर वापसी की अटकलें तेज◾कोविड-19 : देश में रिकवरी दर 69 फीसदी के पार, मृत्यु दर घटकर दो प्रतिशत के करीब ◾पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी कोरोना पॉजिटिव, ट्वीट कर दी जानकारी ◾इस स्वतंत्रता दिवस पर वाजपेयी का रिकॉर्ड तोड़ेंगे PM मोदी, 7वीं बार लाल किले से फहराएंगे तिरंगा◾आप्टिकल फाइबर परियोजना के उद्घाटन पर बोले पीएम मोदी- यह प्रोजेक्ट अंडमान-निकोबार को दुनिया से जोड़ेगा ◾मणिपुर में आज बीरेन सिंह सरकार का बहुमत परीक्षण, कांग्रेस-BJP ने विधायकों को जारी किया व्हिप◾कोरोना वायरस : देश में पिछले 24 घंटे में एक हजार से अधिक लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 22 लाख के पार ◾देश में संसाधनों की लूट को रोकने के लिए EIA 2020 का मसौदा वापस ले सरकार : राहुल गांधी◾World Corona : विश्व में संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 97 लाख के पार, 7 लाख 29 हजार की मौत ◾जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों के हमले में घायल भाजपा नेता ने इलाज के दौरान तोड़ा दम◾राजनाथ सिंह आज से ‘आत्मनिर्भर भारत सप्ताह’ की करेंगे शुरुआत, रक्षा मंत्री कार्यालय ने ट्वीट कर दी जानकारी ◾विधायकों की एकता के कारण भाजपा को बाड़बंदी करनी पड़ी, अब एकता की झलक विधानसभा में दिखानी है : गहलोत ◾आंध्र प्रदेश में 24 घंटे में कोरोना के 10820 नए केस, 97 लोगों की मौत ◾राहुल गांधी ने नए ईआईए 2020 मसौदे के खिलाफ लोगों से प्रदर्शन करने की अपील की◾राम के बाद बुद्ध पर विवाद, विदेश मंत्री के बयान पर नेपाल ने जताई आपत्ति◾अध्यक्ष के चुनाव की ‘उचित प्रक्रिया’ का पालन होने तक सोनिया गांधी अंतरिम अध्यक्ष बनी रहेंगी◾केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा- कृषि अवसंरचना कोष से किसानों को मिलेगा फायदा, रोजगार पैदा होंगे◾कोरोना जांच की क्षमता बढ़ाते हुए एक दिन में रिकॉर्ड 7 लाख जांच की गईं: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ◾कर्नाटक के स्वास्थ्य मंत्री बी श्रीरामुलु कोरोना पॉजिटिव पाए गए ◾दिल्ली में कोरोना के 1300 नए मामलें की पुष्टि, संक्रमितों की संख्या 1.45 लाख से अधिक◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

स्कूल की छत गिरी, छात्राएं घायल

नई दिल्ली : पूर्वी दिल्ली नगर निगम के जाफराबाद स्थित स्कूल में सोमवार को उस वक्त छात्राओं की जान खतरे में पड़ गई, जब स्कूल की छत का हिस्सा टूट कर छात्राओं के ऊपर आकर गिर गया। गनीमत रही कि छात्रा बेंच से थोड़ी दूर पर बैठी थी, जिसकी वजह से वह गंभीर हादसा होने से टल गया। हालांकि इस हादसे में भी उसके चेहरे और हाथ में चोट आई है। 

उधर स्कूल की छत का हिस्सा गिरने पर विपक्ष ने भी न सिर्फ अधिकारियों बल्कि महापौर अंजू और शिक्षा समिति के अध्यक्ष पर हमलावर रुख इख्तियार कर लिया है। जाफराबाद के निगम प्राथमिक विद्यालय में सोमवार सुबह लगभग 10 बजे के करीब छात्राएं कक्षा में पढ़ रही थीं। उसी दौरान छत के लैंटर का कुछ हिस्सा नीचे आ गिरा, जिसकी चपेट में आने से दो छात्राएं मामूली रूप से घायल हो गई। 

घायल छात्राओं के नाम नायला परवीन और रायना सिद्दीकी हैं। सच तो यह है कि यह हिस्सा ज्यादा नहीं गिरा, वरना बड़ा हादसा भी हो सकता था। घटना की जानकारी मिलते ही निगम के कई अधिकारी मौके पर पहुंच गए। स्थानीय निगम पार्षद रेशमा परवीन का कहना था कि आठ महीने पहले भी इस स्कूल के एक अन्य कमरे का भी प्लास्टर गिरा था। इसके बाद से शिक्षा समिति अध्यक्ष राजकुमार बल्लन ने निगम के सभी प्रधानाचार्य और इंजीनियरिंग विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक कर कहा था कि सभी निगम स्कूलों का निरीक्षण कर खामियां दूर करें। 

इस मामले की जांच की जाएगी कि इस घटना के लिए कौन दोषी है। वहीं इसी मामले को लेकर सदन की बैठक में भी जमकर हंगामा हुआ। पार्षद का कहना था कि बच्चों की जिंदगी से खिलवाड़ किया जा रहा है। अगर स्कूल का प्लास्टर का बड़ा हिस्सा बच्चों के ऊपर गिर जाता तो उसका कौन जिम्मेदार था। बैठक के दौरान महापौर ने उन्हें आश्वासन दिया कि इस मामले में पूरी जांच की जाएगी, जो भी इसमें दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

अन्य स्कूलों की भी बिल्डिंग है जर्जर...न सिर्फ पूर्वी दिल्ली नगर निगम, बल्कि भाजपा शासित तीनों नगर निगमों में कई ऐसे विद्यालय चल रहे हैं, जिनके बिल्डिंग जर्जर हो चुकी है। जिस विद्यालय में ये हादसा हुआ है, ये 28 वर्ष पुरानी है। जबकि निगम के नियमों के मुताबिक 25 वर्ष से पुरानी बिल्डिंग में स्कूल चलाए जाने की अनुमति नहीं दी जाती। 

ऐसे में तीन साल बीत जाने के बाद भी किसी अधिकारी ने इसे बंद कराने या मरम्मत कराने की जहमत तक नहीं की। हालांकि पूर्वी दिल्ली नगर निगम के स्थायी समिति अध्यक्ष संदीप कपूर ने कहा कि निगम के सभी विद्यालयों के भवनों की जांच की जाएगी। अगर किसी बिल्डिंग की हालत खराब है तो उसे तत्काल मरम्मत कराई जाएगी।