BREAKING NEWS

MSME और बैंकों की स्थिति को लेकर राहुल ने BJP पर साधा निशाना, कहा- पहले ही दी थी चेतावनी◾कानपुर एनकाउंटर : हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे पर इनाम राशि को बढ़ाकर किया गया 5 लाख रुपए◾राजीव गांधी फाउंडेशन समेत तीन ट्रस्ट की फंडिंग की जांच के लिए MHA ने बनाई कमेटी◾विकास दुबे के खिलाफ पुलिस का एक्शन सख्त, 25 हजार का इनामी बदमाश श्यामू बाजपेयी गिरफ्तार ◾चीनी सैनिकों की वापसी का सिलसिला जारी, लद्दाख में 3 प्वाइंट्स पर पीछे हटी चीन◾देश में कोरोना से संक्रमितों का आंकड़ा साढ़े सात लाख के करीब, 20 हजार 500 से अधिक लोगों की मौत ◾World Corona : दुनियाभर में लगभग साढ़े पांच लाख लोगों की मौत, संक्रमितों का आंकड़ा 1 करोड़ 17 लाख के पार ◾कानपुर एनकाउंटर : गैंगस्टर विकास दुबे का करीबी अमर दुबे मुठभेड़ में मारा गया◾आर्थिक कुप्रबंधन लाखों लोगों को कर देगा तबाह, अब यह त्रासदी स्वीकार नहीं : राहुल गांधी◾योगी सरकार का बड़ा फैसला : डीआईजी एसटीएफ अनंत देव का हुआ ट्रांसफर◾ब्राजील के राष्ट्रपति जेयर बोलसोनारो पाए गए कोरोना पॉजिटिव◾महाराष्ट्र : 24 घंटे में कोरोना से 224 लोगों की मौत, 5134 नये मामले ◾दिल्ली में कोरोना का कोहराम जारी, बीते 24 घंटे में 2008 नए केस, संक्रमितों का आंकड़ा 1,02,831 तक पहुंचा◾पश्चिम बंगाल: कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते कोलकाता में फिर से लग सकता है लॉकडाउन ◾CBSE का बड़ा ऐलान, अगले साल 9वीं से 12वीं क्लास के सिलेबस में 30 फीसदी की होगी कटौती, बोर्ड ने ट्वीट कर दी जानकारी◾भारत में कोरोना टेस्टिंग का आंकड़ा पहुंचा 1 करोड़ के पार, मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम : स्वास्थ्य मंत्रालय◾राहुल के आरोपों पर AgVa कंपनी का जवाब, कहा- वह डॉक्टर नहीं है, दावा करने से पहले करनी चाहिए थी पड़ताल◾यथास्थिति बहाल होने तक LAC से भारत को एक इंच भी पीछे नहीं हटना चाहिए : कांग्रेस◾राहुल का केंद्र सरकार से सवाल, कहा- भारतीय जमीन पर निहत्थे जवानों की हत्या को कैसे सही ठहरा रहा चीन?◾भारत-चीन बॉर्डर पर IAF ने दिखाया अपना दम, चिनूक और अपाचे हेलीकॉप्टर ने रात में भरी उड़ान◾

भारत में कोरोना के आँकड़े #GharBaithoNaIndiaSource : Ministry of Health and Family Welfare

कोरोना की पुष्टि

इलाज चल रहा है

ठीक हो चुके

मृत लोग

सही कहा है- पीओके भी हमारा है

यह सच है कि कश्मीर भारत का था, है और रहेगा। कश्मीर में पूरे देश की उम्मीदों पर जिस प्रकार खरा उतरने के लिए भाजपा सरकार ने अपनी कर्त्तव्यपरायणता निभाते हुए जिस प्रकार से आर्टिकल 370 को खत्म किया वह सचमुच प्रशंसनीय है, इस मामले में पूरे देश का विश्वास इस सरकार के प्रति दुगना हुआ है। सबसे ज्यादा तकलीफ अगर किसी को हुई है तो वह पाकिस्तान ही है, हालांकि देश के कुछ नेताओं को भी उनकी सियासत के चलते मोदी सरकार क​ी ईमानदारी का कारण रास नहीं आया। इसलिए वे चिल्ला भी रहे हैं। 

पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, एनएसए अजित डोभाल और रक्षामंत्री राजनाथ सिंह इस मामले में बधाई के पात्र हैं लेकिन सबसे बड़ा बयान हमारे नए विदेश मंत्री जयशंकर जी ने दिया। जब उन्होंने यह कहा कि पाक अधिकृत कश्मीर अर्थात पीओके भी हमारा है और एक दिन इसे हम वापस लेकर रहेंगे। उनके इस बयान से पूरे पाकिस्तान में खलबली मच गई है। खुद प्रधानमंत्री इमरान खान इस वक्त मारा-मारा फिर रहा है। उन्होंने पीओके में जिस तरह से रैली की और जिस तरह यह रैली फ्लाप हुई तो हर कोई समझ गया है कि पाकिस्तान को जंग के मैदान और सियासत के धरातल पर भारत ने जिस तरह से पहले भी मारा और भविष्य में भी इसी तरह से मारते रहेंगे। 

सच बात तो यह है कि पीओके को लेकर सरकारों ने आज तक इतना बढ़-चढ़कर कभी बयान नहीं दिया। हालांकि धारा 370 को लेकर भाजपा सरकार ने और विशेष रूप से मोदी जी ने यह संकल्प जरूर दोहराया था कि पाकिस्तान की आतंकवादी गतिविधियां देश में ज्यादा देर नहीं चलने दी जाएंगी। श्रीमती सुषमा स्वराज जब विदेश मंत्री थी तो वह वही आवाज बुलंद करती थी जिसमें मोदी जी का पाकिस्तान के आतंकी चेहरे को लेकर बेनकाब करने का आह्वान होता था। आज जयशंकर जी के तेवर देखने के बाद सुषमा जी की याद आ रही है। 

एक बात पक्की है कि जयशंकर जी ने अपनी विदेश मंत्री की पारी वहीं से शुरू की है जहां से श्रीमती सुषमा स्वराज जी ने छोड़ी थी। पाकिस्तान को दुनिया के हर मंच पर शिकस्त देने के बाद अब वक्त आ गया है कि पीओके भी वापस लिया जाए। यकीनन यह बात हमारे लोकप्रिय पीएम मोदी जी के रणनीति का हिस्सा है तभी तो जयशंकर जी ने अपनी सरकार के 100 दिन की उपलब्धियों में 370 को शामिल करते हुए डटकर कहा कि हमारा अगला तारगेट पीओके है। देश और दुनिया जानती है कि आतंकवाद को  फैलाने में पूरे देश और दुनिया में पाकिस्तान का चेहरा बेनकाब हो चुका है। जिस कश्मीर को लेकर पाकिस्तान सबसे ज्यादा शोर मचाता था। 

उसी कश्मीर को लेकर पूरी दुनिया के सामने उसे मुंह की खानी पड़ी है। इसलिए आज पाकिस्तान बौखलाहट में ऐसे काम कर रहा है जो अंतर्राष्ट्रीय मंच पर दो पड़ोसी देशों के रिश्तों के प्रोटोकोल को तोड़ रहा है। हमारे राष्ट्रपति कोविंद जी या फिर प्रधानमंत्री मोदी जी की हवाई यात्रा के दौरान आसमान से एयरस्पेस न देना यह बौखलाहट नहीं तो आैर क्या है। भारत के खिलाफ नफरत का जहरीला बीज उसके दिलोदिमाग में ऐसा बैठा है कि वह अब जहर भरे फल दे रहा लेकिन इमरान के कई मंत्री उसे कोस रहे हैं, बड़े-बड़े विद्वान उसे कोस रहे हैं लेकिन यह ​ढीठ मानता ही नहीं। हमारी सेना के जितने भी चीफ रहे हैं और हमारे एनएसए अजित डोभाल तक का जो कुछ फीडबैक सैन्य स्तर पर मिला उससे यही सिद्ध होता है कि पीओके में चल रहे आतंकी शिविरों को ध्वस्त करने में भारतीय फौजों को पांच मिनट से ज्यादा का समय नहीं लगेगा। 

उड़ी सर्जिकल स्ट्राइक और बालाकोट सर्जिकल स्ट्राइक का प्रणाम पाकिस्तान देख चुका है। इसलिए जयशंकर जी ने जमीनी तौर पर अपना काम कर लेने के बाद यह बड़ा ऐलान किया है जिसमें पीओके को फोकस किया गया। बहुत जल्द देशवासी अब पीओके पर होने वाली कार्रवाई का इसलिए भी इंतजार कर रहे हैं कि हमारे जवानों ने बार्डर पर अपनी शहादत दी है। आतंकियों और घुसपैठियों की कायराना फायरिंग में हमारे जम्मू-कश्मीर के जवान, पुलिस और सीआरपीएफ के अलावा बीएसएफ के जवानों ने भी शहादत दी है। 

पुलवामा का जवाब भी पाकिस्तान को तुरन्त दिया गया। हम पाकिस्तान के लिए दुश्मनी नहीं रखते लेकिन अगर वो दुश्मनी के इरादे से कुछ भी करेगा तो हर बार की तरह उसे करारा जवाब मिलेगा। हमने सब कुछ सोच लिया है कि क्या करना है। जयशंकर जी ने घोषणा कर दी है, बस अब देखना यह है कि पीओके भी भौगोलिक दृष्टिकोण से भारत का हिस्सा बन जाए। मौका और दस्तूर दोनों सामने हैं। विदेश मंत्री जयशंकर जी ने सही कहा है और हम भी यह कह रहे हैं  कि लोहा गर्म है, हथौड़ा मारने का सही समय हमारे सामने है।