BREAKING NEWS

BJP संसदीय दल की बैठक में PM मोदी ने नागरिकता संशोधन विधेयक को बताया ऐतिहासिक◾नागरिकता संसोधन बिल राज्यसभा में पेश होने से पहले बोले राहुल- यह उत्तर पूर्व पर एक आपराधिक हमला◾हैदराबाद एनकाउंटर मामले पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, CP वीसी सज्जनार भी रहेंगे मौजूद◾निर्भया कांड: अजीबोगरीब दलीलों के साथ दोषी अक्षय ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की पुनर्विचार याचिका◾राज्यसभा में आज पेश होगा नागरिकता संशोधन बिल, कांग्रेस देशभर में करेगी प्रदर्शन◾झारखंड: तबरेज अंसारी की हत्या मामले में 6 आरोपियों को हाईकोर्ट से मिली जमानत◾राज्यसभा में CAB पारित कराने के लिए रणनीति बनाने में जुटी भाजपा◾झारखंड विधानसभा चुनाव : तीसरे चरण में भाजपा, झाविमो और आजसू की प्रतिष्ठा दांव पर ◾सोनिया ने पार्टी सांसदों को दिया रात्रिभोज◾UP : चौथी बार बुंदेलियों ने मोदी को लिखी खून से चिट्ठी ◾पूर्वोत्तर में नागरिकता संशोधन विधेयक के खिलाफ व्यापक प्रदर्शन, सामान्य जनजीवन ठप पड़ा◾लोकसभा चुनाव में भाजपा की जीत पर मोदी के Tweet को इस साल मिले सबसे अधिक LIKE◾नागरिकता संशोधन विधेयक देश के मुसलमानों के खिलाफ नहीं : BJP◾कांग्रेस ने एक व्यक्ति के निजी हित के लिए द्विराष्ट्र के सिद्धान्त को किया स्वीकार : गोयल◾शिवसेना सरकार ने पहले से चल रही परियोजनाओं को रोकने के अलावा कुछ नहीं किया : फडणवीस◾एकनाथ खडसे ने CM उद्धव ठाकरे से की मुलाकात, कहा- भाजपा से कोई दिक्कत नहीं ◾19 साल में मारे गए 22 हजार आतंकी, 370 हटने के बाद भी जारी है घुसपैठ◾शाह की हरी झंडी के बाद होगा कर्नाटक कैबिनेट का विस्तार : मुख्यमंत्री ◾हैदराबाद एनकाउंटर : पुलिस ने दुष्कर्म आरोपियों के एनकाउंटर की रिपोर्ट एनएचआरसी को सौंपी◾TOP 20 NEWS 10 December : आज की 20 सबसे बड़ी खबरें◾

हरियाणा

समर्थकों ने हुड्डा के पाले में डाली गेंद

 hooda

नई दिल्ली : पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा कांग्रेस में रहेंगे या नहीं इसका फैसला उनके द्वारा गठित कमेटी ने उन्हीं पर छोड़ दिया है। 3 सितंबर को दिल्ली के विट्ठल भाई पटेल हाउस में हुई बैठक में हुड्डा समर्थित नेता पहुंचे। बताया जा रहा है कि हुड्डा ने एक-एक विधायक से उनकी राय जानी। आखिर में पूरी कमेटी ने हुड्डा को अधिकृत कर दिया और उन्हीं पर आखिरी फैसला छोड़ा है।  बैठक से बाहर निकले कुछ नेताओं का कहना था कि अगर कांग्रेस हाईकमान इंटेलिजेंट है तो हुड्डा को कमान सौंपे, नहीं तो हरियाणा में होने वाले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस का सूपड़ा साफ हो जाएगा। 

उनका कहना था कि हुड्डा यदि कांग्रेस में रहेंगे तो वे कांग्रेस में रहेंगे यदि हुड्डा अलग पार्टी बनाएंगे तो वे उन्हीं के साथ जाएंगे। इस मामले पर जल्द निर्णय हो सकता है क्योंकि विधानसभा चुनाव बिल्कुल सिर पर आ गए हैं। इस महीने कभी भी आचार संहिता लग सकती है। गौरतलब है कि 18 अगस्त को भूपेंद्र हुड्डा द्वारा रोहतक में की गई रैली में कांग्रेस के खिलाफ तीखी बयानबाजी की थी। उन्होंने कहा था कि अब की कांग्रेस पहले वाली नहीं रही। इसलिए वे सभी बंधन तोड़कर पहुंचे हैं और कमेटी जो निर्णय करेगी, वह उन्हें मान्य होगा। 

इसके बाद वे कांग्रेस की अंतरित अध्यक्ष सोनिया गांधी से लेकर हरियाणा प्रभारी गुलाम बनी आजाद से मिलकर अपनी बात रख चुके हैं, लेकिन अभी तक पार्टी कोई निर्णय नहीं ले पाई है।  इस बैठक में हुड्डा गुट के सभी मौजूदा तथा पूर्व विधायक और पूर्व सांसद मौजूद रहे। हालांकि बैठक के बाद हुड्डा गुट की तरफ से मीडिया को कोई अधिकारिक बयान जारी नहीं किया गया लेकिन बैठक में मौजूद विधायकों की मानें तो कई घंटे के मंथन के बावजूद इस बात पर सहमति नहीं बनी कि हुड्डा कांग्रेस को छोड़े या फिर कांग्रेस में रहें। 

कुछ नेता कांग्रेस छोड़कर नए बैनर तले काम करने पर जोर दे रहे हैं तो कुछ नेता कांग्रेस में ही रहने के लिए जोर लगा रहे हैं। कई घंटे के मंथन के बाद हुड्डा समर्थकों ने फिर से हुड्डा के पाले में गेंद डालते हुए किसी तरह का फैसला लेने के लिए उन्हें ही अधिकृत कर दिया। अब कोई भी फैसला हुड्डा द्वारा लिया जाएगा।