BREAKING NEWS

भ्रष्टाचार के मामले में 180 देशों में 80वें स्थान पर भारत◾अमित शाह ने केजरीवाल पर लगाया दिल्ली में दंगा भड़काने का आरोप ◾मैंने अपना भगवा रंग नहीं बदला है : उद्धव ठाकरे◾राज की मनसे ने अपनाया भगवा झंडा, घुसपैठियों को बाहर करने के लिए मोदी सरकार को समर्थन◾भाजपा नेता ने मोदी को चेताया, देश बढ़ रहा है दूसरे विभाजन की तरफ◾पासवान से मिला ब्राजील का प्रतिनिधिमंडल, एथेनॉल प्रौद्योगिकी साझेदारी पर बातचीत◾हिंदू समाज में साधु-संतों को ऐसी भाषा शोभा नहीं देती : अखिलेश◾पदाधिकारी पार्टी के खिलाफ सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने से बचें : ठाकरे◾दिल्ली की जनता तय करे, कर्मठ सरकार चाहिए या धरना सरकार चाहिए : शाह◾वन्य क्षेत्रों में अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित नहीं किया जा सकता : दिल्ली सरकार◾मानसिक दिवालियेपन से गुजर रहा है कांग्रेस नेतृत्व : नड्डा◾निर्भया के दोषियों से पूछा : आखिरी बार अपने-अपने परिवारों से कब मिलना चाहेंगे , तो नहीं दिया कोई जवाब !◾विपक्ष की तुलना पाकिस्तान से करना भारत की अस्मिता के खिलाफ : कांग्रेस◾ब्राजील के राष्ट्रपति 24-27 जनवरी तक भारत यात्रा पर रहेंगे, गणतंत्र दिवस परेड में होंगे मुख्य अतिथि◾उत्तर प्रदेश : किसानों के मुद्दे पर सड़क पर उतरेगी कांग्रेस ◾कश्मीर मुद्दे पर विदेश मंत्रालय ने कहा-किसी तीसरे पक्ष की कोई भूमिका नहीं◾निर्भया मामले में आरोपियों के खिलाफ डेथ वारंट जारी करने वाले जज का हुआ ट्रांसफर◾CM नीतीश की चेतावनी पर पवन वर्मा बोले- मुझे चिट्ठी का जवाब नहीं मिला◾भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा बोले- देश हित में लिए प्रधानमंत्री के फैसलों से देश में नई ऊर्जा एवं उत्साह पैदा हुआ◾नेताजी ने हिंदू महासभा की विभाजनकारी राजनीति का विरोध किया था : ममता बनर्जी◾

दुष्यंत चौटाला नहीं दिखा रहे खाप पंचायतों के प्रयासों में दिलचस्पी

हिसार : पिछले कुछ समय से हरियाणा स्वाभिमान आंदोलन के अध्यक्ष रमेश दलाल तथा कुछ अन्य किसान और खाप प्रतिनिधियों की ओर से चौटाला परिवार की एकजुटता के प्रयास किए जा रहे हैं लेकिन दुष्यंत चौटाला की तरफ से कोई स्पष्ट जवाब न मिलने से बात आगे नहीं बढ़ पा रही है। इस मुहिम में पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, ओमप्रकाश चौटाला और उनके दोनों पुत्र अजय चौटाला तथा अभय चौटाला पहले ही पंचायत को फैसला करने के लिए अधिकृत कर चुके है, वही दुष्यंत चौटाला की मंशा का पता नहीं लग पा रहा है। 

श्री दलाल का कहना है कि खाप पंचायतें सिर्फ उन्ही मामलों में आगे बढ़कर समाधान निकाल सकती है जब सभी पक्ष पंचायत को फैसला करने के लिए अधिकृत करे, फैसला पंचायत पर छोड़ दे। इसलिए दुष्यंत चौटाला से स्पष्ट जवाब मिलने के बाद ही हम इस मुहिम को आगे बढ़ सकते हैं। ऐसे में अब खाप पंचायतों ने आखिरी प्रयास करते हुए दुष्यंत चौटाला को पत्र लिख कर स्पष्ट जवाब देने की बात कही है। 

पत्र में खापों के ऐतिहासिक योगदान व सर्वजातीय रूप का हवाला देते हुए लिखा है कि खाप पंचायतों द्वारा न्याय करने का गौरवशाली इतिहास रहा है। खापों ने हमेशा सराहनीय, सकारात्मक व न्यायपूर्ण फैसले करके समाज में उदहारण पेश किए है। जब एक खाप न्याय करती है, तो सोचिए, इस मामले में तो विभिन्न खापें जि मेदारी लेकर पहल कर रही है। यहाँ एक बात और स्पष्ट करनी अनिवार्य है, खाप किसी एक जाति या बिरादरी से संबधित नहीं है, खाप में हर जाति/बिरादरी शामिल होती है। 

चौटाला परिवार को एकजुट करने की हमारी इस मुहिम में भी सभी जातियां शामिल है। यह हरियाणा की 36 बिरादरी का प्रयास है। आपके परिवार में सामाजिक व राजनीतिक एकजुटता हरियाणा के किसान-कमेरे व आम आदमी के लिए जरूरी है। हमारे प्रयास जनभावना के अनुसार है और समस्त हरियाणा और लोकतंत्र के हित में है। बिना मत्रबूत विपक्ष के लोकतंत्र की कल्पना नहीं की जा सकती।